Monday, May 23 2022 | Time 21:25 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • महंगा पड़ा अभिषेक झा को हैप्पी बर्थडे कहना
  • महंगा पड़ा अभिषेक झा को हैप्पी बर्थडे कहना
  • खान विभाग के सचिव बने अबुबक्कर सिद्दीक, मिला अतिरिक्त प्रभार
  • खान विभाग के सचिव बने अबुबक्कर सिद्दीक, मिला अतिरिक्त प्रभार
  • विधायक सरयू राय ने IAS पूजा सिंघल को क्लीन चिट दिये जाने की फाइल सरकार से मांगी
  • विधायक सरयू राय ने IAS पूजा सिंघल को क्लीन चिट दिये जाने की फाइल सरकार से मांगी
  • मानसून पूर्व आंधी-तुफान ने बिजली आपूर्ति व्यवस्था कर दिया है ध्वस्त
  • मानसून पूर्व आंधी-तुफान ने बिजली आपूर्ति व्यवस्था कर दिया है ध्वस्त
  • प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
  • प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
  • ऑरेंज अलर्ट: कल चलेगी आंधी, गर्जन के साथ होगा वज्रपात
  • ऑरेंज अलर्ट: कल चलेगी आंधी, गर्जन के साथ होगा वज्रपात
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
NEWS11 स्पेशल


राज्य सरकार सभी पुलिस पदाधिकारियों के लिए कराए कैप्सूल कोर्स: हाईकोर्ट

राज्य सरकार सभी पुलिस पदाधिकारियों के लिए कराए कैप्सूल कोर्स: हाईकोर्ट
न्यूज़11 भारत




रांची: सोमवार को हाईकोर्ट ने एक बंदी प्रत्यक्षीकरण मामले की सुनवाई करते हुए अदालत ने राज्य की पुलिस पर कड़ी टिप्पणी की है. जस्टिस एस चंद्रशेखर और जस्टिस रत्नाकर भेंगरा की अदालत ने राज्य सरकार सभी पुलिस पदाधिकारियों के लिए कैप्सूल कोर्स कराएं ताकि उन्हें अभियुक्तों की गिरफ्तारी से जुड़े सभी पहलु की जानकारी मिल सके. आए दिन पुलिस लोगों को गिरफ्तार करने के बाद उनके परिजनों को गिरफ्तारी का कारण नहीं बताती है. यह भी नहीं बताती कि गिरफ्तार व्यक्ति को क्यों और कहां ले जाया जा रहा है. अदालत ने सरकार को इस मामले में जवाब दाखिल करने का निर्देश देते हुए बताया कि इस मामले में अब तक क्या कार्रवाई की गयी है.

 


 

पिछले दिनों मध्य प्रदेश पुलिस ने बोकारो से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किय था. लेकिन उस गिरफ्तारी की पूरी जानकारी गिरफ्तार किए गए अभियुक्त के परिजनों को नहीं दी गई थी. जिसके बाद उनकी पत्नी नीलम चौबे ने अधिवक्ता हेमंत सिकरवार के माध्यम से झारखंड हाईकोर्ट में हेवियस कॉपस दायर किया था. अधिवक्ता हेमंत सिकरवार के मुताबिक, सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा दायर किए गए शपथ पत्र को देखकर ऐसा लगता है कि जानबूझकर दूसरे राज्य की पुलिस को अभियुक्त को ले जाने दिया है, जो कि गलत है.
अधिक खबरें
महंगा पड़ा अभिषेक झा को हैप्पी बर्थडे कहना
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 9:13 PM

पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा 46 वां बर्थडे पार्टी महंगा पड़ने वाला है. उससे ज्यादा महंगा उनलोगों के लिए साबित होगा जिन्होंने गुडगांव के एक फाईव स्टार होटल में चिल्ला-\चिल्ला कर अभिषेक झा को हैप्पी बर्थ डे बोला था. बर्थ डे पार्टी की यह तस्वीर ईडी के पास आ गयी है. जानकारी के अनुसार अभिषेक झा के हैप्पी बर्डडे वाली पार्टी में राज्य के छह आईएएस शामिल हुए थे सभी अभी अहम पदों पर हैं.

खान विभाग के सचिव बने अबुबक्कर सिद्दीक, मिला अतिरिक्त प्रभार
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 8:45 AM

रांची: कार्मिक, प्रशासनिक और सुधार विभाग के द्वारा अधिसूचना जारी कर दो अधिकारियों को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.

कुलाधिपति रमेश बैस ने कहा विश्वविद्यालयों में खाली पड़े पदों को जल्द भरें
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 8:27 AM

कुलाधिपति रमेश बैस ने कहा कि छात्रहित में उच्च शिक्षा विभाग को सदा सक्रिय रहना चाहिये. उन्हें कहा कि शिक्षा विभाग को अपनी कार्यप्रणाली में गति लानी होगी. उन्हें संचिकाओं के आदान-प्रदान करने मात्र तक सीमित नहीं रहना चाहिये, बल्कि परिणाम व कार्यान्वयन के लिए निरंतर प्रयत्नशील रहना चाहिए.

पंचायत चुनाव में महेंद्र सिंह धौनी कर रहे ड्यूटी! देखें क्या है पूरा माजरा
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 8:13 AM

रांची के राजकुमार महेंद्र सिंह धौनी पंचायत चुनाव में ड्यूटी कर रहे हैं… चौंक गए. चौंकना जरूरी भी है. क्योंकि, वे आईपीएल खेल रहे हैं. ऐसे में वे रांची में कैसे? वह भी पंचायत चुनाव में ड्यूटी? दरअसल रांची में तीसरे चरण के पंचायत चुनाव के दौरान अचानक से महेंद्र सिंह धोनी का नाम जुड़ गया है. माही नहीं, मगर उनके जैसे दिखने वाले एक युवक की चुनाव में ड्यूटी लगने से ही अचानक से धोनी का नाम पंचायत चुनाव से जुड़ गया है.

विधायक सरयू राय ने IAS पूजा सिंघल को क्लीन चिट दिये जाने की फाइल सरकार से मांगी
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 8:01 PM

विधायक सरयू राय ने राज्य सरकार से आइएएस पूजा सिंघल पर विभागीय कार्रवाई समाप्त करने की संचिका की छाया प्रति उपलब्ध कराने की मांग की है. उन्होंने मुख्य सचिव सुखदेव सिंह को पत्र लिख कर कहा है कि पूर्ववर्ती सरकार के द्वारा आइएएस पूजा सिंघल पर विभागीय कार्रवाई का अभियोग चलाया गया था और बाद में सरकार ने सात फरवरी 2017 को आरोप मुक्त कर दिया था. इसके आधार पर उन पर विभागीय कार्रवाई बंद कर दी गयी और क्लीन चिट दे दी गयी.