Thursday, Jan 20 2022 | Time 17:17 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • उत्तराखंड के 70 विधानसभा सीटों के लिए भाजपा की पहली सूची जारी
  • उत्तराखंड के 70 विधानसभा सीटों के लिए भाजपा की पहली सूची जारी
  • उत्तराखंड के 70 विधानसभा सीटों के लिए भाजपा की पहली सूची जारी
  • 24 जनवरी से खुलेंगे इस राज्य के प्री-प्राइमरी से लेकर 12वीं तक के स्कूल
  • 24 जनवरी से खुलेंगे इस राज्य के प्री-प्राइमरी से लेकर 12वीं तक के स्कूल
  • 24 जनवरी से खुलेंगे इस राज्य के प्री-प्राइमरी से लेकर 12वीं तक के स्कूल
  • टेरर फंडिंग मामले में NIA लगातार बढ़ा रहा महेश अग्रवाल पर दबिश
  • टेरर फंडिंग मामले में NIA लगातार बढ़ा रहा महेश अग्रवाल पर दबिश
  • मॉब लिंचिंग मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद बड़ा खुलासा
  • मॉब लिंचिंग मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद बड़ा खुलासा
  • मॉब लिंचिंग मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद बड़ा खुलासा
  • एक बार फिर गोड्डा कॉलेज की प्रोफेसर रजनी मुर्मू ने फेसबुक पोस्ट पर लिखा, कुछ लोग मेरे पीछे पड़े
  • एक बार फिर गोड्डा कॉलेज की प्रोफेसर रजनी मुर्मू ने फेसबुक पोस्ट पर लिखा, कुछ लोग मेरे पीछे पड़े
  • गुजरात से भारी मात्रा में पकड़ा गया विदेशी गांजा, कार के कबाड़ में था छुपाया
  • गुजरात से भारी मात्रा में पकड़ा गया विदेशी गांजा, कार के कबाड़ में था छुपाया
NEWS11 स्पेशल


धर्म कोड नहीं मिला तो आदिवासी बहुल राज्यों में होगा आर्थिक नाकेबंदी

झारखंड सहित पूरे देश के आदिवासी प्रतिनिधियों ने दिल्ली जंतर-मंतर में दिया धरना
धर्म कोड नहीं मिला तो आदिवासी बहुल राज्यों में होगा आर्थिक नाकेबंदी
न्यूज11 भारत 




रांची: राष्ट्रीय आदिवासी समाज सरना धर्म रक्षा अभियान और दिल्ली सरना समाज के संयुक्त तत्वाधान में संसद दिल्ली के समक्ष जंतर मंतर में समस्त देश के सरना धर्मावलंबी विभिन्न राज्यों से आए हुए  लगभग एक हजार की भारी संख्या में सत्याग्रह धरना में शामिल हुए. कार्यक्रम में भारत के राष्ट्रपति ,प्रधानमंत्री,गृहमंत्री जनजातीय मामले की मंत्री, रजिस्टार जनरल ऑफ इंडिया,जनगणना को सरना धर्म कोड की स्वीकृति हेतु तथा जनगणना परिपत्र में पृथक कोड के रूप में अधिसूचित करने हेतु ज्ञापन दिया. भारत सरकार से आग्रह है की हमे समय रहते भारत के आदिवासी सरना धर्म कोड प्रदान करें,अगर समय रहते नही हुआ तो आदिवासी बहुल क्षेत्र के राज्यों में आर्थिक नाकेबंदी होगा.

 


 

आदिवासी बहुल राज्य में होगी धर्म कोड महारैली, फरवरी-मार्च में रामलीला मैदान में होगी महौरली

 

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए शिक्षाविद डॉ करमा उरांव देश में सरना धर्म कोड की मांग  उठी है.  संसद के समक्ष आज दे रहे,आशा है संसद और भारत सरकार भारत के आदिवासियों की मांग स्वीकार करेगी. आजाद भारत में देश का मूल धर्म प्रकृति से जुड़ा मानव संस्कृति का आध्यात्मिक आयाम भारत के करोड़ो आदिवासियों अलग धर्म कोड नहीं दिया जाना एक तरह  से अन्याय है और क्रूर मजाक किया गया है,समस्त देश के आदिवासी उक्त मांग के समर्थन करने के आंदोलन करने में बाध्य है. यह भी निर्णय लिया गया है की आगे के दिनों में असम,झारखंड,ओडिशा,पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़,और अन्य राज्यों में महारैली और सभा का आयोजन करेंगे और समस्त देश में धार्मिक क्रांति करेंगे और अपने हक अधिकार के लिए लड़ेंगे. यह भी निर्णय लिया गया की आगामी वर्ष 2022 में फरवरी-मार्च में समस्त भारत के विभिन्न राज्यों से लाखों लोग दिल्ली कुच करेंगे और रामलीला मैदान में महारैली करेंगे.यह भी निर्णय लिया गया जिन जिन राज्यों में आदिवासी आबादी है वहां की सरकार और राजनीतिक पार्टियां सरना धर्म कोड का समर्थन करे अन्यथा कोड नहीं तो वोट नहीं का कार्यक्रम होगा.

 


 

कार्यक्रम में रवि तिग्गा, नारायण उरांव, मणि केरकेट्टा( ओडिशा) , ऑगस्टीन लकड़ा (असम) ,शिव प्रसाद भगत (छत्तीसगढ़), तेतरा उरांव ( बंगाल), झारखंड से विद्यासागर केरकेट्टा,रंथु उरांव ,दुर्गावती ओडेया, बलकू उरांव,चिंतामणि उरांव,निर्मला भगत,शिवा कच्छप,नारायण उरांव, कमले उरांव,प्रभात तिर्की,रमेश मुंडा,अनूप टोप्पो,संगम उरांव,सन्नी उरांव, रेणु तिर्की,अनिल उरांव, अनिल कुमार भगत, प्रदीप कुमार भगत, आयशा गौतम,गोमती बोदरा,गणेश मांझी, नितीशा खलखो, शिवचंदर देव भगत,आदि ने सरना धर्म कोड के समर्थन में विचार व्यक्त किए.
अधिक खबरें
दुमका के 276 गांव के 22,283 हेक्टेयर खेतों में मसलिया-रानीश्वर मेगा लिफ्ट सिंचाई योजना से पहुंचेगा पानी
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 4:47 PM

झारखंड राज्य में पहली बार खेतों मं पाइपलाइन से सिंचाई के लिए प्रणाली विकसित होगी. इससे विशेषकर पहाड़ी एवं ऊंचाई वाले क्षेत्रों को सिंचाई आसान हो जाएगी. खेतों तक सिंचाई के लिए पाइप लाइन पहुंचेगा. लिफ्ट सिंचाई योजना को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन काफी गंभीर है.

उत्तराखंड के 70 विधानसभा सीटों के लिए भाजपा की पहली सूची जारी
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 4:18 PM

भाजपा ने आगामी उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए 70 में से 59 उम्मीदवारों की सूची जारी की. उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा से चुनाव लड़ेंगे. भाजपा के पूर्व सीएम रहे त्रिवेंद्र सिंह रावत ने चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की है.

24 जनवरी से खुलेंगे इस राज्य के प्री-प्राइमरी से लेकर 12वीं तक के स्कूल
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 3:58 AM

कोरोना के तीसरे लहर के कहर से पूरा देश त्रस्त है. कोरोना के मामले आये दिन बढ़ते ही जा रहे है. बीते कल पुरे देशभर में कोरोना के कुल 2 लाख 82 हज़ार 970 नए मामले रिकॉर्ड हुए है. कोरोना की हालात बेकाबू होने के कारण लोग बहुत ही चिंतित है. असम, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश समेत कई राज्यों में कोरोना के मामलों में भारी वृद्धि हो रही है.

JPSC: मुख्य परीक्षा में सफल होने के 5 प्रमुख टिप्स
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 1:51 PM

झारखंड पब्लिक सर्विस कमिशन, जेपीएससी की 7वीं से 10वीं संयुक्त सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा 28 से 30 जनवरी तक होगी. रांची में ही कुल 14 परीक्षा केंद्रों पर 4293 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे. विभिन्न सेवाओं के लिए कुल 252 पदों पर नियुक्ति के लिए चार वर्षों 2017, 2018, 2019 और 2020 के लिए प्रारंभिक परीक्षा एक साथ हुई थी.

मनरेगा से किए बागवानी से आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहे है झारखंड के किसान
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 1:17 PM

मनरेगा के तहत किए गए बागवानी योजना से झारखंड के किसान विशेषकर महिला किसान आत्मनिर्भरता की ओर बढ़े हैं. इस योजना से अकुशल श्रमिकों के जीवन, आजीविका के लिए दीर्घकालीन टिकाऊ परिसंपत्ति का निर्माण हुआ हैं. इसको लेकर उषा मार्टिन यूनिवर्सिटी के प्रबंध निकाय प्रोफेसर डॉ अरविंद हंस और उनके नेतृत्व में अध्ययन कर रहे प्रेमशंकर सहित अन्य ने राज्य के गुमला व खूंटी जिला के पांच प्रखंडों में 130 लाभुकों के उपर सर्वे किया.