Monday, Jun 27 2022 | Time 07:11 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • बारिश से बाधित मैच में भारत ने आयरलैंड को 7 विकेट से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल किया
NEWS11 स्पेशल


कुलाधिपति रमेश बैस ने कहा विश्वविद्यालयों में खाली पड़े पदों को जल्द भरें

टेक्निकल यूनिवर्सिटी के वैधानिक प्रावधानों का निर्माण जल्द करने का निर्देश
कुलाधिपति रमेश बैस ने कहा विश्वविद्यालयों में खाली पड़े पदों को जल्द भरें
न्यूज11 भारत




रांची: कुलाधिपति रमेश बैस ने कहा कि छात्रहित में उच्च शिक्षा विभाग को सदा सक्रिय रहना चाहिये. उन्हें कहा कि शिक्षा विभाग को अपनी कार्यप्रणाली में गति लानी होगी. उन्हें संचिकाओं के आदान-प्रदान करने मात्र तक सीमित नहीं रहना चाहिये, बल्कि परिणाम व कार्यान्वयन के लिए निरंतर प्रयत्नशील रहना चाहिए. राज्यपाल विश्वविद्यालयों के विभिन्न समस्याओं के निदान हेतु किये जा रहे प्रयासों की समीक्षा कर रहे थे. बैठक में झारखंड लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष अमिताभ चौधरी, राज्यपाल के प्रधान सचिव डॉ  नितिन कुलकर्णी तथा उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित थे.

 

झारखंड प्रौद्यगिकी विश्वविद्यालय के वैधानिक निर्माण की अद्यतन स्थिति की समीक्षा के क्रम में राज्यपाल ने नाराजगी प्रकट करते हुए कहा कि स्टैच्यूट निर्माण की प्रक्रिया वर्ष 2017 से चल रही है और अब तक इसका निर्माण नहीं हुआ है.इतने वर्षों में निर्माण न होना बहुत ही गंभीर विषय है. बैठक में उच्च शिक्षा विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि वैधानिक प्रस्ताव का प्रारूप तैयार कर लिया गया है. वित्त विभाग की सहमति के लिए प्रेषित की गई है. उन्होंने उच्च शिक्षा विभाग को वित्त विभाग से समन्वय व संपर्क स्थापित करने हेतु निदेशित किया. बैठक में झारखंड प्रौद्यगिकी विश्वविद्यालय के लिए कुलपति की नियुक्ति की के संदर्भ में समीक्षा की. 

 

राज्यपाल ने शिक्षक प्रोन्नति की दिशा में वर्ष 2010 से 2018 तक के अवधि के लिए वैधानिक प्रक्रिया गठित करने के मामले की समीक्षा की. उन्होंने कहा है कि उच्च शिक्षा द्वारा अवगत कराया गया कि वित्त विभाग की सहमति प्राप्त करने हेतु संचिका वित्त विभाग को प्रेषित किया गया है. राज्यपाल ने विनोबा भावे विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर विभागों में शिक्षकों के 70 पद एवं डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय में शिक्षकों व शिक्षकेत्तर कर्मियों के पदों की स्वीकृति के संदर्भ में समीक्षा की. विभाग द्वारा बताया गया गया कि विनोबा भावे विश्वविद्यालय, हजारीबाग के अंतर्गत 19 स्नातकोत्तर विभागों में शिक्षकों के कुल 70 पदों (40 सहायक प्राध्यापक, 20 सह-प्राध्यापक एवं 10 प्राध्यापक) के लिए मंत्रिपरिषद की स्वीकृति प्राप्ति हेतु संलेख भेजी गई है.  डॉ श्यामा प्रासाद मुखर्जी विश्वविद्यालय के शिक्षकों के पदों के यूत्तिकरण के फलस्वरूप सहायक प्राध्यापक के 40 पद (20 सह-प्राध्यापक, 20 प्राध्यापक) की संचिका भी मंजूरी के लिए भेजी गयी है. साथ ही डॉ श्यामा प्रासाद मुखर्जी विश्वविद्यालय, रांची में शिक्ष्केत्तर कर्मियों के नये पदों के सृजन के प्रस्ताव पर वित्त विभाग द्वारा स्पष्टीकरण पूछा गया.  

 


 

राज्यपाल ने विश्वविद्यालयों में विश्वविद्यालय में दिव्यांगजनों के आरक्षण संबंधी विषय पर कहा कि इस संदर्भ में विभाग को यूनिट न मानकर विश्वविद्यालय को यूनिट माना जाय. निःशक्त व्यक्ति (दिवयांगजन) अधिकार अधिनियम, 2016 के तहत झारखंड सरकार के अधीन पदों एवं सेवाओं की रिक्तियों में एवं शैक्षणिक संस्थानों में नामांकन के लिए निःशक्तजनों को आरक्षण का दिया जाना चाहिए. उन्होंने झारखंड खुला विश्वविद्यालय के संचालन के लिए जगह के संदर्भ में भी समीक्षा की. उच्च शिक्षा विभाग द्वारा इस संदर्भ में अवगत कराया गया कि झारखंड प्रौद्यगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति सचिवालय भवन के द्वितीय तल पर स्थल चिन्हित की गई है. 

 

राज्यपाल ने सभी विश्वविद्यालयों में प्राध्यापकों तथा विश्वविद्यालय पदाधिकारियों की नियुक्ति की अद्यतन समीक्षा करते हुए कहा कि इतनी अधिक रिक्तियाँ (रांची विश्वविद्यालय, रांची में शिक्षकों के स्वीकृत पद 1032 के विरुद्ध 674 रिक्त्त पद, डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय में में शिक्षकों के स्वीकृत पद 166  के विरुद्ध 111 रिक्त्त पद, कोल्हान विश्वविद्यालय, चाईबासा में शिक्षकों के स्वीकृत पद 994 के विरुद्ध 719 रिक्त्त पद, जमशेदपुर महिला विश्वविद्यालय, जमशेपुर में शिक्षकों के स्वीकृत पद 60 के विरुद्ध 30 रिक्त्त पद, विनोबा भावे विश्वविद्यालय, हजारीबाग में शिक्षकों के स्वीकृत पद 597 के विरुद्ध 343 रिक्त्त पद, विनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय, धनबाद में शिक्षकों के स्वीकृत पद 651 के विरुद्ध 414 रिक्त्त पद, नीलांबर-पीताम्बर विश्वविद्यालय, पलामू में शिक्षकों के स्वीकृत पद 383 के विरुद्ध 279 रिक्त्त पद, सिदो कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय, दुमका में शिक्षकों के स्वीकृत पद 683 के विरुद्ध 494 रिक्त्त पद) होना अत्यंत ही गंभीर है. इस स्थिति में परिवर्तन लाना होगा, रिक्तियों को भरना होगा. उन्होंने झारखंड लोकसेवा आयोग को प्रेषित अधियाचना की समीक्षा करते हुए कहा कि इस दिशा में गंभीरतापूर्वक ध्यान दें ताकि विश्वविद्यालयों में सहायक प्राध्यापक के बैकलॉग एवं नियमित पदों, सह-प्राध्यापक, प्राध्यापक के पदों पर अतिशीघ्र भरा जाए. 

 

सभी सम्बद्ध महाविद्यालयों में प्राचार्यों एवं शिक्षकों की नियुक्ति झारखंड विश्वविद्यालय अधिनियम में वर्णित प्रावधानों के तहत झारखंड लोक सेवा आयोग द्वारा किया जाना चाहिए. राज्यपाल ने राज्य के बहुत से महाविद्यालयों में प्राचार्यों की कमी पर चिंता प्रकट करते हुए कहा कि राज्य में स्थित महाविद्यालयों में प्रभारी प्राचार्य हैं, उन्होंने ऐसे महाविद्यालयों में प्रभारी प्राचार्य की नियुक्ति अब राज भवन द्वारा किया जायेगा, न कि कुलपति द्वारा. राज्यपाल को राज्य के विश्वविद्यालय से संलग्न तथा अंगीभूत माहाविद्यालय के प्राचार्यों की नियुक्ति की समीक्षा के क्रम में अवगत कराया गया कि दिसंबर में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, नई दिल्ली के दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के निमित्त मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बैठक आहूत की गई थी. उक्त बैठक में मध्य प्रदेश की तर्ज पर झारखंड राज्य में भी विश्वविद्यालय, महाविद्यालय, संस्थान को इकाई मानकर रोस्टर लागू करने में वांछित संशोधन करने का निर्णय लिया गया. झारखंड राज्य विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2022 तैयार किया गया था. परंतु विधानसभा के बजट सत्र में नहीं रखा जा सका. उन्होंने उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग से कहा कि राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों में कुलसचिव, परीक्षा नियंत्रक जैसे महत्वपूर्ण पद रिक्त हैं. इन महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्ति हेतु स्टैच्यूट बनाने व लागू करने की दिशा में तत्परता से करना होगा.
अधिक खबरें
शिल्पी नेहा तिर्की ने मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से की मुलाक़ात
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 9:25 PM

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से आज कांके रोड रांची स्थित मुख्यमंत्री आवासीय कार्यालय में मांडर विधानसभा उपचुनाव की विजयी प्रत्याशी शिल्पी नेहा तिर्की ने मुलाकात की. मुख्यमंत्री से यह उनकी शिष्टाचार भेंट थी. इस अवसर पर मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने शिल्पी नेहा तिर्की को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं एवं बधाई दी. मुख्यमंत्री ने शिल्पी नेहा तिर्की से कहा कि जिस आशा और विश्वास के साथ मांडर विधानसभा की जनता ने आपको विधायक के रूप में चुना है, उनके आशा और विश्वास पर खरा उतरकर एक आदर्श विधायक का उदाहरण पेश करें.

कांग्रेस प्रभारी समेत कई नेताओं ने शिल्पी को जीत पर दी बधाई
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 7:20 PM

मांडर विधानसभा उप चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी शिल्पी नेहा तिर्की के निर्वाचित होने पर उन्हें बधाईयां मिलनी शुरू हो गयी हैं. कांग्रेस के झारखंड प्रभारी अविनाश पांडेय समेत कई नेताओं ने शिल्पी को उनकी जीत के लिए बधाई दी है. कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय ने ट्वीट कर कहा है कि मांडर विधानसभा उप चुनाव में पार्टी उम्मीदवार को भारी मतों से विजयी बनाने के लिए क्षेत्र की जनता बधाई के पात्र हैं. उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार को प्रचंड बहुमत से जीत दिलाने के लिए मांडर की जनता के प्रति आभार प्रकट किया है और उन्हें ढेरों शुभकामनाएं दी हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा, 'मतों का ध्रुवीकरण करनेवाली ताकतें हारीं'
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 6:29 PM

झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने शिल्पी नेहा तिर्की की जीत पर कहा है कि यह जीत भाजपा के लिए करारी हार है. कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय में मिठाईयां बांटी गयीं. मांडर की जनता का धन्यवाद, शुक्रिया. मतों का ध्रुवीकरण करनेवाली ताकतों को मांडर की जनता ने हराया. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने इस चुनाव में लगातार मानिटरिंग की. मांडर की जनता ने यह जता दिया कि हम हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई के मतभेद से दूर हैं. हमने मांडर की जनता से कहा था कि 2024 की चुनाव को देखते हुए राहुल गांधी के हाथों को मजबूत करें.

मांडर उपचुनाव में 23 हजार से ज्यादा वोट से शिल्पी नेहा तिर्की की जीत!
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 4:29 AM

मांडर उपचुनाव का फाइनल रिजल्ट आ चूका है. कांग्रेस की प्रत्याशी शिल्पी नेहा तिर्की ने यह चुनाव लगभग 23 हजार वोट से जीत हासिल की है. हालांकि इस खबर की आधिकारिक घोषणा बाकी है लेकिन सूत्रों के हवाले से जो बड़ी खबर आ रही है उसके अनुसार शिल्पी नेहा तिर्की ने मांडर उपचुनाव में लगभग गंगोत्री कुजूर को 23 हजार वोट से मात दे दिया है. बता दें कि इस वोट में पोस्टल नहीं जुड़ा है.

33 लाख की ठगी करनेवाला साइबर अपराधी आलोक कुमार गिरफ्तार
जून 26, 2022 | 26 Jun 2022 | 4:50 PM

33 लाख रुपये की ठगी करनेवाला साईबर अपराधी आलोक कुमार को अपराध अनुसंधान विभाग ने बिहार के वैशाली से गिरफ्तार किया है. इस साइबर अपराधी के खिलाफ 11 ऑफ 2016 कांड संख्या आइटी एक्ट के तहत दर्ज की गयी है. गिरफ्तार आलोक कुमार लोगों को पांच साल में पैसे को दोगुना करने का वायदा कर ठगी करता था. उसने अलग-अलग खाते में कुल 33 लाख कई लोगों से मंगवाये. आरोपी के पास से एक मोबाइल, दो सिम कार्ड जब्त किया गया है.