Monday, Nov 29 2021 | Time 09:03 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • नरियल लदे वाहन के बोरे में भरा था विस्फोटक का जखीरा, वाहन पलटने के बाद हुआ खुलासा
  • नरियल लदे वाहन के बोरे में भरा था विस्फोटक का जखीरा, वाहन पलटने के बाद हुआ खुलासा
  • नरियल लदे वाहन के बोरे में भरा था विस्फोटक का जखीरा, वाहन पलटने के बाद हुआ खुलासा
  • नरियल लदे वाहन के बोरे में भरा था विस्फोटक का जखीरा, वाहन पलटने के बाद हुआ खुलासा
  • तमिलनाडु में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 3 6 रही तीव्रता
झारखंड » जमशेदपुर


Road Accident..3 बार सुसाइड की कोशिश..और आज जमशेदपुर में राकेश साधेंगे निशाना

सीनियर नेशनल तीरंदाजी चैंपियनशिप में कंपाउंड इवेंट, टोक्यो पैरालंपिक में भारतीय दल के थे हिस्सा
Road Accident..3 बार सुसाइड की कोशिश..और आज जमशेदपुर में राकेश साधेंगे निशाना
आसिफ नईम/न्यूज-11 भारत

 

रांची: कौन कहता है कि आसमां में सुराग नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों...! इस कहावत को चरितार्थ कर दिखाया है ओलंपियन तीरंदाज जम्मू-कश्मीर के राकेश कुमार ने. वे अपने जज्बे, जुनून और कड़ी मेहनत की बदौलत सीनियर नेशनल तीरंदाजी चैंपियनशिप में सामान्य वर्ग के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को आज यानी बुधवार को जमशेदपुर में टक्कर देंगे. 

 

जमशेदपुर में चल रहे 40वीं सीनियर नेशनल तीरंदाजी चैंपियनशिप में राकेश को कंपाउंड स्पर्धा में व्हीलचेयर में निशाना साधकर मेडल जीतने की जद्दोजहद करेंगे. भारत के राकेश कुमार टोक्यो में संपन्न पैरालंपिक खेलों की तीरंदाजी प्रतियोगिता के पुरुष व्यक्तिगत कंपाउंड के क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय किए थे. क्वार्टर फाइनल में वे चीन के अल झिनलियांग गए थे. सीनियर नेशनल में दूसरी बार खेल रहे हैं. पूरे भारत वर्ष में राकेश का रैंकिंग 9 है. 

 

राकेश के कोच कुलदीप कुमार से खास बातचीत

 

सड़क हादसे ने दिव्यांग बना दिया 

जम्मू-कश्मीर के कटरा के छोटे से गांव नदाली के राकेश कुमार का सड़क हादसा 2009 में हुआ था. उनकी गाड़ी पहाड़ से निचे गिर गई थी, हादसे में राकेश को जबरदस्त चोट आई थी. इस हादसे के बाद उनका स्पाइनल (रिढ़ ही हड्‌डी) कॉर्ड टूट गया था. वहीं, शरीर के निचे का हिस्सा पूरी तरह से डैमेज हो गया, वो चल नहीं सकते थे. टांगे पूरी तरह से बेकार हो गई. परिवार का पालन पोषण मुश्किल हो गया था. जिदंगी से तंग आकर तीन बार आत्माहत्या करने की कोशिश की, लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था.


कोच कुलदीप के साथ राकेश

 


 

प्लंबर को कोच ने अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी बना दिया 

पेशे से प्लंबर राकेश की जिदंगी में वर्ष 2017 नया मोड़ लेकर आया. जब श्राइन बोर्ड स्पोर्ट्स स्टेडियम के कोच कुलदीप कुमार राकेश से जाकर मिले. उस समय राकेश के जीवन ने नया मोड़ लिया. कुलदीप ने राकेश को प्रोत्साहित किया. फिर स्टेडियम में आने को लेकर न्योता दिया. राकेश मुश्किल से स्टेडियम पहुंच पाते थे. राकेश के छोटे भाई दीप कुमार बीच-बीच में उन्हें स्टेडियम छोड़ आया करते थे और साथ ले आया करते थे.

 

माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने की मदद 

साल 2018 में पहली बार पैरा आर्चीज का ट्राई टेस्ट हरियाणा रोहतक में हुआ. जिसमें राकेश नंबर वन रहें. जिसके बाद ओलंपिक पोडियम स्कीम के तहत उन्हें 50 हजार हर महीने सरकार की तरफ से मिलना शुरू हुआ. राकेश पर 6 लाख का कर्ज था, जो धीरे-धीरे चुकता हो गया. वहीं, माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने अत्याधुनिक उपकरण तीरंदाजी सेट दिए. वहीं, राकेश को ओलंपियन प्लेयर बनाने का सारा श्रेय कोच कुलदीप कुमार को जाता है.

 


 

ओलंपियन राकेश की उपलब्धियां 

2018 इंडोनेशिया: एशियन गेम्स में 10वां स्थान

2018 चेक रिपब्लिक: यूरोपियन आर्चीज वल्ड रैंकिंग टूर्नामेंट में टीम गोल्ड मेडल

2019 दुबई: 5वें फैजा कप में कांस्य जीता

2019 नीदरलैंड: इंटरनेशनल प्रतियोगिता में चौथा स्थान  

2021 जापान: पैरा ओलिंपिक में क्वार्टर फाइनल तक का सफर

 

 

अधिक खबरें
टाटा कमिंस और टाटा मोटर्स के शिफ्टिंग का विरोध, जेएमएम ने गेट किया जाम
नवम्बर 17, 2021 | 17 Nov 2021 | 12:33 PM

टाटा कमिंस और टाटा मोटर्स के जमशेदपुर स्थित मुख्यालय को महाराष्ट्र के पुणे में शिफ्ट करने के विरोध में झारखंड मुक्ति मोर्चा के जुगसलाई विधायक के नेतृत्व में टाटा कमिंस गेट को जाम किया गया. जहां भारी संख्या में कार्यकर्ताओं ने टाटा कंपनी की मनमानी नहीं चलेगी नारे लगाए.

टाटा-कटिहार के बीच जल्द पटरी पर दौड़ती नजर आएगी एक नई ट्रेन
नवम्बर 13, 2021 | 13 Nov 2021 | 12:49 PM

टाटा-कटिहार के बीच एक नई ट्रेन जल्द पटरी पर दौड़ती नजर आएगी. सबकुछ ठीकठाक रहा तो 17 नवंबर से ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाएगा.

तेज रफ्तार ट्रक ने तीन मजदूरों को रौंदा, एक की दर्दनाक मौत दो गंभीर
नवम्बर 07, 2021 | 07 Nov 2021 | 2:44 PM

शहर में तेज रफ्तार का कहर देखने को मिला जहां ट्रक ने तीन मजदूरों को रौंद दिया. इस दुर्घटना में एक मजदूर की घटना स्थल पर ही मौत हो गई और दो गंभीर रूप से घायल हो गया.

स्वास्थ्य केंद्र में लटका ताला, इलाज के लिए तय करना पड़ रहा लंबी दूरी
अक्तूबर 22, 2021 | 22 Oct 2021 | 8:34 AM

पूर्वी सिंहभूम जिले का पडुमरिया प्रखंड का बाक़ीशोल पंचायत का हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर में बीते दो सालों से ताले लटके हुए है. जिसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है.

झारखंड के इस गांव में खेती के प्रति जागरुक करने के लिए अनोखी पहल..
अक्तूबर 19, 2021 | 19 Oct 2021 | 1:22 AM

किसानों को खेती के लिए जागरुक और प्रेरित करने के लिए जमशेदपुर से 15 किलोमीटर की दूर बसा बड़ा तलसा गांव में एक नई पहल की गई है. गांव के घर की दीवारों पर धान की खेती बाड़ी से संबंधित पेंटिंग और चित्कारी कर लोगों को प्रेरित और जागरूक किया जा रहा हैं.