Saturday, Oct 23 2021 | Time 10:00 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • NEET PG Counselling 2021: NEET PG काउंसलिंग का शेड्यूल जारी, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन
  • NEET PG Counselling 2021: NEET PG काउंसलिंग का शेड्यूल जारी, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
देश-विदेश


International Girl Child day 2021: ‘अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस’ आज, जानें थीम, महत्व और इतिहास

International Girl Child day 2021: ‘अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस’ आज, जानें थीम, महत्व और इतिहास

न्यूज़ 11 भारत


International Girl Child day 2021: लड़कियों के महत्व को दर्शाने के लिए 11 अक्टूबर को हर साल ‘अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस’ मनाया जाता है. इस दिन लड़कियों के लिए अवसर खोलकर, उन्हें उनकी शक्ति और क्षमता की पहचान करने का प्रयास किया जाता है. इसका उद्देश्य दुनिया भर में किशोर लड़कियों की आवाज़ को बढ़ाना और सशक्त बनाना है.


क्यों मनाया जाता है ‘अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस’

यह बात किसी से छुपी नहीं है कि दुनिया भर में, लड़कियों को बाल विवाह, भेदभाव, हिंसा और अवसरों से वंचित जैसी लिंग आधारित चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. लड़कियों को इसी भेदभाव से बचाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है. इस दिन लड़कियों से संबंधित मुद्दों के बारे में बात करने और उन्हें खत्म करने का प्रयास किया जाता है.


International Girl Child day 2021 Theme

इस साल अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर “Digital generation. Our generation” की थीम का पालन किया जाएगा.

कोरोना महामारी ने दुनिया को हर काम के लिए लैपटॉप या मोबाइल स्क्रीन के सामने बैठा दिया है, इसमें बच्चों की पढ़ाई भी शामिल है. लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि दुनिया भर में लगभग 2.2 बिलियन लोगों के पास अभी भी इंटरनेट कनेक्शन नहीं है. इसने उन्हें हाशिये से धकेल दिया है, खासकर लड़कियों को.

वैश्विक स्तर पर, इंटरनेट उपयोगकर्ताओं का लिंग अंतर 2013 में 11 फीसदी से बढ़कर 2019 में 17 फीसद हो गया है. वहीं सबसे कम विकसित देशों के लिए, यह लगभग 43 फीसदी है.

डिजिटल क्रांति के युग में जहां लोग नए कौशल सीखने और राजस्व अर्जित करने के लिए विभिन्न तरीकों से प्रौद्योगिकी का उपयोग कर रहे हैं, महिलाओं और लड़कियों को पीछे नहीं छोड़ा जा सकता है. इस साल के थीम के साथ इसी मुद्दे पर चर्चा की जाएगी.


कैसे हुई शुरुआत 

लड़कियों के अधिकारों की पहचान और चर्चा करने वाला पहला सम्मेलन बीजिंग घोषणापत्र था. 1995 में बीजिंग में महिलाओं पर विश्व सम्मेलन में, देशों ने सर्वसम्मति से बीजिंग घोषणा और कार्रवाई के लिए मंच को अपनाया, जिसे न केवल महिलाओं बल्कि लड़कियों के अधिकारों को आगे बढ़ाने के लिए अब तक का सबसे प्रगतिशील खाका माना जाता है.

वहीं, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 19 दिसंबर, 2011 को एक प्रस्ताव पारित कर 11 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में घोषित किया. यह दिन मुख्य रूप से दुनिया भर में लड़कियों के सामने आने वाली चुनौतियों को स्वीकार करने और उनके मानवाधिकारों को पूरा करने के लिए उन्हें सशक्त बनाने की आवश्यकता पर केंद्रित है. 


इसे भी पढ़ें, नवरात्र के छठे दिन मां कात्यायनी की अराधना, आज होगा बेलवरण


इसके साथ ही 2017 में सत्रह बिंदु सतत विकास लक्ष्यों को अपनाया गया था, जिसमें लैंगिक समानता और महिला सशक्तिकरण प्राप्त करना शामिल है. सतत विकास के लिए 2030 एजेंडा को पूरा करने के लिए, अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस सर्वोत्कृष्ट है, जिसका उद्देश्य उन युवा लड़कियों की सहायता करना है. जो बेहतर स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा में समान अवसर या अन्य किसी सुविधा या अधिकार से वंचित हैं.


 
अधिक खबरें
तालाब से मिली सोने की ज्वेलरी, पुलिस पर लगा गोलमाल का आरोप
अक्तूबर 23, 2021 | 23 Oct 2021 | 9:32 AM

जिले के बांसजोर पुलिस ने हाल में ही दो ज्वेलरी तस्कर को भारी मात्रा में चांदी के साथ पकड़ा था, लेकिन इसके बाद से बांसजोर पुलिस पर सोना छिपाने का आरोप लगने लगा और बांसजोर पुलिस जांच के घेरे में आ गई.

12 दिन बाद दिवाली, घूमने लगे कुम्हारों के चाक, बनने लगे दीए और मिट्टी के बर्तन
अक्तूबर 22, 2021 | 22 Oct 2021 | 7:09 PM

देश में 12 दिन बाद दिवाली है और शहर के विभिन्न कुम्हार कॉलोनी और कुम्हार घरों में चहल पहल नज़र आने लगी है. कुम्हारों ने दिए, बत्ती, चुक्का, मिट्टी के खिलौने और बर्तन तैयार करने में जुट गए हैं. कुम्हारों का चाक लगातार घूम रहा है. पिछले साल कोरोना की वजह से कुम्हार परिवार की रोजी रोटी पर बन आई थी.

चीन में Corona विस्फोट: फ्लाइट, स्कूल बंद, लोगों को घर में रहने की सलाह
अक्तूबर 22, 2021 | 22 Oct 2021 | 6:35 PM

अलग-अलग देशों से आ रही कोरोना की खबरों ने पूरी दूनिया के लिए चिंता बढ़ा दी है. ताजा खबरों के मुताबिक चीन में बढ़ते कोरोना के केस को देखते हुए आज यानी शुक्रवार को चीनी सरकार ने अहम फैसला लिया है.

इन क्रिकेटरों को जाना पड़ चुका है जेल, जानें इनके कारनामें..
अक्तूबर 22, 2021 | 22 Oct 2021 | 5:33 PM

क्रिकेट के कई दिग्गज खिलाड़ी जिन्हें जाना पड़ चुका है जेल, देखें लिस्ट..

राज्यपाल सम्मेलन 11 नवंबर को दिल्ली में
अक्तूबर 22, 2021 | 22 Oct 2021 | 5:16 PM

रांची: देश के विभिन्न प्रदेशों के राज्यपालों का राज्यपाल सम्मेलन 11 नवंबर को दिल्ली में होगा. इस सम्मेलन में झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस भी शामिल होंगे. राज्यपाल रमेश बैस सर्वश्रेष्ठ भारत पर रिपोर्ट पेश करेंगे. इसको लेकर झारखंड मंत्रिमंडल सचिवालय की सचिव वंदना दादेल ने सभी विभागों को पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में हुए विकास के खास काम की रिपोर्ट मांगी है.