Monday, Nov 29 2021 | Time 09:01 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • नरियल लदे वाहन के बोरे में भरा था विस्फोटक का जखीरा, वाहन पलटने के बाद हुआ खुलासा
  • नरियल लदे वाहन के बोरे में भरा था विस्फोटक का जखीरा, वाहन पलटने के बाद हुआ खुलासा
  • नरियल लदे वाहन के बोरे में भरा था विस्फोटक का जखीरा, वाहन पलटने के बाद हुआ खुलासा
  • नरियल लदे वाहन के बोरे में भरा था विस्फोटक का जखीरा, वाहन पलटने के बाद हुआ खुलासा
  • तमिलनाडु में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 3 6 रही तीव्रता
झारखंड


World Ozone Day आज : लॉकडाउन बना ओजोन परत के लिए वरदान

वैज्ञानिकों के मुताबिक : ओजोन परत को बचाना बड़ी चुनौती
World Ozone Day आज : लॉकडाउन बना ओजोन परत के लिए वरदान
रांची : पहली बार ओजोन डे साल 1995 में मनाया गया था. हर साल 16 सितंबर को वर्ल्ड ओजोन डे मनाया जाता है. आज भी ओजोन परत के संरक्षण और सुरक्षा को लेकर वल्ड ओजोन डे मनाया जा रहा है. कई बीमारियों से बचाने वाली ओजोन परत के लिए कोविड 19 में जारी लॉकडाउन बेहतर फायदे वाला रहा. 

देश में लॉकडाउन का जो असर हुआ, लोग परेशान हुए, वहीं दूसरी तरफ ओजोन परत को उसका फायदा मिला. ओजोन परत पूरे पृथ्वी को एक छाते के रूप में ढक कर रखता है. सूर्य की किरणों से आने वाले पराबैगनी किरणों को पृथ्वी पर सीधे आने से रोकता है. 

वैज्ञानिकों के मुताबिक, आठ घंटे के औसत में ओजोन प्रदूषक की मात्रा 100 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए. वाहनों और फैक्ट्रियों से निकलने वाली कार्बन-मोनो-ऑक्साइड व दूसरी गैसों की रासायनिक क्रिया ओजोन प्रदूषक कणों की मात्रा को बढ़ाती हैं.

सीओटू का स्तर हुआ कम 

लॉकडाउन लगने के बाद से प्रदूषण में 35 फीसदी की कमी और नाइट्रोजन ऑक्साइड में 60 फीसदी की गिरावट आई. इसी दौरान ओजोन लेयर को नुकसान पहुंचाने वाले कार्बन का उत्सर्जन भी 1.5 से 2 फीसदी तक घटा और कार्बन डाई ऑक्साइड,सीओअू का स्तर भी कम हुआ. 

जाने क्या है ओजोन परत 

ओजोन परत पृथ्वी को सूर्य की हानिकारक अल्ट्रावायलेट किरणों से बचाने का काम करती है. ओजोन परत के बिना जीवन संकट में पड़ सकता है, क्योंकि अल्ट्रावायलेट किरणें अगर सीधे धरती पर पहुंच जाए, तो ये मनुष्य, पेड़-पौधों और जानवरों के लिए भी बेहद खतरनाक हो सकती हैं. ओजोन परत, ओजोन अणुओं की एक परत है जो 10 से 50 किलोमीटर के बीच के वायुमंडल में पाई जाती है. ऐसे में ओजोन परत का संरक्षण बेहद महत्वपूर्ण है.

ओजोन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां 

-ओजोन परत तेज बदबूदार नीले रंग की गैस है.

-साल 1840 में ओजोन की खोज क्रिस्चियन फ्रेड्रिच स्कोनबे ने की थी. उन्होंने ग्रीक नाम पर ओजोन नाम दिया.

-ओजोन परत धरती से 12-20 मील ऊपर है.

-साल 1985 में अंटार्कटिक के ऊपर ओजोन परत में छेद के बारे में पता लगाया गया था. हालांकि, सीएफसी केमिकल पर बैन लगाने से इसे ठीक कर लिया गया था. 

-अंटार्कटिका में खोजा गया छेद 29 मिलियन वर्ग किलोमीटर से अधिक था, जो रूस और कनाडा को मिलाकर बने देश से भी बड़ा है.

 


 

अधिक खबरें
कोल ब्लॉक खदान में फंसे सभी चारों सकुशल निकले बाहर, निकलते ही करने लगे पूजा अर्चना, देखें Video
नवम्बर 29, 2021 | 29 Nov 2021 | 7:50 AM

4 दिन से फंसे पर्वतपुर कोल ब्लॉक के खदान फंसे 4 लोग सकुशल बाहर निकल आए. जिससे पूरे गांव मे जश्न का माहौल है. जानकारी के अनुसार आमलाबाद ओपी क्षेत्र में पर्वतपुर कोल ब्लॉक में चाल धंसन के कारण सभी चार लोग दब गए थे. वहीं बाहर आते ही सभी को नाश्ता कराया गया. मामले की जानकारी होते ही मौके पर विधायक अमर बाउरी पहुंचे और सभी से मिलकर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली.

20 स्वर्ण पदक के साथ रांची ने जीता ओवरऑल चैंपियन का खिताब
नवम्बर 28, 2021 | 28 Nov 2021 | 10:31 PM

रांची के खिलाड़ियों ने शानदार प्रर्दशन करते हुए रविवार को 20 स्वर्ण पदकों के साथ ओवरऑल का खिताब अपनी झोली में डाली. अगड़ू स्थित जेके इंटरनेशनल स्कूल के क्रिकेट अकादमी हॉल में 17वीं झारखंड राज्य सब जूनियर प्रतियोगिता संपन्न हुई.

NEET PG 2021 काउंसलिंग में हो रहे विलंब के विरोध में कैंडल मार्च
नवम्बर 28, 2021 | 28 Nov 2021 | 9:18 PM

NEET PG 2021 काउंसलिंग में हो रहे विलंब के विरोध में जेडीए रिम्स ने आज यानी रविवार को एक कैंडल मार्च का आयोजन किया. यह कैंडल मार्च आज शाम 6 बजे, सुपर स्पेशलिटी विंग से लेकर न्यू पीजी गर्ल्स हॉस्टल तक निकाला गया, इस कैंडल मार्च में डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों ने भाग लिया. पीटी डॉक्टरों की मांग थी कि नीट पीजी काउंसलिंग जल्द से जल्द हो.

IMA के निर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर सहजानंद सिंह पहुंचे रांची
नवम्बर 28, 2021 | 28 Nov 2021 | 8:25 AM

आईएमए के निर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर सहजानंद सिंह एक दिवसीय दौरे पर रांची पहुंचे. इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्य के जिन मेडिकल कॉलेजों में वर्तमान में दाखिला नहीं हो रहा उसका जिम्मेवार राज्य सरकार है.

सिमडेगा: अवैध जुआ के खिलाफ फिर हुई बड़ी कार्रवाई
नवम्बर 28, 2021 | 28 Nov 2021 | 7:49 PM

अवैध तरीके से चल रहे जुआ के काले कारोबार के खिलाफ लगातार दूसरे दिन भी बड़ी कार्रवाई की गई. ठेठईटांगर पुलिस ने जुआ के खिलाफ गुप्त सुचना के आधार पर रेड मार जुआ खेलाते दो लोगों को धर दबोचा.