Saturday, Oct 23 2021 | Time 11:13 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • गिरिडीह : अनियंत्रित होकर पुल से टकराया स्कॉर्पियो, एक की मौत दो गंभीर
  • गिरिडीह : अनियंत्रित होकर पुल से टकराया स्कॉर्पियो, एक की मौत दो गंभीर
  • NEET PG Counselling 2021: NEET PG काउंसलिंग का शेड्यूल जारी, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन
  • NEET PG Counselling 2021: NEET PG काउंसलिंग का शेड्यूल जारी, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
राजनीति


GST काउंसिल की 45वीं बैठक: Swiggy,Zomato से खाना मंगाना पड़ा महंगा, ये चीजें हुईं सस्ती

कृषि पशुपालन एवं सहकारिता मंत्री ने 1544 करोड़ जीएसटी मुआवजा की मांग की
GST काउंसिल की 45वीं बैठक: Swiggy,Zomato से खाना मंगाना पड़ा महंगा, ये चीजें हुईं सस्ती

न्यूज11 भारत/डेस्क    


वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में जीएसटी काउंसिल की 45वीं बैठक हुई.मिली जानकारी के अनुसार, फूड डिलिवरी एप्स को 5 फीसदी जीसएटी के दायरे में लाने की सिफारिशों को मान लिया गया है. ऐसे में Swiggy, Zomato आदि से खाना मंगाना महंगा पड़ सकता है. सूत्रों का कहना है कि Swiggy, Zomato पर 5 फीसदी जीएसटी लगेगा. वहीं, कार्बोनेटिड फ्रूट ड्रिंक, जूस पर 28 फीसदी +12 फीसदी जीएसटी लगेगा. ये फैसले 1 जनवरी 2022 से लागू होंगे.


ये चीजें हुई सस्ती


(1) कोरोना से जुड़ी दवाओं पर जीएसटी छूट 31 दिंसबर 2021 तक जारी रहेगी. वस्तु एवं सेवा कर (GST) काउंसिल की 44वीं बैठक में ब्लैक फंगस की दवाओं पर टैक्स को खत्म करने का फैसला लिया गया था.इसके अलावा कोरोना से जुड़ी दवाओं और एंबुलेंस समेत अन्य उपकरणों पर भी टैक्स की दरों में कटौती की गई थी. बैठक में कोविड की वैक्सीन पर 5 फीसदगी GST को जारी रखने का फैसला किया गया है. GST दरों में यह कटौती दिसंबर 2021 तक लागू रहेगी.


(2) बायोडीज़ल पर जीएसटी 12 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया है.


(3) आयरन, कॉपर, जिंक, एल्यूमीनियम पर भी GST बढ़ गई है.


इन पर भी टैक्स घटाया


ऑक्सीमीटर पर 12% से घटाकर 5% किया था.


हैंड सैनिटाइजर पर 18% से घटाकर 5% टैक्स.


वेंटिलेटर पर 12% से घटाकर 5% किया था.


रेमडेसिविर पर 12% से 5% किया था.


मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन पर 12% से घटाकर 5% है.


पल्स ऑक्सीमीटर पर 12% से घटाकर 5% टैक्स किया है.


ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पर टैक्स की दर को 12% से घटाकर 5% किया है.


इलेक्ट्रिक फर्नेसेज पर टैक्स को 12% से घटाकर 5% किया है.


तापमान मापने के यंत्र पर 12% से घटाकर 5% टैक्स किया है.


हाई-फ्लो नेजल कैनुला डिवाइस पर टैक्स को 12% से घटाकर 5% किया है.


हेपारीन दवा पर टैक्स 12% से घटाकर 5% किया है.


कोविड टेस्टिंग किट पर 12% के बजाए 5% टैक्स किया है.


GST से लगातार बढ़ रही है सरकारों की कमाई


वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि अगस्त 2021 में सकल जीएसटी रेवेन्यू 1,12,020 करोड़ रुपये है, जिसमें केंद्रीय जीएसटी (CGST) के 20,522 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी (SGST) के 26,605 करोड़ रुपये, इंटीग्रेटेड जीएसटी के 56,247 करोड़ रुपये (माल के आयात पर जमा 26,884 करोड़ रुपये सहित) और उपकर (सेस) के 8,646 करोड़ रुपये (माल के इम्पोर्ट पर जमा 646 करोड़ रुपये सहित) हैं. हालांकि, अगस्त में जुटाई गई राशि, जुलाई 2021 के 1.16 लाख करोड़ रुपये से कम है.


अगस्त 2021 में जीएसटी राजस्व, पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले 30 प्रतिशत ज्यादा है. जीएसटी कलेक्शन अगस्त 2020 में 86,449 करोड़ रुपये था. मंत्रालय ने कहा कि जीएसटी कलेक्शन अगस्त 2019 में 98,202 करोड़ रुपये था. इस तरह अगस्त 2019 के मुकाबले इस साल अगस्त में कलेक्शन 14 प्रतिशत ज्यादा रहा.


1544 करोड़ जीएसटी मुआवजा की मांग की


झारखंड सरकार के कृषि पशुपालन एवं सहकारिता मंत्री बादल ने लखनऊ में आयोजित जीएसटी काउंसिल की 45 वीं बैठक में भाग लिया. उन्होंने कहा कि राज्यों का जीएसटी मुआवजा अवधि  जून 2022 में खत्म हो रहा है उसे बढ़ाया जाए ,वही पब्लिक अंडरटेकिंग कंपनी पर बकाए की मांग रखी गई. बादल ने कहा कि भारत सरकार केंद्रीय संस्थानों से राज्य को मिलने वाले बकाया राशि को पेंडिंग रखती है, लेकिन डीवीसी झारखंड राज्य को बिना बताए बिजली काट देती है, और बकाए भुगतान के लिए नोटिस भी करती है. जो कहीं से उचित नहीं है.


डीवीसी के बिजली काटने और नोटिस देने के खिलाफ उन्होंने काउंसिल में जोरदार तरीके से विरोध किया. कोयला के जीएसटी स्लैब में बदलाव की मांग राज्य हित में करने की बातें कहीं. उन्होंने राज्य के जीएसटी मुआवजा के पैसे 1544 करोड़ की मांग की है, रॉयल्टी के रूप में 12725 करोड़ जो झारखंड को मिलना है. उसकी ओर भी माननीय केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी का ध्यान आकृष्ट कराया. 


रेवेन्यू लॉसेस की क्षतिपूर्ति जल्द मिले


उन्होंने कहा कि राज्यों के राजस्व गत स्थितियां और राजकोषीय जरूरतों को सकारात्मकता और सहयोग के भाव से देखे जाने की आवश्यकता है. कोविड काल मे मेडिसिन और उपकरणों में टैक्स की जो रियायत दी गई है. उसकी सराहना हम करते हैं. बादल ने बैठक के दौरान कहा कि किसी भी राज्य को समय पर रेवेन्यू लॉसेस की क्षतिपूर्ति जल्द मिले इसका ख्याल सेंटर रखें. खपत आधारित जीएसटी कर प्रणाली में झारखंड को कर राजस्व का नुकसान हो रहा है. इसे देखने की आवश्यकता है. इस बैठक में सचिव वाणिज्य कर विभाग भी मौजूद थे.



 


 


 

अधिक खबरें
पंचायत चुनाव: इतने वोटर प्रत्याशियों के किस्मत पर लगाएंगे जीत-हार की मुहर
अक्तूबर 22, 2021 | 22 Oct 2021 | 2:50 PM

झारखंड में पंचायत चुनाव की तारीखों की घोषणा जल्द होगी. इसको लेकर राजधानी में भी प्रशासनिक तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. दूसरी ओर चुनाव लड़ने की तैयारी में संभावित प्रत्याशी भी जुट चुके हैं. बस अधिसूचना का इंतजार है.

नागाबाबा वेजिटेबल मार्केट में पानी जमा देख भड़की मेयर, ठेकेदार को लगाई फटकार
अक्तूबर 21, 2021 | 21 Oct 2021 | 1:59 PM

राजभवन के पास करीब 10.86 करोड़ की लागत से बनकर तैयार अंडर ग्राउंड नागाबाबा खटाल वेजिटेबल मार्केट का निरीक्षण करने मेयर पहुंची. निरीक्षण के दौरान मेयर ने मार्केट के निर्माण में कई कमियां पाईं. मौके पर मार्केट का निर्माण करने वाले ठेकेदार अवधेश सिंह को जल्द कमियां दूर कर काम पूरा करने का निर्देश दिया गया.

पंचायत चुनाव : रांची में जिला परिषद की 28 सीटें रिजर्व, 8 में सामान्य प्रत्याशी लड़ेंगे चुनाव
अक्तूबर 21, 2021 | 21 Oct 2021 | 1:49 PM

राजधानी सहित राज्य भर में पंचायत चुनाव की तैयारी जोरों पर है. इसके तहत रांची के 18 प्रखंडों में 36 जिला परिषद सदस्य का चुनाव होना है. जिसकी आरक्षण सूची डीसी सह जिला दंडाधिकारी छवि रंजन की ओर से जारी कर दी गई है.

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते कीमतों पर Action में आएं PM मोदी, लिमिट हो सकती हैं कीमतें
अक्तूबर 21, 2021 | 21 Oct 2021 | 12:03 PM

पेट्रोल-डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही है. जिसे लेकर विपक्षी समेत जनता भी आए दिन केंद्र के विरोध में प्रदर्शन करते हैं. आखिरकार, इस मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरकत में आए हैं.

भारत ने LAC पर बढ़ाई तैनाती, बोफोर्स तोपों से सेना देगी चीन को जवाब
अक्तूबर 20, 2021 | 20 Oct 2021 | 9:40 PM

चीन की आक्रामकता का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारतीय सेना भी पूरी तरह से तैयार है. एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय सेना ने अरुणाचल में चीन से लगी सीमाओं के पास तैनाती बढ़ा दी है.