Saturday, Oct 23 2021 | Time 09:29 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • NEET PG Counselling 2021: NEET PG काउंसलिंग का शेड्यूल जारी, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन
  • NEET PG Counselling 2021: NEET PG काउंसलिंग का शेड्यूल जारी, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
  • Corona Update in Jharkhand: कोरोना के बढ़ते आंकड़े फिर कर रहे ‘इशारे’, पढ़ें पूरी खबर
स्वास्थ्य


Covid 19: केंद्र सरकार इस वैक्सीन की खरीदने की कर रही तैयारी, जानिए कितना है प्रभावकारी

Covid 19: केंद्र सरकार इस वैक्सीन की खरीदने की कर रही तैयारी, जानिए कितना है प्रभावकारी

नई दिल्ली: केंद्र सरकार इस महीने कोविड के खिलाफ दुनिया की पहली डीएनए वैक्सीन जेडवाईसीओवी-डी (जायकोव डी) जारी करने के लिए पूरी तरह तैयार है. एक सूत्र ने कहा कि सरकार का लक्ष्य इसके लिए अक्टूबर में कुल 60 लाख टीके खरीदने का है.सूत्र ने कहा कि सरकार अक्टूबर में 28 करोड़ से अधिक टीकों की खरीद करेगी. इसमें 22 करोड़ कोविशील्ड वैक्सीन शॉट्स, छह करोड़ कोवैक्सीन और 60 लाख डीएनए वैक्सीन शामिल हैं.


इतना है प्रभावकारी 


जेडवाईसीओवी-डी यानी जायकोव डी वैक्सीन को अगस्त 2020 में भारत के नियामक प्राधिकरण द्वारा अनुमोदित किया गया था. तीन-खुराक वाली डीएनए निर्मित वैक्सीन में कोविड के खिलाफ 66.6 प्रतिशत प्रभावकारिता है. सुई के बजाय, इसमें प्रयोगशाला द्वारा उत्पादित डीएनए के साथ त्वचा को इंजेक्ट करने के लिए एक ऐप्लिकेटर का उपयोग किया जाएगा.जेडवाईसीओवी-डी वैक्सीन अक्टूबर के पहले सप्ताह में रोलआउट होने वाली थी. 

 

इस तरह लगाई जाएगी  एप्लीकेटर 

 

वैक्सीन रोल आउट में देरी के बारे में पूछे जाने पर, नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वी. के. पॉल ने पिछले हफ्ते कहा था कि जायडस कैडिला वैक्सीन में पारंपरिक सिरिंज या सुई का उपयोग नहीं किया जाएगा.पाल ने गुरुवार को बताया था कि जायडस कैडिला की वैक्सीन लोगों को एक एप्लिकेटर के जरिए लगाई जाएगी. यह एप्लिकेटर भारत में पहली बार उपयोग में लाया जाएगा. डॉ. पाल ने कहा कि जायडस कैडिला वैक्सीन पारंपरिक सिरिंज या सुई का उपयोग करके नहीं बल्कि एक एप्लिकेटर के जरिए लगाई जाती है. वैक्सीन की उपलब्धता पर पाल ने कहा कि राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के तहत जायडस कैडिला की वैक्सीन को जल्द ही पेश करने की तैयारी चल रही है. 

 

इस आयु वर्ग को दिया जाएगा वैक्सीन 

 

पॉल ने कहा था, "हम प्रशिक्षकों पर काम कर रहे हैं. आवेदकों के उपयोग पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. हम वैक्सीन के रसद मुद्दों को भी सुलझा रहे हैं और जल्द ही यह कोविड-19 टीकाकरण अभियान का हिस्सा होगी."जेडवाईसीओवी-डी टीका 12-18 वर्ष के आयु वर्ग को दिया जाएगा.

 

इतना आंकड़ा किया है पार 

 

इस बीच, पिछले 24 घंटों में 50,63,845 वैक्सीन खुराक के साथ भारत का टीकाकरण कवरेज बुधवार सुबह तक 96 करोड़ का आंकड़ा पार कर गया है. भारत बहुत जल्द 100 करोड़ टीकों का आंकड़ा हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है. सूत्र ने कहा कि इसे 2 से 3 दिनों के भीतर हासिल किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि सभी मंत्री और सांसद अपने-अपने क्षेत्रों में इस उपलब्धि का प्रचार-प्रसार करेंगे. हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, 8.43 करोड़ से अधिक शेष और अप्रयुक्त कोविड वैक्सीन खुराक अभी भी राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के पास उपलब्ध हैं.

 

अधिक खबरें
RIMS: Medical Waste हार्ट के मरीजों के लिए बन रहा परेशानी का सबब
अक्तूबर 21, 2021 | 21 Oct 2021 | 8:28 PM

राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट में लापरवाही बरती जा रही है. मेडिकल वेस्ट को परिसर में ही फेंका जा रहा है. रिम्स के कुछ सफाईकर्मी इसे खुले में छोड़ कर जा रहे हैं. इससे संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है, जबकि प्रबंधन द्वारा सफाई के नाम पर हर महीने लाखों रुपए फूंके जा रहे हैं.

देश के साथ झारखंड में भी जश्न, भारत में कोरोना टीकाकरण 100 करोड़ के पार, राज्य में 1.91 करोड़
अक्तूबर 21, 2021 | 21 Oct 2021 | 12:43 PM

पूरे देश में जश्न का महौल है. भारत ने 100 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार कर लिया है. वहीं झारखंड में भी 1 करोड़ 91 लाख वैक्सीनेशन का डोज पूरा कर लिया गया है, जो राज्य के कुल आबादी का 59 फीसदी है

रिम्स की कुव्यवस्था : इलाज के दौरान मरीज की मौत, परिजन लगा रहें लापरवाही का आरोप
अक्तूबर 21, 2021 | 21 Oct 2021 | 10:42 AM

राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स से एक फिर लापरवाही की खबर सामने आ रही है, जहां इलाज के दौरान मरीज प्रदीप मेहता की मौत हो गई है. परिजनों ने अस्पताल पर लापरवाही का गंभीर आरोप लगाया है.

RIMS में जान से बढ़कर सिस्टम.. जानें पूरा मामला
अक्तूबर 20, 2021 | 20 Oct 2021 | 6:57 PM

रिम्स में दूरदराज से इलाज की उम्मीद लेकर आने वाले मरीजों पर डॉक्टर को बिल्कुल भी तरस नहीं आ रहा है. बीमार मरीजों के इलाज के लिए भागदौड़ करने वाले परिजनों को कुछ डॉक्टर परेशान करने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं. डॉक्टर के ऐसे ही रवैया का शिकार हुए है गिरीडीह के रहने वाले बेंखलाल प्रसाद.

RIMS: 180 रुपए का अल्ट्रासाउंड 4000 में, जाने क्यों..
अक्तूबर 20, 2021 | 20 Oct 2021 | 4:27 AM

रिम्स में पिछले एक महीने से अल्ट्रासाउंड मशीन खराब पड़ी है. इस कारण मरीजों को परेशान होना पड़ रहा है. अस्पताल में रोजाना अल्ट्रासाउंड के लिए करीब 100 मरीज पहुंचते हैं. अल्ट्रासाउंड मशीन खराब होने की वजह से मरीजों को मजबूरन निजी केंद्रों पर अल्ट्रासाउंड कराना पड़ रहा है. लैब में मौजूद कर्मचारियों ने बताया कि अल्ट्रासाउंड मशीन को बनने में अभी समय लगेगा.