Monday, May 23 2022 | Time 20:30 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • विधायक सरयू राय ने IAS पूजा सिंघल को क्लीन चिट दिये जाने की फाइल सरकार से मांगी
  • विधायक सरयू राय ने IAS पूजा सिंघल को क्लीन चिट दिये जाने की फाइल सरकार से मांगी
  • मानसून पूर्व आंधी-तुफान ने बिजली आपूर्ति व्यवस्था कर दिया है ध्वस्त
  • मानसून पूर्व आंधी-तुफान ने बिजली आपूर्ति व्यवस्था कर दिया है ध्वस्त
  • प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
  • प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
  • ऑरेंज अलर्ट: कल चलेगी आंधी, गर्जन के साथ होगा वज्रपात
  • ऑरेंज अलर्ट: कल चलेगी आंधी, गर्जन के साथ होगा वज्रपात
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • 17 दिनों से ईडी की कार्रवाई जारी, 19 31 करोड़ रुपये तक पहुंचने की कोशिशें तेज
  • 17 दिनों से ईडी की कार्रवाई जारी, 19 31 करोड़ रुपये तक पहुंचने की कोशिशें तेज
  • 17 दिनों से ईडी की कार्रवाई जारी, 19 31 करोड़ रुपये तक पहुंचने की कोशिशें तेज
  • पंचायत चुनावः 3 55 लाख वोटर करेंगे 1589 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला
झारखंड


JMM का रघुवर पर पलटवार : उनके घोटाले की जांच हो तो कहीं के नहीं रहेंगे

भाजपा केंद्रीय नेतृत्व रघुवर को दिल्ली ले जाए नहीं तो भाजपा 30 साल तक सत्ता में नहीं आएगी : सुप्रियो
JMM का रघुवर पर पलटवार : उनके घोटाले की जांच हो तो कहीं के नहीं रहेंगे

न्यूज 11 भारत

रांची : झामुमो ने पूर्व सीएम रघुवर दास पर पलटवार किया है. झामुमो के वरिष्ठ नेता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि वे नियोजन नीति की बात कर रहे हैं. आपने जो भी अनुबंध पर किया. सहायक पुलिस कर्मी या पारा शिक्षक का मसला है. खाली हेलिकॉप्टर को घुमाया गया था. रघवुर दास में राजनीतिक मर्यादा और शर्म हया तक नहीं है. यह तो कोरोना आ गया नहीं तो आपके कार्यकाल घोटाले की जांच हो जाए तो सब पता चला जाएगा. कंबल घोटाला, चावल घोटाला, हाथी उड़ाने का घोटाला, घोटाले की लंबी लिस्ट है. वे अपनी विफलताओं को छुपाने के लिए हम नहीं चाहते हैं कि हेमंत सोरेन सरकार की तारिफ करें, लेकिन भ्रम भी न फैलाएं, संप्रदायिक तनाव पैदा ना करें. रघुवर जी के लिए भाजपा को सलाह है कि बहुत सोच-समझकर उन्हें राजनीतिक उपाध्यक्ष बनाया जाए ताकि राज्य से दूर रहें. भाजपा अगर रघुवर को दिल्ली नहीं ले गए तो आगामी 30 वर्षों तक भाजपा सत्ता में नहीं आ पाएगी. यह बातें भट्टाचार्य ने पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान कही.  


रघवुर ने राज्य को राज्य में बांटने का काम किया, 2200 करोड़ का हाथी उड़ाए

उन्होंने कहा कि उनकी बातों पर हंसी भी आती है. कभी-कभी यह लगता है कि ऐसी  प्रलापों पर कोई प्रतिक्रिया देना उचित है या नहीं. वे लॉ एंड ऑडर्र और गर्वनेंस की बात करते हैं. कोरोना काल में सभी साक्षी रहे हैं. लोग संतोषी को भुले  नही हैं, जो भात-भात करते करते मर गई थी. इसके अलावा अन्य 26 लोगों की भी भूख से मौत हुई. 16 किसानों ने आत्महत्या की. 2200 करोड़ का हाथी उड़ाना. नियोजन के नाम पर कप-प्लेट धोने भेज दिया. किसी को घर पोंछने भेज दिया गया. पहली बार राज्य में राज्य को बांटा गया. शिड्यूल नॉन शिड्यूल के नाम पर बांटा गया. पांचवी अनुसूची में छेड़छाड़ किया गया. पत्थलगड़ी को देशद्रोह बताया गया. गोलियां चलीं, लोग मारे गए. बुंडू थाना हो या हजारीबाग जेल, हजारीबाग कोर्ट, खुले आम हत्याएं की गयी. बकौरिया कांड बच्चों को मार दिया गया. उन्होंने कहा कि रघुवर दास हेमंत सरकार की दो साल की तुलना करेगा और उसे सफाई देना पड़ेगा. उनके किए कामों के आधार पर लोगों ने संवैधानिक कोड़ा बरसाने का काम किया. यहां तक कि उनको भी पराजित करने का काम किया. इसके बाद भी उनमें राजनीतिक शर्म बची नहीं है. क्यों जाते थे विदेश. सिंगापुर, दुबई क्यों गए थे. यह राज्य की जनता भूली नहीं  है.


इसे भी पढ़ें, जेल के अंदर कुख्यात गैंगस्टर सुजीत सिन्हा की दारू पार्टी, मिल रहे सारे ऐशो-आराम, देखें Viral तस्वीरें


गुरुजी और बाबूलाल को दिया जन्म दिन की बधाई

भट्टाचार्य ने कहा कि गुरूजी हमारे लिए ही नहीं पूरे देश के लिए एक अहम पुरुष हैं . उन्होंने आदिवासी-मूलवासी, दलित, शोषित वर्गों के लिए एक बड़ा आंदोलन किया है. वे दीर्घायु हों, यही कामना करते हैं. आज सुनील महतो का भी जन्म दिन हैं. आज ममता बनर्जी का भी जन्म दिन है. पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी का भी जन्म दिन है. इन सभी को मेरी हार्दिक शुभकामनाएं.


 
अधिक खबरें
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 8:27 PM

कुलाधिपति रमेश बैस ने कहा कि छात्रहित में उच्च शिक्षा विभाग को सदा सक्रिय रहना चाहिये. उन्हें कहा कि शिक्षा विभाग को अपनी कार्यप्रणाली में गति लानी होगी. उन्हें संचिकाओं के आदान-प्रदान करने मात्र तक सीमित नहीं रहना चाहिये, बल्कि परिणाम व कार्यान्वयन के लिए निरंतर प्रयत्नशील रहना चाहिए.

विधायक सरयू राय ने IAS पूजा सिंघल को क्लीन चिट दिये जाने की फाइल सरकार से मांगी
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 8:01 PM

विधायक सरयू राय ने राज्य सरकार से आइएएस पूजा सिंघल पर विभागीय कार्रवाई समाप्त करने की संचिका की छाया प्रति उपलब्ध कराने की मांग की है. उन्होंने मुख्य सचिव सुखदेव सिंह को पत्र लिख कर कहा है कि पूर्ववर्ती सरकार के द्वारा आइएएस पूजा सिंघल पर विभागीय कार्रवाई का अभियोग चलाया गया था और बाद में सरकार ने सात फरवरी 2017 को आरोप मुक्त कर दिया था. इसके आधार पर उन पर विभागीय कार्रवाई बंद कर दी गयी और क्लीन चिट दे दी गयी.

मानसून पूर्व आंधी-तुफान ने बिजली आपूर्ति व्यवस्था कर दिया है ध्वस्त
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 7:38 AM

झारखंड बने 22 साल हो गए. हर सरकार में बिजली मंत्री और बिजली अफसर कम से कम राजधानी में जीरो कट का सपना दिखाते रहे, मगर अब तक यह बयान मुंगेरी लाल के हसीन सपने ही साबित हुए. झारखंड गठन के 22 साल में राजधानी में बिजली सुधार को लेकर दो महत्वपूर्ण परियोजना पर काम हुआ जिसमें आरपीडीआरपी और झारखंड संपूर्ण बिजली अच्छादन योजना (जसवे). इसके तहत करीब-करीब 1 हजार करोड़ से अधिक बिजली वितरण सुधार पर खर्च हुए मगर नतीजा सिफर ही साबित हुआ.

जस्टिस DY चंद्रचूड़ और जस्टिस बेला एम त्रिवेदी की पीठ करेगी खान आवंटन और शेल कंपनी पर सुनवाई
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 7:41 AM

सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार 24 मई को न्यायमूर्ति जस्टिस डीवाइ चंद्रचूड़ और जस्टिस बेला एम त्रिवेदी की खंडपीठ खान आवंटन और शेल कंपनी मामले पर सुनवाई करेगी. झारखंड सरकार बनाम शिवशंकर शर्मा की एसएलपी 009729 और 009730 ऑफ 2022 पर सुबह 10 बज कर 30 मिनट पर सुनवाई होगी. इससे पहले 20 मई को सुप्रीम कोर्ट की ट्रिपल बेंच में सुनवाई हुई थी, जिसमें वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने 24 मई तक का समय मांगा था.

प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 6:57 AM

झारखंड में तेजी से अस्पताल और नर्सिंग होम खुल रहे हैं. जिसमें से ज्यादातर अस्पताल व नर्सिंग होम स्वास्थ्य विभाग के गाइडलाइन की अनदेखी कर संचालित हो रहे है. ऐसे कई प्राइवेट हॉस्पिटल, नर्सिग होम और क्लिनिक हैं, जहां मरीजों की जिंदगी से बदस्तूर खिलवाड़ हो रहा है. ऐसे अस्पताल पर गाज गिर सकती है. राजधानी रांची में लगभग 712 हॉस्पिटल्स में से 50 प्रतिशत से ज्यादा अस्पताल ऐसे हैं, जिनका रजिस्ट्रेशन या तो फेल हो चुका है अथवा बिना लाइसेंस के ही इनका अवैध तरीके से संचालन किया जा रहा है.