Thursday, Jan 20 2022 | Time 17:35 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • उत्तराखंड के 70 विधानसभा सीटों के लिए भाजपा की पहली सूची जारी
  • उत्तराखंड के 70 विधानसभा सीटों के लिए भाजपा की पहली सूची जारी
  • उत्तराखंड के 70 विधानसभा सीटों के लिए भाजपा की पहली सूची जारी
  • 24 जनवरी से खुलेंगे इस राज्य के प्री-प्राइमरी से लेकर 12वीं तक के स्कूल
  • 24 जनवरी से खुलेंगे इस राज्य के प्री-प्राइमरी से लेकर 12वीं तक के स्कूल
  • 24 जनवरी से खुलेंगे इस राज्य के प्री-प्राइमरी से लेकर 12वीं तक के स्कूल
  • टेरर फंडिंग मामले में NIA लगातार बढ़ा रहा महेश अग्रवाल पर दबिश
  • टेरर फंडिंग मामले में NIA लगातार बढ़ा रहा महेश अग्रवाल पर दबिश
  • मॉब लिंचिंग मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद बड़ा खुलासा
  • मॉब लिंचिंग मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद बड़ा खुलासा
  • मॉब लिंचिंग मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद बड़ा खुलासा
  • एक बार फिर गोड्डा कॉलेज की प्रोफेसर रजनी मुर्मू ने फेसबुक पोस्ट पर लिखा, कुछ लोग मेरे पीछे पड़े
  • एक बार फिर गोड्डा कॉलेज की प्रोफेसर रजनी मुर्मू ने फेसबुक पोस्ट पर लिखा, कुछ लोग मेरे पीछे पड़े
  • गुजरात से भारी मात्रा में पकड़ा गया विदेशी गांजा, कार के कबाड़ में था छुपाया
  • गुजरात से भारी मात्रा में पकड़ा गया विदेशी गांजा, कार के कबाड़ में था छुपाया
NEWS11 स्पेशल


फर्जी नंबर प्लेट और दस्तावेज के सहारे कोयला चोरी के मामले में सीआईडी ने बंद किया केस

फर्जी नंबर प्लेट और दस्तावेज के सहारे कोयला चोरी के मामले में सीआईडी ने बंद किया केस
न्यूज़11 भारत




रांची: रामगढ़ जिला के मांडू इलाके में वर्ष 2011 में ट्रक में फर्जी नंबर और दस्तावेज का इस्तेमाल कर कोयला चोरी होने की मामले की जांच सीआईडी के द्वारा की जा रही थी. सीआईडी को इस मामले में कोई साक्ष्य नहीं मिल पाया. इस वजह से सीआईडी ने केस को बंद कर दिया है. सीआईडी के द्वारा पिछले कई सालों से इस मामले की जांच की जा रही थी. दर्जनों लोगों का बयान लिया गया लेकिन इस मामले में कुछ भी नई चीज सामने नहीं आई. इस मामले में वर्ष 2011 में मांडू थाना में तैनात पुलिसकर्मी सत्यनारायण ठाकुर के बयान पर प्राथमिकी दर्ज हुई थी.

 


 

पुलिसकर्मी के शिकायतकर्ता बनने के बाद भी पुलिस इस मामले में साक्ष्य नहीं जमा कर पाई. लेकिन सीआईडी के पास यह मामला पहुंचा तो इसमें किसी प्रकार का कोई साक्ष्य नहीं मिल पाया. इस मामले में ओम प्रकाश समेत कई लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई थी ओम प्रकाश की मौत हो चुकी है और बाकी के अन्य आरोपियों के खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं मिल पाया है. कुछ दिन पहले भी सीआईडी ने पाकुड जिला में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद करने के मामले में केस बंद किया था. इस मामले में भी सीआईडी को कोई साक्ष्य नहीं मिल पाया था.
अधिक खबरें
दुमका के 276 गांव के 22,283 हेक्टेयर खेतों में मसलिया-रानीश्वर मेगा लिफ्ट सिंचाई योजना से पहुंचेगा पानी
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 4:47 PM

झारखंड राज्य में पहली बार खेतों मं पाइपलाइन से सिंचाई के लिए प्रणाली विकसित होगी. इससे विशेषकर पहाड़ी एवं ऊंचाई वाले क्षेत्रों को सिंचाई आसान हो जाएगी. खेतों तक सिंचाई के लिए पाइप लाइन पहुंचेगा. लिफ्ट सिंचाई योजना को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन काफी गंभीर है.

उत्तराखंड के 70 विधानसभा सीटों के लिए भाजपा की पहली सूची जारी
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 4:18 PM

भाजपा ने आगामी उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए 70 में से 59 उम्मीदवारों की सूची जारी की. उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा से चुनाव लड़ेंगे. भाजपा के पूर्व सीएम रहे त्रिवेंद्र सिंह रावत ने चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की है.

24 जनवरी से खुलेंगे इस राज्य के प्री-प्राइमरी से लेकर 12वीं तक के स्कूल
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 3:58 AM

कोरोना के तीसरे लहर के कहर से पूरा देश त्रस्त है. कोरोना के मामले आये दिन बढ़ते ही जा रहे है. बीते कल पुरे देशभर में कोरोना के कुल 2 लाख 82 हज़ार 970 नए मामले रिकॉर्ड हुए है. कोरोना की हालात बेकाबू होने के कारण लोग बहुत ही चिंतित है. असम, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश समेत कई राज्यों में कोरोना के मामलों में भारी वृद्धि हो रही है.

JPSC: मुख्य परीक्षा में सफल होने के 5 प्रमुख टिप्स
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 1:51 PM

झारखंड पब्लिक सर्विस कमिशन, जेपीएससी की 7वीं से 10वीं संयुक्त सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा 28 से 30 जनवरी तक होगी. रांची में ही कुल 14 परीक्षा केंद्रों पर 4293 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे. विभिन्न सेवाओं के लिए कुल 252 पदों पर नियुक्ति के लिए चार वर्षों 2017, 2018, 2019 और 2020 के लिए प्रारंभिक परीक्षा एक साथ हुई थी.

मनरेगा से किए बागवानी से आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहे है झारखंड के किसान
जनवरी 20, 2022 | 20 Jan 2022 | 1:17 PM

मनरेगा के तहत किए गए बागवानी योजना से झारखंड के किसान विशेषकर महिला किसान आत्मनिर्भरता की ओर बढ़े हैं. इस योजना से अकुशल श्रमिकों के जीवन, आजीविका के लिए दीर्घकालीन टिकाऊ परिसंपत्ति का निर्माण हुआ हैं. इसको लेकर उषा मार्टिन यूनिवर्सिटी के प्रबंध निकाय प्रोफेसर डॉ अरविंद हंस और उनके नेतृत्व में अध्ययन कर रहे प्रेमशंकर सहित अन्य ने राज्य के गुमला व खूंटी जिला के पांच प्रखंडों में 130 लाभुकों के उपर सर्वे किया.