Monday, Jun 27 2022 | Time 08:14 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • तंत्र सिद्धि के लिए विभत्स तरीके से की गई महिला की हत्या, पुलिस कर रही मामले की जांच
  • तंत्र सिद्धि के लिए विभत्स तरीके से की गई महिला की हत्या, पुलिस कर रही मामले की जांच
  • बारिश से बाधित मैच में भारत ने आयरलैंड को 7 विकेट से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल किया
क्राइम


बिजली वितरण सुधार का पैसा अब तक नहीं मिला जेबीवीएनएल को, जानें क्या है वजह

चालू वित्तीय वर्ष के बजट में 200 करोड़ रूपए का किया गया प्रावधान, अप्रैल खत्म मगर नहीं सरकार ने नहीं दिया अब तक पैसा
बिजली वितरण सुधार का पैसा अब तक नहीं मिला जेबीवीएनएल को, जानें क्या है वजह

न्यूज़ 11 भारत


रांची: चालू वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट में बिजली वितरण सुधार को लेकर जेबीवीएनएल को 200 करोड़ रूपए का बजटीय प्रावधान किया गया था. मगर अप्रैल का पूरा माह बीत जाने के बाद भी यह राशि जेबीवीएनएल को नहीं मिला है. इसके कारण अभी तक जेबीवीएनएल अपना वार्षिक प्लान तक नहीं बना पाया है. जून से बारिश का मौसम शुरू हो जाएगा. बारिश में कोई काम नहीं होगा. इसके कारण इस बार बारिश में फिर लोकल फॉल्ट के कारण बिजली कट जैसी समस्या से जनता को रूबरू होना पड़ सकता है. अगर मई में भी पैसा नहीं जेबीवीएनएल को ट्रांसफर नहीं किया गया तो फिर नहीं लगता है कि बारिश में बिजली वितरण सुधार को लेकर कोई काम शुरू हो पाएगा. फिर बारिश बाद अक्तूबर-नवंबर में ही कार्य शुरू हो पाएगा. इसका सीधा असर बिजली आपूर्ति पर पड़ेगा. 


ये भी पढ़े: अवैध बालू उत्खनन और ढुलाई मामले पर सीओ की रिपोर्ट पर एनजीटी को आपत्ति


बिजली वितरण सुधार को लेकर होने हैं कई कार्य


रांची सहित  पूरे  राज्य में बिजली वितरण सुधार से जुड़े कई कार्य हर वर्ष कराए जाते हैं. जिससे बारिश के दिनों में लोकल फॉल्ट जैसी समस्या से निजात मिल सके. इस मद में नया सबस्टेशन निर्माण, पुराने सबस्टेशन की क्षमता बढ़ाना, उसका ऑपरेशन-मेटनेंनस, नए तार खरीदना, ट्रांसफर रिपयरिंग के लिए ऑयल खरीदी, बिजली के कंभे खरीदने, नए ट्रांसफरमर खरीदने जैसे कई कार्य किए जाते हैं. जिससे बिजली वितरण से जुड़े उपकरणो में सुधार होता है. मगर अब तक बजटीय प्रावधान का पैसा नहीं मिलने से चालू सीजन में इसका कार्य शुरू होने की संभावना बहुत ही कम ही दिख रही है. 


 

जरूरी-आवश्यक बिजली उपकरणों की स्टोर रूम में कमी

रांची सहित राज्य के सभी स्टोर रूम में बिजली वितरण और ऑपरेशन मेटेनेंनस से जुड़ी समानों की भारी कमी हो गयी है. जानकारी के अनुसार टीआरडब्लू (ट्रांसफारम रिपयरिंग वर्कशॉप) में ट्रांसफारमर मरम्मति के लिए जरूरी समाग्री ऑयल की भारी कमी हो गयी है. बारिश के दिनों में ट्रांसफारमर जलने और खराब होने के मामले बहुत बढ़ जाते हैं. इसके अतिरिक्त आंधी-पानी में बिजली के तार और खंभे भी गिरते हैं. इसकी कमी भी स्टोर रूम में देखी जा रही है. नए ट्रांसफारमरों की भारी कमी जेबीवीएनएल के पास हो गयी है. यानि की बारिश के दिनों में ऑपरेशन-मेटनेंनस में जेबीवीएनएल को भारी दिक्कतें हो सकती हैं.
अधिक खबरें
राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद के अधिकारियों पर बढ़ेगी ईडी की दबिश
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 1:18 AM

साहेबगंज और पाकुड़ जिले में पत्थरों के अवैध खनन और उसके भंडारन के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने वन एवं पर्यावरण विभाग की तरफ से रिपोर्ट सौंप दी गयी है. ईडी की तरफ से राज्य के वन एवं पर्यावरण विभाग को इस मामले में नोटिस भेज कर वस्तु स्थिति से अवगत कराने को कहा गया था.

सावधान! रांची डीसी के नाम से वॉट्सऐप की फेक आईडी बनाकर ठगी का हो रहा प्रयास
जून 25, 2022 | 25 Jun 2022 | 1:45 AM

राजधानी सहित राज्यभर में साइबर अपराध की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं. आए दिन ठगी की खबरें सामने आती रहती हैं. मगर अब साइबर अपराधियों का मनोबल इतना बढ़ गया है कि वे प्रशासनिक पदाधिकारियों के साथ भी साइबर अपराध करने में नहीं झिझक रहे हैं.

BJP नेता सुरेंद्र राय हत्याकांड मामले में संदीप थापा और सुजीत सिन्हा दोषी करार, उम्रकैद की सजा
जून 25, 2022 | 25 Jun 2022 | 12:46 PM

सिविल कोर्ट के अपर न्यायायुक्त में सुरेंद्र राय हत्याकांड की सुनवाई हुई. कोर्ट ने सभी पक्षों को सुना, गवाहों के बयान दर्ज हुए, जिसके आधार पर कोर्ट ने संदीप थाना, चंद्रमौली सिंह और सुजीत सिन्हा को दोषी करार दिया. दोषियों को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई. साथ ही जुर्माना भी लगाया है. बता दें, रांची में गोलीबारी के केस में संदीप थापा को गिरफ्तार किया गया था.

तुपुदाना क्षेत्र के गढ़शूला से PLFI के तीन उग्रवादी धराए, कंस्ट्रशन साइट पर हमले की थी योजना
जून 25, 2022 | 25 Jun 2022 | 11:33 AM

पुलिस और PLFI उग्रवादियों के बीच मुठभेड़ होते-होते रह गया. यह घटना तुपुदाना ओपी क्षेत्र के रांची और खूंटी बॉडर पर हुई है. जानकारी के मुताबिक, पुलिस को सूचना मिली थी कि तुपुदाना ओपी के गढ़शूल में PLFI के एक दस्ता देखा गया है.

सीआईडी को दो बड़े मामलों में जांच की जिम्मेवारी, सीएम से मिली हरी झंडी
जून 25, 2022 | 25 Jun 2022 | 7:34 AM

अपराध अनुसंधान विभाग, सीआईडी को दो बड़े मामलों के जांच की जिम्मेवारी मिली है. झारखंड सरकार ने निर्णय लिया है कि 100 करोड़ रुपए के मोमेंटम घोटाले की जांच सीआईडी करेगी. इसके लेकर सीएम हेमंत सोरेन ने अपनी सहमति दे दी है.