Monday, May 23 2022 | Time 20:04 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • विधायक सरयू राय ने IAS पूजा सिंघल को क्लीन चिट दिये जाने की फाइल सरकार से मांगी
  • विधायक सरयू राय ने IAS पूजा सिंघल को क्लीन चिट दिये जाने की फाइल सरकार से मांगी
  • मानसून पूर्व आंधी-तुफान ने बिजली आपूर्ति व्यवस्था कर दिया है ध्वस्त
  • मानसून पूर्व आंधी-तुफान ने बिजली आपूर्ति व्यवस्था कर दिया है ध्वस्त
  • प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
  • प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
  • ऑरेंज अलर्ट: कल चलेगी आंधी, गर्जन के साथ होगा वज्रपात
  • ऑरेंज अलर्ट: कल चलेगी आंधी, गर्जन के साथ होगा वज्रपात
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • 17 दिनों से ईडी की कार्रवाई जारी, 19 31 करोड़ रुपये तक पहुंचने की कोशिशें तेज
  • 17 दिनों से ईडी की कार्रवाई जारी, 19 31 करोड़ रुपये तक पहुंचने की कोशिशें तेज
  • 17 दिनों से ईडी की कार्रवाई जारी, 19 31 करोड़ रुपये तक पहुंचने की कोशिशें तेज
  • पंचायत चुनावः 3 55 लाख वोटर करेंगे 1589 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला
NEWS11 स्पेशल


PVTG बच्चों को उड़ान परियोजना दे रहा उनके सपनों को पंख

140 पीवीटीजी पाठशाला से जुड़े करीब 3000 बच्चे
PVTG बच्चों को उड़ान परियोजना दे रहा उनके सपनों को पंख
न्यूज11 भारत 




रांची: राज्य में विशिष्टतः असुरक्षित जनजातीय समूह ( पीवीटीजी)  के बच्चों को पढ़ाई से जोड़े रखने में उड़ान परियोजना के तहत 'पीवीटीजी पाठशाला'  सकारात्मक बदलाव ला रहा है. परियोजना का उद्देश्य सुदूर गांवों, जंगलों एवं कठिन भौगोलिक परिस्थितयों में रहनेवाले विशिष्टतः असुरक्षित जनजातीय समूह के बच्चों को 'पीवीटीजी पाठशाला'  के माध्यम से सकारात्मक बदलाव लाना है. इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत झारखण्ड स्टेट लाईवलीहुड प्रमोशन सोसाईटी की पहल रंग दिखाने लगी है। सोसाईटी बच्चों को स्कूल में दाखिला कराने, उनमें बुनियादी शिक्षा को मजबूत करने तथा पढ़ने-लिखने की आदत और रुचि पैदा करने के अथक प्रयास में जुटी है.

 

140 पीवीटीजी पाठशाला का हो रहा है संचालन 

 

राज्य में लगभग 73 हजार पीवीटीजी परिवार रहते  हैं. इन समूहों की अपनी सामाजिक और सांस्कृतिक पहचान है। यह समूह आजीविका के लिए भी पूरी तरह प्रकृति पर निर्भर है. पीवीटीजी परिवार के बच्चों को शिक्षा से आच्छादित करने के उद्देश्य से उड़ान परियोजना के तहत राज्य के पाकुड़, दुमका, देवघर, गोड्डा, गढ़वा, लातेहार, पलामू, गुमला, सरायकेला और पूर्वी सिंहभूम में 140 पीवीटीजी पाठशाला का संचालन ग्राम स्तर पर किया जा रहा है। इन 140 पीवीटीजी पाठशाला चल रही है. इनमें करीब 3000 विशिष्टतः असुरक्षित जनजातीय समूह के बच्चे पढ़ रहे हैं. 

 


 

ऐसे हो रहा समुदाय को जागरूक करने का कार्य 

 

पीवीटीजी पाठशाला में पढ़ाने का कार्य पीवीटीजी चेंजमेकर्स करते हैं. ये चेंजमेकर भी पीवीटीजी समुदाय से ही होते हैं. इनका चयन गांव में मौजूद पीवीटीजी समूह के बीच से ही किया जाता है, ताकि बच्चों को पढ़ने में सहूलियत हो. ये चेंजमेकर्स नौनिहालों के लिए प्रतिदिन सुबह-शाम पाठशाला का आयोजन कर उन्हें बुनियादी शिक्षा प्रदान करते हैं. ऐसे में महामारी के इस कठिन दौर में पीवीटीजी पाठशाला मील का पत्थर साबित हो रहा है. इससे न सिर्फ बच्चों की पढ़ाई के प्रति रुचि फिर से जाग रही है, बल्कि अब अभिभावक भी शिक्षा के महत्व और अपने बच्चों के भविष्य को लेकर जागरूक हुए हैं. 

 

बच्चों के बीच पाठशाला किट का भी किया जा रहा वितरण 

 

पढ़ाई में सुविधा और बच्चों की रुचि बनाए रखने के लिए पीवीटीजी पाठशाला में पढ़ने वाले बच्चों के बीच पाठशाला किट के माध्यम से कुछ बुनियादी शिक्षण सामग्री का भी वितरण किया जाता है, जो इन बच्चों के चेहरों पर मुस्कान बिखेर रहा है. पीवीटीजी पाठशाला में नियमित रूप से अभिभावक-शिक्षक  बैठक का आयोजन  किया जाता है. इससे उन्हें भी अपने  बच्चों की क्षमता और रुचियों की जानकारी मिल पाती है.
अधिक खबरें
मानसून पूर्व आंधी-तुफान ने बिजली आपूर्ति व्यवस्था कर दिया है ध्वस्त
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 7:38 AM

झारखंड बने 22 साल हो गए. हर सरकार में बिजली मंत्री और बिजली अफसर कम से कम राजधानी में जीरो कट का सपना दिखाते रहे, मगर अब तक यह बयान मुंगेरी लाल के हसीन सपने ही साबित हुए. झारखंड गठन के 22 साल में राजधानी में बिजली सुधार को लेकर दो महत्वपूर्ण परियोजना पर काम हुआ जिसमें आरपीडीआरपी और झारखंड संपूर्ण बिजली अच्छादन योजना (जसवे). इसके तहत करीब-करीब 1 हजार करोड़ से अधिक बिजली वितरण सुधार पर खर्च हुए मगर नतीजा सिफर ही साबित हुआ.

जस्टिस DY चंद्रचूड़ और जस्टिस बेला एम त्रिवेदी की पीठ करेगी खान आवंटन और शेल कंपनी पर सुनवाई
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 7:41 AM

सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार 24 मई को न्यायमूर्ति जस्टिस डीवाइ चंद्रचूड़ और जस्टिस बेला एम त्रिवेदी की खंडपीठ खान आवंटन और शेल कंपनी मामले पर सुनवाई करेगी. झारखंड सरकार बनाम शिवशंकर शर्मा की एसएलपी 009729 और 009730 ऑफ 2022 पर सुबह 10 बज कर 30 मिनट पर सुनवाई होगी. इससे पहले 20 मई को सुप्रीम कोर्ट की ट्रिपल बेंच में सुनवाई हुई थी, जिसमें वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने 24 मई तक का समय मांगा था.

प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 6:57 AM

झारखंड में तेजी से अस्पताल और नर्सिंग होम खुल रहे हैं. जिसमें से ज्यादातर अस्पताल व नर्सिंग होम स्वास्थ्य विभाग के गाइडलाइन की अनदेखी कर संचालित हो रहे है. ऐसे कई प्राइवेट हॉस्पिटल, नर्सिग होम और क्लिनिक हैं, जहां मरीजों की जिंदगी से बदस्तूर खिलवाड़ हो रहा है. ऐसे अस्पताल पर गाज गिर सकती है. राजधानी रांची में लगभग 712 हॉस्पिटल्स में से 50 प्रतिशत से ज्यादा अस्पताल ऐसे हैं, जिनका रजिस्ट्रेशन या तो फेल हो चुका है अथवा बिना लाइसेंस के ही इनका अवैध तरीके से संचालन किया जा रहा है.

उपायुक्त छवि रंजन ने हाईकोर्ट में दायर किया शपथ पत्र
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 6:28 AM

उपायुक्त छवि रंजन ने हाईकोर्ट में शपथ पत्र दायर किया है. अदालत के आदेश के अनुसार शपथ पत्र दायर किया है. अधिवक्ता इंद्रजीत सिन्हा के माध्यम व्यक्तिगत रूप से शपथ पत्र दायर किया. दर्ज शपथ पत्र में अपने ऊपर दर्ज मुक़दमों का डीसी छवि रंजन ने ब्योरा दिया है. शपथ पत्र में एक मुक़दमे का ब्योरा दिया है. साथ ही अपने ऊपर चल रहे विजिलेंस केस की जानकारी भी दी है.

आदिवासी धर्म कोड नहीं तो वोट नहीं का आह्वान, कल राष्ट्रपति से मिलेंगे देश भर के आदिवासी शिष्टमंडल
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 6:27 AM

आदिवासी धर्म कोड नहीं तो वोट नहीं के आह्वान के साथ आज अखिल भारतीय आदिवासी धर्म परिषद की बैठक आज गांधी पीस फाउंडेशन नई दिल्ली में काशी नाथ गौड़ की अध्यक्षता में बैठक संपन्न हुई. बैठक में आदिवासी धर्म कोड लागू पर चर्चा की गयी. कल इस मसले पर राष्ट्रपति से परिषद के लोग मिलेंगे.