Wednesday, Aug 10 2022 | Time 04:46 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
झारखंड


स्वास्थ्य संबंधित जानकारी के लिए कॉल करें 104

वर्ष 2021 में 104 पर आए सबसे ज्यादा कॉल
स्वास्थ्य संबंधित जानकारी के लिए कॉल करें 104

रांची: राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन झारखण्ड के माध्यम से जनता को उचित चिकित्सीय परामर्श उपलब्ध करवाने के लिए टोल फ्री नंबर “104 – हेल्थ हेल्पलाइन” सेवा प्रारंभ की गई है. आम नागरिक 24 घण्टे कहीं से भी इस नंबर पर फोन करके डॉक्टर की सलाह, काउंसलिंग, स्वास्थ्य केंद्रों की जानकारी और आयुष्मान भारत योजना से होने वाली परेशानियों से संबंधित शिकायत दर्ज करा सकते हैं. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं व योजनाओं का लाभ लेने, विभिन्न रोगों के बारे में जानने, दवाओं की जानकारी लेने और तंबाकू जैसे व्यसनों से मुक्ति दिलाने में “104 – हेल्थ हेल्पलाइन” नागरिकों के लिए सर्वाधिक कारगर व प्रभावी साबित हो रहा है. वर्ष 2021 में अब तक 13 लाख 82 हजार लोगों ने 104 डायल नम्बर पर कॉल कर स्वास्थ्य लाभ लिया है. 


“104 – हेल्थ हेल्पलाइन” स्थापित करने का उद्देश्य


● सेवा शक्ति और क्षमता का विस्तार करना.


● उच्च स्तर की स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराना.


● ज्यादा से ज्यादा लोगों तक बेहतर सेवाएं पहुंचाना.


● अन्य सेवाओं और संबंधित विभागों के साथ एकीकरण.


● समान अग्रिम सुविधाओं और सेवाओं के साथ एकीकरण.


● सेवाओं की बेहतरी के लिए प्रौद्योगिकियों का संवर्धन.


● समय के साथ सेवाओं को सुनिश्चित करना.


टोल फ्री नंबर “104 – हेल्थ हेल्पलाइन” सेवा प्रदान करता है :


● समय पर उपयुक्त चिकित्सा सेवा.


● स्वास्थ्य से सम्बंधित उचित सूचना व जानकारी.


● टोल फ्री नंबर 104″ के माध्यम से जनता को सलाह प्रदान करना.


“104 नि:शुल्क नंबर पर फोन कर राज्य का कोई भी नागरिक उपरोक्त उल्लेखित सेवायें प्राप्त कर सकता है :


● विशेषज्ञ चिकित्सक परामर्श


● चिकित्सा सहायक (पैरामेडिक) एवं मनोरोग परामर्शदाता द्वारा स्वास्थ्य सम्बंधित परेशानियों के निदान हेतु निशुल्क प्रदान की जाती हैं.


“104 – हेल्थ हेल्पलाइन” पर निम्नलिखित सेवाएं नि:शुल्क प्रदान की जाती हैं :


● विशेषज्ञ चिकित्सक द्वारा : सर्दी, खांसी, बुखार, चर्मरोग और आहार आदि.


● चिकित्सा सहायक (पैरामेडिक) द्वारा :अस्पताल, ब्लड बैंक, स्वास्थ्य सम्बंधित योजनाओं एवं कार्यक्रम के बारे में जानकारियां .


● मनोरोग परामर्शदाता द्वारा : तनाव, चिंता, युवा अवस्था सम्बन्धित परेशानियां, संक्रमित बीमारियों में मनोव्यव्हार एवं छात्रों को परीक्षा समय में तनाव मुक्त रखने हेतु उचित परामर्श आदि.


● स्वास्थ्य सेवाओं एवं सुविधाओं संबंधित शिकायत एवं सुझाव हेतु एक उपयुक्त माध्यम / प्रणाली.


डॉक्टरों से मिलेगी सलाह और इलाज


निःशुल्क नंबर 104 डायल कर मरीज डॉक्टरों से सलाह भी ले सकते है और जरूरत पड़ने पर डॉक्टर उन्हें इलाज भी बताते हैं. इसके अलावा अगर बीमारी सामान्य हुई तो मरीज को दवा के बारे में बताया जाता है और डॉक्टर मरीज के मोबाइल नंबर पर दवा का नाम और डोज लिखकर भेजते हैं. इस एसएमएस के आधार पर वह प्रदेश के किसी भी सरकारी अस्पताल या निजी मेडिकल स्टोर्स पर जाकर दवा ले सकता है. इसके अतरिक्त इस सेवा के माध्यम से अपातकालीन 108 एम्बूलेन्स सेवा का संचालन किया जा रहा है. “104 हेल्थ हेल्पलाइन ” में चिकित्सक, परामर्शदाता एवं हेल्थ एडवाईजरी ऑफिसर (पैरामेडिकल) द्वारा सेवाएँ दी जा रही हैं. इससे स्वास्थ्य से जुड़े़ सभी मुद्दों पर एकीकृत रूप से सलाह ली जा सकेगी. साथ ही स्वास्थ्य से संबंधित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी आमजन को मिल सकेगी.


साल 2021 में सबसे ज्यादा लोगों ने लिया लाभ 


टोल फ्री नम्बर 104 पर कॉल कर के 2021 में लोगों ने सबसे ज्यादा लाभ लिया. 13 लाख 82 हजार 1 लोगों ने इस वर्ष कॉल किया. विदित हो कि वर्ष 2021 में वैश्विक महामारी कोरोना के दूसरे वेव की विभीषिका से लोग परेशान थे. बाहर स्वास्थ्य लाभ लेने से कोरोना का भी खतरा था. ऐसे में लोगों ने घर में रहकर स्वास्थ्य परामर्श लिया. वहीं 2014 में 1 लाख 41 हजार 34, 2015 में 3 लाख 24 हजार 4 सौ 36, 2016 में 5 लाख 16 हजार 9 सौ 17, 2017 में 5 लाख 94 हजार 9 सौ 11, 2018 में 5 लाख 72 हजार 6 सौ 92, 2019 में 5 लाख 31 हजार 1 सौ 22, 2020 में 5 लाख 11 हजार 3 सौ 81 और 2021 में 13 लाख 82 हजार 01 लोगों ने स्वास्थ्य लाभ लिया.


अगस्त 2021 में आये सबसे ज्यादा कॉल 


104 पर इस वर्ष जनवरी में 25 हजार 81, फरवरी में 39165, मार्च में 38125, अप्रैल में 67667,मई में 87731, जून 161828, जुलाई में 171354, अगस्त 221222, सितम्बर 209486, अक्टूबर 177930 और नवम्बर में 182412 कॉल आये. 


ग्रामीण ज्यादा ले रहे हैं लाभ


104 डायल सुविधा का लाभ ग्रामीण ज्यादा ले रहे हैं. 2017 में 40.61 फीसदी कॉल शहरी क्षेत्र से और 59.39 फीसदी कॉल शहरी क्षेत्र से आये. 2018 में 38.55 फीसदी कॉल शहरी और 61.45 फीसदी कॉल ग्रामीण क्षेत्र से आये. 2019 में 37.75 शहरी से और 61.73 फीसदी कॉल ग्रामीण इलाके से आये. 2020 में 34.02 फीसदी कॉल शहरी और 65.98 फीसदी कॉल ग्रामीण क्षेत्र से कॉल आये. 2021 में 30 फीसदी कॉल शहरी क्षेत्र से और 70 फीसदी कॉल ग्रामीण इलाके से आये.


पुरुष कॉल में आगे


104 डायलिंग में पुरुष आगे हैं. कॉल करने वालों में 80 फीसदी पुरुष हैं तो 20 प्रतिशत महिलाएं.


 लातेहार से सबसे ज्यादा कॉल, पाकुड़ सबसे पीछे


वर्ष 2021 में लातेहार जिले के लोगों सबसे ज्यादा 104 डायलिंग का लाभ लिया. 309351 लोगों ने लातेहार से, बोकारो से 215845, रांची से 131601,गिरिडीह से 92544, धनबाद से 83077, हजारीबाग से 73206, चतरा से 62869, देवघर से 62587, पूर्वी सिंहभूम से 56421, पलामू से 41796, कोडरमा से 39812, रामगढ़ से 28827, जामताड़ा से 24524, गढ़वा से 22778, दुमका से 21857, खूंटी से 21438, गोड्डा से 20387, सिमडेगा से 17000, सरायकेला से 16255, गुमला से 15565, साहेबगंज से 14265, लोहरदगा से 13970, पश्चिमी सिंहभूम से 10845 और पाकुड़ से 5833 लोगों ने 104 डायलिंग का लाभ लिया.


ये भी पढ़ें:- 'मानसिक स्वास्थ्य की पहचान पर जोर देने की है आवश्यकता'

अधिक खबरें
आदिवासी बचाओ, जंगल, जमीन, जीव -जंतु सब बचेंगे, मैं आदिवासी हूं, मेरी सबसे बड़ी पहचान: सीएम
अगस्त 09, 2022 | 09 Aug 2022 | 6:55 PM

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि विश्व आदिवासी दिवस के शुभ अवसर पर सर्वप्रथम मैं बाबा तिलका मांझी, भगवान बिरसा मुंडा, सिद्धो-कान्हो, राणा पूंजा, तेलंगा खरिया, पोटो हो, फूलो-झानों, पा तोगान संगमा, जतरा भगत, कोमारम भीम, भीमा नायक, कंटा भील, बुधु भगत जैसे वीर नायकों को नमन करता हूँ.

चीन में मिले नये वायरस से 35 लोग संक्रमित, जानिए क्या है लक्षण
अगस्त 09, 2022 | 09 Aug 2022 | 5:45 PM

कोरोना अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ था कि चीन में एक और नया वायरस मिला गया है. ताइवान सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, चीन में Zoonotic Langya नाम का एक नया वायरस मिला है. इससे करीब 35 लोग भी संक्रमित पाए गये हैं.

नीतीश कुमार ने सौंपा इस्तीफा, 164 विधायकों के समर्थन का दावा
अगस्त 09, 2022 | 09 Aug 2022 | 4:08 AM

बिहार में एनडीए गठबंधन छोड़ते हुए नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मुलाकात करके सीएम पद से इस्तीफा दिया. साथ ही उन्होंने 160 विधायकों के समर्थन के साथ नई सरकार बनाने का दावा भी पेश किया. नीतीश कुमार महागठबंधन के साथ फिर बिहार में नई सरकार बनाने जा रहे हैं.

आखिर पत्नी ने ही क्यों निकला विज्ञापन, मेरे पति के लिए चाहिए और तीन लड़कियां
अगस्त 09, 2022 | 09 Aug 2022 | 3:20 AM

लड़की ढूंढने माता-पिता का काम होता है. लेकिन आज हम ऐसी खबर पर बात करने वाले जिसमे माता-पिता लड़की नहीं खेज रहे है. दरअसल, उनकी पत्नी ही लड़की खेज रही है अपने पती के लिए. नियाभर से अक्सर शादी और रिलेशनशिप के कई अजीबोगरीब मामले सामने आ जाते हैं.

सीसीएल कर्मी अमित बक्शी की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस
अगस्त 09, 2022 | 09 Aug 2022 | 1:12 PM

सेंट्रल सौंदा में सोमवार की देर रात सीसीएल कर्मी अमित बक्शी की अज्ञात अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी. मिली जानकारी के अनुसार, सोमवार रात 12 बजे अमित बक्शी अपने बाइक पर जागरण कार्यक्रम से घर लौट रहे थे.