Friday, Dec 9 2022 | Time 19:10 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • रेलवे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म और ट्रेन के बीच फंसी छात्रा, Video देखें
  • रेलवे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म और ट्रेन के बीच फंसी छात्रा, Video देखें
  • शादी समारोह में गैस सिलेंडर फटने से 5 की मौत, 63 से अधिक लोग झुलसे 11 की हालत गंभीर
  • बांग्लादेश के खिलाफ तीसरे वनडे मुकाबले के लिए भारतीय टीम में 3 बड़े बदलाव
  • बांग्लादेश के खिलाफ तीसरे वनडे मुकाबले के लिए भारतीय टीम में 3 बड़े बदलाव
  • साहिबगंज डीएसपी राजेंद्र दुबे पहुंचे ईडी दफ्तर, पूछताछ शुरू
  • साहिबगंज डीएसपी राजेंद्र दुबे पहुंचे ईडी दफ्तर, पूछताछ शुरू
  • रेलवे अधिकारी के शरीर से अचानक निकलने लगी आग की चिंगारी, देखें Video
  • एक जनवरी 2023 से सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की प्रैक्टिकल परीक्षाएं
  • एक जनवरी 2023 से सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की प्रैक्टिकल परीक्षाएं
  • बारातियों के पटाखें से कई दुकानों में लगी आग, लाखों का सामान जलकर राख
  • बारातियों के पटाखें से कई दुकानों में लगी आग, लाखों का सामान जलकर राख
  • पलामू में जिला स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं सीएम हेमंत सोरेन
  • पलामू में जिला स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं सीएम हेमंत सोरेन
  • पलामू में जिला स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं सीएम हेमंत सोरेन
NEWS11 स्पेशल


मेले मामा के डिवोर्स समारोह में जुलूल आना

और...वायरल हो गया एक डिवोर्स निमंत्रण कार्ड
मेले मामा के डिवोर्स समारोह में जुलूल आना
अजय लाल /  न्यूज 11 भारत,

 

रांची – हर भूल तेरी माफ़ की

तेरी हर खता को भूला दिया

गम है कि मेरे प्यार का

तूने बेवफाई का सिला दिया...

 

जी हा...सात फेरों का बंधन अटूट समझा जाता है. लेकिन यह फेरा कभी – कभी फंदा बन जाता है. और जब फेरा फंदा साबित होने लगे तो इंसान फंदे को दूर फेक देना चाहता है...और इसी को आधुनिक समाज डिवोर्स कहता है. फिलहाल चर्चा हो रही है भोपाल के एक शख्स की जिसे 17 सालों तक कानूनी लड़ाई के बाद पत्नी से अलग होने की इजाजत कानूनी तौर पर मिली. अमूमन ऐसे मौके पर लोग शांत होकर यादों को भूलाने की कोशिश करते हैं लेकिन भोपाल के एक शख्स ने इस अदालती डिवोर्स पेपर पर समारोह का आय़ोजन कर डाला. वह भी पूरे धूमधाम से. विवाह समारोह के दौरान छपने वाले शादी कार्ड के माफिक उसने डिवोर्स इन्विटेशन पत्र तक छपवा दिया.

 

दरअसल, कहानी भोपाल के रायसेन के रहने वाले एक शख्स की है. वर्षो पहले धूमधाम से शादी हुई थी. बाद की कहानी यह है कि शख्स पर 2005 में दहेज प्रताड़ना का केस हो गया. मामला अदालत की चौखट तक पहुंचा. और अब उस शख्स को तलाक मिल चुका है. और इसी अवसर को शख्स ने समारोह में बदलने की योजना बना डाली. बजाप्ता शादी कार्ड के माफिक डिवोर्स निमंत्रण पत्र छपवाया. कार्यक्रम की जानकारी दी कि कब कैसे कहां कौन सा आयोजन होने जा रहा है. (देखें तस्वीर).  18 सितम्बर को इस मौके पर एक प्रीतिभोज का भी आयोजन किया जा रहा है. इस कार्य में भाई वेलफेयर सोसायटी भोपाल ने शख्स को कानूनी मदद की थी. डिवोर्स निमंत्रण पत्र में लिखा हुआ है कि दहेज प्रताड़ना सीआरपीसी 125 डीभी जीतने के बाद भाई वेलफेयर सोसायटी भोपाल के संरक्षण में देश का पहला विवाह विच्छेद समारोह. इस समारोह में आप सादर आमंत्रित है. जाहिर तौर पर यह निमंत्रण शख्स ने अपने कुछ दोस्तों और परिवार को दी है. लेकिन सवाल है कि क्या बदलते समाज की नयी कहानी है.

 

मामला चाहे जो कुछ भी हो लेकिन देखते ही देखते यह निमंत्रण पत्र वायरल दुनिया में जबरदस्त हिट हो रहा है.
अधिक खबरें
बांग्लादेश के खिलाफ तीसरे वनडे मुकाबले के लिए भारतीय टीम में 3 बड़े बदलाव
दिसम्बर 09, 2022 | 09 Dec 2022 | 5:14 AM

टीम इंडिया अभी बांग्लादेश दौरा पर है. बांग्लादेश सीरीज जीत चूका है. इसी बिच बांग्लादेश के खिलाफ तीसरे वनडे मुकाबले के लिए भारतीय टीम में 3 बदलाव हुआ है. कप्तान रोहित शर्मा अंगूठे की चोट के चलते इस मुकाबले से बाहर हो गए हैं. इसके साथ ही कुलदीप सेन और दीपक चाहर भी इस आखिरी वनडे का हिस्सा नहीं होंगे.

साहिबगंज डीएसपी राजेंद्र दुबे पहुंचे ईडी दफ्तर, पूछताछ शुरू
दिसम्बर 09, 2022 | 09 Dec 2022 | 3:55 AM

साहेबगंज के पुलिस उपाधिक्षक राजेंद्र दुबे प्रवर्तन निदेशालय (इडी) के क्षेत्रीय कार्यालय में शुक्रवार को उपस्थित हुए. इन पर राजेंद्र आर्युविज्ञान संस्थान के कॉटेज में इलाजरत सजायाफ्ता पंकज मिश्रा से फोन पर बातचीत करने का आरोप लगा है. उन्हें इडी ने समन कर 8 दिसंबर को बुलाया था.

आजसू पार्टी की हुंकार, सरकार स्थानीय नीति को करे जल्द लागू
सितम्बर 13, 2022 | 13 Sep 2022 | 8:01 PM

आजसू पार्टी ने स्थानीय नीति को जल्द लागू करने की मांग राज्य सरकार से की है. इस मुद्दे पर आजसू सुप्रीमो सह विधायक सुदेश महतो ने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार स्थानीयता के मुद्दे पर भ्रम न फैलाएं. राज्य सरकार खतियान आधारित स्थानीय नीति को जल्द लागू करें.

सामूहिक सहयोग से ही फाइलेरिया और कालाजार पर लगेगी रोक
सितम्बर 13, 2022 | 13 Sep 2022 | 7:28 PM

फाइलेरिया एक ऐसी चुनौती है, जो अर्थव्यवस्था को प्रभावित कर वैश्विक कल्याण में बाधा डालती है. इस चुनौती से निबटने के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा. सामूहिक प्रयासों का ही नतीजा है कि राज्य में फाइलेरिया और कालाजार के मरीजों की संख्या में निरंतर कमी दर्ज की जा रही है. इसमें मीडिया की भूमिका सबसे अहम है.