Monday, May 23 2022 | Time 19:35 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
  • प्रदेश में बिना लाइसेंस के चल रहे है 76 अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग मौन
  • ऑरेंज अलर्ट: कल चलेगी आंधी, गर्जन के साथ होगा वज्रपात
  • ऑरेंज अलर्ट: कल चलेगी आंधी, गर्जन के साथ होगा वज्रपात
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • खान आवंटन, शेल कंपनियों और मनरेगा घोटाले पर मंगलवार को एक साथ SC और HC में सुनवाई
  • 17 दिनों से ईडी की कार्रवाई जारी, 19 31 करोड़ रुपये तक पहुंचने की कोशिशें तेज
  • 17 दिनों से ईडी की कार्रवाई जारी, 19 31 करोड़ रुपये तक पहुंचने की कोशिशें तेज
  • 17 दिनों से ईडी की कार्रवाई जारी, 19 31 करोड़ रुपये तक पहुंचने की कोशिशें तेज
  • पंचायत चुनावः 3 55 लाख वोटर करेंगे 1589 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला
  • पंचायत चुनावः 3 55 लाख वोटर करेंगे 1589 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला
  • पंचायत चुनावः 3 55 लाख वोटर करेंगे 1589 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला
  • भारत में ओमिक्रॉन के सब वैरिएंट BA 5 की भी पुष्टि, तेलंगाना में बुजुर्ग मिला संक्रमित
  • भारत में ओमिक्रॉन के सब वैरिएंट BA 5 की भी पुष्टि, तेलंगाना में बुजुर्ग मिला संक्रमित
झारखंड


पूर्वजों के सपने सोना झारखंड को वास्तविक सोना झारखंड का रूप दें : मुख्यमंत्री

पूर्वजों के सपने सोना झारखंड को वास्तविक सोना झारखंड का रूप दें : मुख्यमंत्री

रांची: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज चाईबासा के टोंटो प्रखंड स्थित सेरेंगसिया में शहीद स्थल में वीर शहीद पोटो हो एवं अन्य शहीदों को नमन कर आपके अधिकार आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में शामिल हुए. मुख्यमंत्री ने 991 लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों का वितरण समेत अन्य योजना के तहत कुल 1885 लोगों को लाभ पहुंचाया. सामुदायिक वन पट्टा के अन्तर्गत 361.76 एकड़ भूमि उपलब्ध करायी गई. इस अवसर पर 1 करोड़ से अधिक राशि की परिसंपत्तियों का वितरण एवं सात करोड़ से अधिक राशि की योजनाओं का शिलान्यास और एक करोड़ से अधिक राशि की योजनाओं का उद्घाटन हुआ.


इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता में किसान, गरीब, श्रमिक एवं अन्य जरूरतमंद शामिल हैं. सरकार की कार्य प्रणाली से हमारी मंशा और उद्देश्य का अंदाजा राज्य की जनता लगा सकती है. सरकार की योजना जरूरतमंद लोगों के लिए बनती है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में योजनाओं का समुचित लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल पाता है. इसलिए सरकार ने तय किया है कि सरकार आपके समक्ष जाकर योजनाओं की जानकारी और उससे आप सभी को आच्छादित करेगी. ताकि ग्रामीण के बीच स्वरोजगार का सृजन एवं उनके आर्थिक स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त हो सके। झारखण्डवासियों से आग्रह है आप अपनी उत्सुकता बढ़ाइए, बाहर आइये सरकार आपके द्वार आई है. मुख्यमंत्री ने कहा शहीदों के ताकत पर झारखण्ड बना है। पूर्वजों के सपने सोना झारखण्ड को वास्तविकसोना झारखण्ड का रूप दें. 


झारखंड को संवारने में लगी है सरकार 

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में युवाओं को रोजगार देने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है. इस सिलसिले में नियुक्ति नियमावली तैयार कर ली गई है तथा बड़े पैमाने पर नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. गुवा में शहीद के परिजनों को नौकरी दी गई. सरकार सिपाही भर्ती में पहले शारीरिक और बाद में लिखित परीक्षा हेतु नियमावली में बदलाव कर रही है. मुख्यमंत्री ने कहा नौकरी के अतिरिक्त और भी संभावनाएं हैं। योजनाओं के जरिए स्वरोजगार का सृजन किया जा सकता है। रोजगार सृजन योजना के तहत बड़े पैमाने पर लाभ देने का प्रयास किया जा रहा है. सरकार लोगों के कार्य को आगे बढ़ाने में सहयोग करेगी, इसका लाभ राज्य के युवा अवश्य लें. एकसमय ऐसा आएगा जब हम खुद को औऱ आने वाली पीढ़ी को सुरक्षित कर सकेंगे. 

 

बाजार सरकार देगी 

 

मुख्यमंत्री ने कहा पलाश ब्रांड के जरिये महिला समूह खाद्य सामग्री बनाने का कार्य कर रहीं हैं. इन खाद्य सामग्रियों का उत्पादन अधिक मात्रा में करने से सरकार उसे खरीद लेगी. सखी मंडल की महिलाएं इस ओर ध्यान दें. सरकार को अन्य राज्यों से मछली एवंस्कूलों में बच्चों को सप्ताह में छः दिन अंडा उपलब्ध करा रही है. युवा अंडा उत्पादन के व्यवसाय को अपनाएं. आपके जिला के उपायुक्त एक समझौता कर उसे खरीद लेंगे. यही अंडा हमें अन्य राज्य से मंगवाना पड़ता है. सरकार आपके उत्पाद को बाजार उपलब्ध कराने को तत्पर है.

 

इस अवसर पर मंत्री महिला बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग जोबा मांझी, पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, मझगांव विधायक नीरल पूर्ति, चक्रधरपुर विधायक सुखराम उरांव, जगन्नाथपुर विधायक सोनाराम सिंकु, खरसावां विधायकदशरथ गगराई, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ राजीव अरुण एक्का, आयुक्त कोल्हान प्रमंडल मनोज कुमार,उपायुक्त चाईबासा अनन्या मित्तल, पुलिस अधीक्षक चाईबासा अजय लिंडा एवं अन्य उपस्थित थे.

 

इन योजनाओं का हुआ उद्घाटन और शिलान्यास

 

-चाईबासा के टोंटो प्रखंड स्थित सेरेंगसिया के फुटबॉल मैदान में आयोजित "आपके अधिकार-आपकी सरकार आपके द्वार" कार्यक्रम के दौरान 7,78,90,743  रुपये की लागत से कुल 16 योजनाओं का शिलान्यास एवं 1,08,66,373 रुपये की लागत से निर्मित 2 योजनाओं के लोकार्पण किया गया. 

-जगन्नाथपुर प्रखंड अंतर्गत जैंतगढ़ पंचायत के शिव मंदिर से पंचायत भवन होते हुए हाई स्कूल तक 2490 फिट पीसीसी पथ निर्माण, लागत-₹34,50,692. 

-जगन्नाथपुर प्रखंड अंतर्गत करंजिया पंचायत के ग्राम सोनापोसी स्कूल के सामने से सोनापोसी टोला लोहाबेड़ा तक 1620 पीसीसी पथ निर्माण, लागत-₹26,50,300. 

-टोंटो प्रखंड अंतर्गत ग्राम सेरेंगसिया मैं मुख्य पथ से पदमपुर स्कूल तक 1 किलोमीटर पीसीसी पथ निर्माण, लागत-₹61,23,500. 

-जगन्नाथपुर प्रखंड अंतर्गत जगन्नाथपुर पंचायत के डीपाशाही चौक से हो टोला तक 2000 फीट पीसीसी पथ निर्माण, लागत-₹38,76,800. 

-टोंटो प्रखंड अंतर्गत सेरेंगसिया पंचायत के सेरेंगसिया फुटबॉल मैदान में गार्डवाल निर्माण, लागत-₹15,25,600. 

-जगन्नाथपुर प्रखंड अंतर्गत जगन्नाथपुर पंचायत के जगन्नाथपुर बाजार परिसर में जर्जर अवस्था में स्थित शेड के स्थान पर 06 अदद्  पक्का सेड निर्माण, लागत-₹72,57,500. 

-टोंटो प्रखंड अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय टोपाबेड़ा में 2 वर्ग कक्ष का भवन निर्माण, लागत-₹18,68,900. -जगन्नाथपुर प्रखंड अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय, हेस्सापी में 2 वर्गकक्ष का भवन निर्माण, लागत-₹18,68,900. 

- ग्राम बड़ालिसिया टोला हेस्साबासा कमशीन दाराईबुरु घर चौक से कोन्दोवा नदी तक 3000 फिट पीसीसी पथ निर्माण, लागत-₹75,27,023. 

- ग्राम तोंडागंहातु टोला बुरुसाई में रोजो तिरिया घर के पास से नोगा दिग्गी घर तक 1000 फिट पीसीसी पथ निर्माण, लागत-₹16,77,709. - मालुका पंचायत के ग्राम जिन्तुगाड़ा से बन्दासाई तक 1500 फीट पीसीसी पथ निर्माण, लागत-₹35,21,622. 

- जगन्नाथपुर पंचायत के ग्राम जगन्नाथपुर के ढीपासाई चौक से जगन्नाथपुर सब स्टेशन तक 2500 फीट पीसीसी पथ निर्माण, लागत-₹44,67,056. 

- कलाईया पंचायत के ग्राम कलाईया विश्व बैंक सड़क के संग्राम तिरिया दुकान से कृष्णा तिरिया घर तक 3000 फीट पीसीसी पथ निर्माण, लागत-₹29,41,950. 

-सेरेंगदा पंचायत भवन से दिउरीसाई गांव तक पीसीसी पथ निर्माण तथा दो अदद् पुलिया का निर्माण, लागत-₹55,80,276. 

- टोंटो प्रखंड अंतर्गत नीमडीह पंचायत अंतर्गत नीमडीह के सुंडी सुरनिया ग्राम में स्थित पुलिया का पहुंच पथ निर्माण, लागत-₹52,86,096.
अधिक खबरें
उपायुक्त छवि रंजन ने हाईकोर्ट में दायर किया शपथ पत्र
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 6:28 AM

उपायुक्त छवि रंजन ने हाईकोर्ट में शपथ पत्र दायर किया है. अदालत के आदेश के अनुसार शपथ पत्र दायर किया है. अधिवक्ता इंद्रजीत सिन्हा के माध्यम व्यक्तिगत रूप से शपथ पत्र दायर किया. दर्ज शपथ पत्र में अपने ऊपर दर्ज मुक़दमों का डीसी छवि रंजन ने ब्योरा दिया है. शपथ पत्र में एक मुक़दमे का ब्योरा दिया है. साथ ही अपने ऊपर चल रहे विजिलेंस केस की जानकारी भी दी है.

आदिवासी धर्म कोड नहीं तो वोट नहीं का आह्वान, कल राष्ट्रपति से मिलेंगे देश भर के आदिवासी शिष्टमंडल
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 6:27 AM

आदिवासी धर्म कोड नहीं तो वोट नहीं के आह्वान के साथ आज अखिल भारतीय आदिवासी धर्म परिषद की बैठक आज गांधी पीस फाउंडेशन नई दिल्ली में काशी नाथ गौड़ की अध्यक्षता में बैठक संपन्न हुई. बैठक में आदिवासी धर्म कोड लागू पर चर्चा की गयी. कल इस मसले पर राष्ट्रपति से परिषद के लोग मिलेंगे.

झामुमो ने एक साथ केंद्र सरकार, इलेक्शन कमीशन और निशिकांत पर किया हमला
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 6:07 PM

झामुमो आज एक साथ केंद्र सरकार, इलेक्शन कमीशन और गोड्‌डा सांसद निशिकांत दूबे पर बड़ा हमला किया है. पार्टी वरिष्ठ नेता सुप्रियो भट्‌टाचार्य ने आज पार्टी कार्यालय में आयोजित एक प्रेस वार्ता में कहा कि जब भाजपा राजनैतिक तौर कहीं पराजित होती है तो वहां पर किसी न किसी तरह से सरकार को परेशान और अस्थिर करने का प्रयास करती है. पहले बंगाल में एक महिला को परेशान किया गया, जब वहां नहीं सके तो केंद्रीय एजेंसी के माध्यम से एक महिला सीएम को परेशान करने का प्रयास किया जाता रहा है.

जांच में खुलासा: कोल कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए गायब कर दिए वित्तीय दस्तावेज
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 5:34 PM

झारखंड की पहचान जल, जंगल और जमीन थी. मगर कुछ लालची अफसरों की वजह से अब इस राज्य की पहचान धूमिल हो रही है. भ्रष्टाचार, कमिशनखोरी और अवैध कारोबार से प्रदेश का नाम जुड़ रहा है. ऐसे में वन विभाग का एक बड़ा मामला सामने आया है. वन विभाग के अफसरों ने कोल कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए वित्तीय दस्तावेज गायब कर दिया.

झारखंड के सबसे चर्चित जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार थे खनन निरीक्षक
मई 23, 2022 | 23 May 2022 | 5:08 PM

झारखंड के सबसे चर्चित जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार से प्रवर्तन निदेशालय की टीम पूछताछ कर रही है. सोमवार की सुबह से ही वे ईडी के क्षेत्रीय कार्यालय में हैं. उन्हें समन कर बुलाया गया है. आइएएस पूजा सिंघल के सामने डीएमओ विभूति कुमार को बैठा कर पूछताछ की जा रही है. जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार पहले खनन निरीक्षक (माइंस इंस्पेक्टर) के पद पर थे. अलग झारखंड राज्य बनने के बाद ये खनन निरीक्षक थे और इनकी पोस्टिंग रांची में थी.