Monday, Jun 27 2022 | Time 07:24 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • बारिश से बाधित मैच में भारत ने आयरलैंड को 7 विकेट से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल किया
NEWS11 स्पेशल


झारखंड के सबसे चर्चित जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार थे खनन निरीक्षक

फिलहाल साहेबगंज जिले के हैं जिला खनन पदाधिकारी
झारखंड के सबसे चर्चित जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार थे खनन निरीक्षक
राजधानी के हिनू में है मकान




न्यूज11 भारत




रांची: झारखंड के सबसे चर्चित जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार से प्रवर्तन निदेशालय की टीम पूछताछ कर रही है. सोमवार की सुबह से ही वे ईडी के क्षेत्रीय कार्यालय में हैं. उन्हें समन कर बुलाया गया है. आइएएस पूजा सिंघल के सामने डीएमओ विभूति कुमार को बैठा कर पूछताछ की जा रही है. जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार पहले खनन निरीक्षक (माइंस इंस्पेक्टर) के पद पर थे. अलग झारखंड राज्य बनने के बाद ये खनन निरीक्षक थे और इनकी पोस्टिंग रांची में थी. उस समय राज्य के खान निदेशक आइडी पासवान थे. जब तक आइडी पासवान खान निरीक्षक रहे, तब तक इनकी चलती नहीं थी. 

 

आइडी पासवान के हटते ही हो गये थे सक्रिय

 

आइडी पासवान के हटने के बाद उप निदेशक खान बीबी सिंह को खान निदेशक बनाया गया. इनके कार्यकाल में शंकर सिन्हा, राघव नंदन प्रसाद की काफी चर्चा में रही थी. क्योंकि उस समय झारखंड में लौह अयस्क खदान आवंटित कराने के लिए झारखंड में आर्सेलर मित्तल, जिंदल स्टील एंड पावर, जिंदल साउथ वेस्ट, अभिजीत इंफ्रास्ट्रक्चर, एस्सार स्टील, मुकूंद स्टील, रूंगटा स्टील, एमएसपीएल लिमिटेड, भूषण स्टील समेत देश की नामी गिरामी कंपनियां यहां पर उद्योग स्थापित करने के लिए आगे आ रही थीं. इन लोगों की तरफ से चाईबासा के विभिन्न खनन क्षेत्रों में प्रोस्पेक्टिंग लाइसेंस से लेकर माइनिंग लीज देने का आवेदन दिया गया. जानकारी के अनुसार उस समय विभूति कुमार डीएमओ चाईबासा राघव नंदन प्रसाद के काफी करीबी थी. ऐसे समय में विभूति कुमार खनन निरीक्षक से सहायक खनन निरीक्षक, जिला खनन पदाधिकारी तक बने. इनकी पोस्टिंग हजारीबाग, गिरीडीह और साहेबगंज में विभूति कुमार की पोस्टिंग की गयी.

 


 

शुरू से ही इनका अलग जलवा था. मृदुभाषी होने के साथ-साथ इनके द्वारा सभी को तवज्जो दिया जाना इनकी खासियत थी. इसलिए ये सभी खान सचिवों के करीबी रहे. जहां भी रहे, वहां से इनकी नजदीकी मुख्यालय तक रही. इसकी एक वजह यह थी कि ये राजधानी रांची के हिनू इलाके में रहते थे. जहां से नेपाल हाउस सचिवालय की दूसीर दो किलोमीटर और प्रोजेक्ट भवन मंत्रालय की दूरी छह किलोमीटर तक थी. सेंट्रल रांची में रहने की वजह से ये सत्ता के गलियारों तक आसानी से पहुंचते थे. 

 

साहेबगंज में हैं इनके जलवे

 

साहेबगंज जिले में भी विभूति कुमार के जलवे हैं. ये मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि से लेकर झामुमो के तमाम बड़े नेताओं के साथ मित्रवत रहते हैं. इल्लीगल माइनिंग के बारे में हमेशा कुछ कहने से बचते हैं और कहते हैं कि जिला स्तरीय टास्क फोर्स ही अवैध खनन रोकने के लिए जवाबदेह रहती है और इल्लीगल माइनिंग करनेवालों के खिलाफ कार्रवाई करती है. इसका कारण भी है. साहेबगंज जिले में सरकार का सबसे अच्छा स्टोन माइंस चंदुला प्रोजेक्ट है. 186 वर्ग किलोमीटर में फैले इस माइंस की लागत 55 करोड़ के आसपास है. यहां 39 कर्मी हैं, जिन्हें सरकार वर्षों से बैठा कर भुगतान कर रही है. यह खदान अभी बंद है. इसके अलावा जिले में चार सौ से अधिक स्टोन माइंस हैं. जिनमें से 125 कार्यरत हैं और अन्य बंद पड़े हैं. बंद पड़े खदानों से ही पत्थरों का अवैध कारोबार हो रहा है.
अधिक खबरें
शिल्पी नेहा तिर्की ने मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से की मुलाक़ात
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 9:25 PM

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से आज कांके रोड रांची स्थित मुख्यमंत्री आवासीय कार्यालय में मांडर विधानसभा उपचुनाव की विजयी प्रत्याशी शिल्पी नेहा तिर्की ने मुलाकात की. मुख्यमंत्री से यह उनकी शिष्टाचार भेंट थी. इस अवसर पर मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने शिल्पी नेहा तिर्की को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं एवं बधाई दी. मुख्यमंत्री ने शिल्पी नेहा तिर्की से कहा कि जिस आशा और विश्वास के साथ मांडर विधानसभा की जनता ने आपको विधायक के रूप में चुना है, उनके आशा और विश्वास पर खरा उतरकर एक आदर्श विधायक का उदाहरण पेश करें.

कांग्रेस प्रभारी समेत कई नेताओं ने शिल्पी को जीत पर दी बधाई
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 7:20 PM

मांडर विधानसभा उप चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी शिल्पी नेहा तिर्की के निर्वाचित होने पर उन्हें बधाईयां मिलनी शुरू हो गयी हैं. कांग्रेस के झारखंड प्रभारी अविनाश पांडेय समेत कई नेताओं ने शिल्पी को उनकी जीत के लिए बधाई दी है. कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय ने ट्वीट कर कहा है कि मांडर विधानसभा उप चुनाव में पार्टी उम्मीदवार को भारी मतों से विजयी बनाने के लिए क्षेत्र की जनता बधाई के पात्र हैं. उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार को प्रचंड बहुमत से जीत दिलाने के लिए मांडर की जनता के प्रति आभार प्रकट किया है और उन्हें ढेरों शुभकामनाएं दी हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा, 'मतों का ध्रुवीकरण करनेवाली ताकतें हारीं'
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 6:29 PM

झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने शिल्पी नेहा तिर्की की जीत पर कहा है कि यह जीत भाजपा के लिए करारी हार है. कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय में मिठाईयां बांटी गयीं. मांडर की जनता का धन्यवाद, शुक्रिया. मतों का ध्रुवीकरण करनेवाली ताकतों को मांडर की जनता ने हराया. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने इस चुनाव में लगातार मानिटरिंग की. मांडर की जनता ने यह जता दिया कि हम हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई के मतभेद से दूर हैं. हमने मांडर की जनता से कहा था कि 2024 की चुनाव को देखते हुए राहुल गांधी के हाथों को मजबूत करें.

मांडर उपचुनाव में 23 हजार से ज्यादा वोट से शिल्पी नेहा तिर्की की जीत!
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 4:29 AM

मांडर उपचुनाव का फाइनल रिजल्ट आ चूका है. कांग्रेस की प्रत्याशी शिल्पी नेहा तिर्की ने यह चुनाव लगभग 23 हजार वोट से जीत हासिल की है. हालांकि इस खबर की आधिकारिक घोषणा बाकी है लेकिन सूत्रों के हवाले से जो बड़ी खबर आ रही है उसके अनुसार शिल्पी नेहा तिर्की ने मांडर उपचुनाव में लगभग गंगोत्री कुजूर को 23 हजार वोट से मात दे दिया है. बता दें कि इस वोट में पोस्टल नहीं जुड़ा है.

33 लाख की ठगी करनेवाला साइबर अपराधी आलोक कुमार गिरफ्तार
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 4:50 PM

33 लाख रुपये की ठगी करनेवाला साईबर अपराधी आलोक कुमार को अपराध अनुसंधान विभाग ने बिहार के वैशाली से गिरफ्तार किया है. इस साइबर अपराधी के खिलाफ 11 ऑफ 2016 कांड संख्या आइटी एक्ट के तहत दर्ज की गयी है. गिरफ्तार आलोक कुमार लोगों को पांच साल में पैसे को दोगुना करने का वायदा कर ठगी करता था. उसने अलग-अलग खाते में कुल 33 लाख कई लोगों से मंगवाये. आरोपी के पास से एक मोबाइल, दो सिम कार्ड जब्त किया गया है.