Tuesday, Dec 7 2021 | Time 16:59 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • 5 दिन में 408 छात्रों को मिला जॉब ऑफर, 54 लाख तक का पैकेज
  • चहारदीवारी नहीं हटने पर हाई कोर्ट ने लगाई SSP को फटकार
  • चहारदीवारी नहीं हटने पर हाई कोर्ट ने लगाई SSP को फटकार
  • बढ़ सकती है बिजली दर, 25 प्रतिशत तक बढ़ोतरी का प्रस्ताव
  • बढ़ सकती है बिजली दर, 25 प्रतिशत तक बढ़ोतरी का प्रस्ताव
  • अब बड़े बकायेदारों पर बिजली बोर्ड करेगा सख़्ती, थोक के भाव से जारी हुआ नोटिस
  • अब बड़े बकायेदारों पर बिजली बोर्ड करेगा सख़्ती, थोक के भाव से जारी हुआ नोटिस
  • एकलव्य स्कूल मामले में विरोध कर रहे लोगों और पुलिस में झड़प, दो पुलिसकर्मी घायल
  • एकलव्य स्कूल मामले में विरोध कर रहे लोगों और पुलिस में झड़प, दो पुलिसकर्मी घायल
  • निदेशक सैनिक कल्याण निदेशालय ब्रिगेडियर ने सीएम हेमंत सोरेन से की मुलाकात
  • निदेशक सैनिक कल्याण निदेशालय ब्रिगेडियर ने सीएम हेमंत सोरेन से की मुलाकात
  • निदेशक सैनिक कल्याण निदेशालय ब्रिगेडियर ने सीएम हेमंत सोरेन से की मुलाकात
  • पति की मौत के बाद बच्चों का पेट पालने के लिए मां बन गई लुटेरन
  • पति की मौत के बाद बच्चों का पेट पालने के लिए मां बन गई लुटेरन
  • झारखंड में Lockdown की अफवाह फैलाने के मामले में WhatsApp Group Admin से होगी पूछताछ
झारखंड


पारा शिक्षक कोटे को लेकर दायर LPA पर हुई सुनवाई

अगले सप्ताह इस मामले में हाइकोर्ट फैसला दे सकती है
पारा शिक्षक कोटे को लेकर दायर LPA पर हुई सुनवाई
न्यूज11 भारत 

 

रांची: माध्यमिक शिक्षक नियुक्ति में पारा कोटे को लेकर दायर एलपीए पर हाई कोर्ट में सुनवाई हुई. मामले में वादी की ओर से वरीय अधिवक्ता आरएन सहाय ने अदालत को बताया कि 2015 में माध्यमिक शिक्षक नियुक्ति में 50 प्रतिशत पारा शिक्षकों के लिए आरक्षित था. लेकिन कई पारा शिक्षकों ने पारा शिक्षक कैटेगरी में अप्लाई नहीं करते हुए नॉन पारा शिक्षक कैटगरी अप्लाई कर दिया, लेकिन परीक्षा में सफल होने के बाद जिला शिक्षा पदाधिकार ने उनकी कॉउंसलिंग करने से मना कर दिया. 

 


 

जिला शिक्षा पदाधिकारी का तर्क था कि पारा शिक्षक होते हुए नॉन पारा शिक्षक कैटेगरी में क्यों आवेदन किया इसलिए आपको पारा शिक्षक कैटेगरी का लाभ नहीं मिलेगा. इसके विरोध में सफल पारा शिक्षकों ने हाईकोर्ट में रीट याचिका दायर कर दी, जिसे अदालत ने खारिज कर दिया. इसके बाद एलपीए दायर की गई. जिसपर कोर्ट ने कहा कि जब विज्ञापन में किसी तरह की मनाही नहीं थी तो पारा शिक्षक नॉन पारा शिक्षक कैटिगरी में अप्लाई कर सकते थे. इसपर राज्य सरकार ने कहा कि याचिका दायर करने वाले जो पारा शिक्षक नॉन पारा शिक्षक कैटेगरी में सफल हुए हैं, उनकी सबकी काउंसिलिंग होगी. इस पर वादी के अधिवक्ता ने कोर्ट से मांग करते हुए कहा कि नॉन पारा शिक्षक कैटेगिरी में सफल होने वाले सभी पारा शिक्षकों की काउंसिलिंग होनी चाहिए. चाहे उन्होंने याचिका दायर की हो या नहीं. मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है. अगले सप्ताह इस मामले में हाइकोर्ट फैसला दे सकता है.

 
अधिक खबरें
रांची के नामकुम में हुई जाली जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र निर्गत
दिसम्बर 07, 2021 | 07 Dec 2021 | 4:10 PM

रांची: राजधानी के सदर अस्पताल में फर्जी जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र निर्गत होने के मामले में जांच जारी है. 29 प्रमाण फर्जी प्रमाण पत्र जारी हुए थे. इधर, रांची के ही नामकुम में भी फर्जी जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र निर्गत किया गया है. नामकुम बीडीओ की ओर से नामकुम थाना को इसकी लिखित शिकायत की गई है.

5 दिन में 408 छात्रों को मिला जॉब ऑफर, 54 लाख तक का पैकेज
दिसम्बर 07, 2021 | 07 Dec 2021 | 3:46 PM

रांची : इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, आईआईटी व इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ माइंस, आईआईएम के 557 छात्रों को जॉब ऑफर मिला है. वहीं संस्थान के छात्रों को न्यूनतम पैकेज 10 लाख और अधिकतम 54 लाख रुपये से अधिक का पैकेज मिला है. वर्ष 2021—22 का शैक्षणिक सत्र छात्रों के लिए शानदार रहा.

पीएम की दो-टूक: सांसद अनुशासन में रहें, खुद को बदलें, नहीं तो हम बदलाव करेंगे
दिसम्बर 07, 2021 | 07 Dec 2021 | 3:45 PM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांसदों को नसीहत दी है. दो-टूक में कहा है सांसद खुद को बदले, नहीं तो हम बदलाव करेंगे. सदन से गायब रहने वाले सांसदों को पीएम ने कहा अनुशासन में रहें, समय से आएं और समय पर ही सदन में बोलें. जीवन में सांसद गंभीरता लाएं, बच्चों की तरह बर्ताव न करें. उक्त बातें पीएम ने भारतीय जनता पाटी की पार्लियांमेंटरी पार्टी मीटिंग में कही.

फर्जी नंबर प्लेट और दस्तावेज के सहारे कोयला चोरी के मामले में सीआईडी ने बंद किया केस
दिसम्बर 07, 2021 | 07 Dec 2021 | 3:35 PM

रामगढ़ जिला के मांडू इलाके में वर्ष 2011 में ट्रक में फर्जी नंबर और दस्तावेज का इस्तेमाल कर कोयला चोरी होने की मामले की जांच सीआईडी के द्वारा की जा रही थी. सीआईडी को इस मामले में कोई साक्ष्य नहीं मिल पाया. इस वजह से सीआईडी ने केस को बंद कर दिया है. सीआईडी के द्वारा पिछले कई सालों से इस मामले की जांच की जा रही थी.

चहारदीवारी नहीं हटने पर हाई कोर्ट ने लगाई SSP को फटकार
दिसम्बर 07, 2021 | 07 Dec 2021 | 3:20 PM

हाईकोर्ट ने डोरंडा के गौरीशंकर नगर में रहने वाले वकील अमरेंद्र प्रधान की याचिका पर सुनवाई करते अदालत ने मंगलवार को रांची एसएसपी को फटकार लगाई. जस्टिस एसे के द्विवेदी की अदालत ने कहा कि शिकायत के बाद भी पुलिस ने वकील के घर के पास हो रही चहारदीवारी का निर्माण कार्य बंद नहीं करवाया.