Sunday, Jan 29 2023 | Time 01:41 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
NEWS11 स्पेशल


धर्म छिपाकर नाबालिग हिंदू लड़की से शादी करने पहुंचा 50 साल का अधेड़ शख्स

खुद को पुलिसकर्मी बता कर रचा रहा था विवाह
धर्म छिपाकर नाबालिग हिंदू लड़की से शादी करने पहुंचा 50 साल का अधेड़ शख्स

न्यूज़11 भारत 


रांची: बोकारो के सेक्टर 9 हरला थाना क्षेत्र में रहने वाली एक नाबालिग बेटी की ज़िंदगी उजड़ते-उजड़ते बच गई. एक अधेड़ शख्स नाम और धर्म बदलकर नाबालिग युवती से शादी करने उसके घर पहुंच गया लेकिन जयमाला के बाद पुलिस को देखते ही शादी छोड़कर फरार हो गया. अधेड़ शख्स ने लड़की के गरीब घरवालों को खुद के पुलिस अधिकारी होने का झांसा दिया था जिसके बाद परिजन भी शादी को तैयार हो गए थे. 


अधेड़ शख्स बारात लेकर शादी के लिए युवती के घर पहुंच गया और वरमाला का कार्यक्रम भी हो गया. लेकिन इसी दौरान किसी ने पुलिस को सूचना दे दी कि नाबालिग लड़की की शादी कराई जा रही है जिसके बाद पुलिस उसे रोकने के लिए शादी स्थल पर पहुंच गई.


पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद अधेड़ आरोपी की पोल खुल गई और उसकी सच्चाई सबके सामने आ गई, जिसे जानकर लोग हैरान हो गए. दरअसल अधेड़ (उम्र करीब 50 साल) अपना धर्म और नाम छुपाकर नाबालिग से शादी करने पहुंचा था और एक मामले में वो पहले भी जेल की सजा काट चुका था. मौके पर पुलिस को देखते ही अधेड़ दूल्हा सबकुछ छोड़कर वहां से फरार हो गया.


ये भी पढ़ें... बिहार में कैसे गायब हो गई एक किलोमीटर लंबी सड़क, जानिए पूरा मामला


पुलिस ने घरवालों को बताया कि अधेड़ दूल्हा पहले भी चास थाना क्षेत्र के एक मामले में जेल जा चुका है और वह इसी तरह झांसा देकर गरीब हिन्दू परिवार की लड़कियों को फंसाने का काम करता है. पुलिस ने अधेड़ के ऑल्टो कार को बरामद कर लिया है जिसमें पुलिस की नकली वर्दी पाई गई है.

परिवार के संपर्क में कैसे आया अधेड़ मुस्लिम शख्स


बताया गया है कि नाबालिग लड़की की मां 6 महीने पहले लोन लेने के लिए बैंक गई थी. इस दौरान आरोपी मिला और अपना नाम संजय बेसरा बताया. साथ ही लोन पास कराने का आश्वासन दिया. इसके बाद महिला का लोन भी पास हो गया. मुस्लिम शख्स फोन कर महिला से बात करता है और बाद में उसने महिला के घर आना शुरू कर दिया. वह हमेशा पुलिस की फर्जी वर्दी में ही महिला के घर आता था. इस वजह से लड़की के परिवार ने उस पर भरोसा कर लिया और वे अधेड़ से बेटी की शादी करने को राजी हो गए. शादी कार्यक्रम के दौरान पुलिस के पहुंचने पर आरोपी मौके से फरार हो गया जिसके बाद उसकी सच्चाई सामने आ गई. सिटी डीएसपी कुलदीप कुमार ने बताया कि धर्म छुपाकर अधेड़ परिवार को झांसा देकर हिंदू लड़की से शादी कर रहा था. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. लड़की के नाबालिग होने की वजह से उसके घरवालों से भी पूछताछ हो रही है. 

अधिक खबरें
रेलवे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म और ट्रेन के बीच फंसी छात्रा, Video देखें
दिसम्बर 09, 2022 | 09 Dec 2022 | 6:19 PM

इंसान अपनी जिंदगी से परेशान होकर खुद मौत के मुंह में जाने की कोशिश करता है लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि इंसान मौत में मुंह में जाकर भी बच निकलता है. कुछ ऐसा ही एक मामला आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम से सामने आया है जहां 7 दिसंबर को ट्रेन से उतरने के दौरान एक छात्रा ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच फंस गई, गनीमत रही कि ट्रेन रेलवे ट्रैक पर रुकी हुई थी.

बांग्लादेश के खिलाफ तीसरे वनडे मुकाबले के लिए भारतीय टीम में 3 बड़े बदलाव
दिसम्बर 09, 2022 | 09 Dec 2022 | 5:14 AM

टीम इंडिया अभी बांग्लादेश दौरा पर है. बांग्लादेश सीरीज जीत चूका है. इसी बिच बांग्लादेश के खिलाफ तीसरे वनडे मुकाबले के लिए भारतीय टीम में 3 बदलाव हुआ है. कप्तान रोहित शर्मा अंगूठे की चोट के चलते इस मुकाबले से बाहर हो गए हैं. इसके साथ ही कुलदीप सेन और दीपक चाहर भी इस आखिरी वनडे का हिस्सा नहीं होंगे.

साहिबगंज डीएसपी राजेंद्र दुबे पहुंचे ईडी दफ्तर, पूछताछ शुरू
दिसम्बर 09, 2022 | 09 Dec 2022 | 3:55 AM

साहेबगंज के पुलिस उपाधिक्षक राजेंद्र दुबे प्रवर्तन निदेशालय (इडी) के क्षेत्रीय कार्यालय में शुक्रवार को उपस्थित हुए. इन पर राजेंद्र आर्युविज्ञान संस्थान के कॉटेज में इलाजरत सजायाफ्ता पंकज मिश्रा से फोन पर बातचीत करने का आरोप लगा है. उन्हें इडी ने समन कर 8 दिसंबर को बुलाया था.

आजसू पार्टी की हुंकार, सरकार स्थानीय नीति को करे जल्द लागू
सितम्बर 13, 2022 | 13 Sep 2022 | 8:01 PM

आजसू पार्टी ने स्थानीय नीति को जल्द लागू करने की मांग राज्य सरकार से की है. इस मुद्दे पर आजसू सुप्रीमो सह विधायक सुदेश महतो ने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार स्थानीयता के मुद्दे पर भ्रम न फैलाएं. राज्य सरकार खतियान आधारित स्थानीय नीति को जल्द लागू करें.

सामूहिक सहयोग से ही फाइलेरिया और कालाजार पर लगेगी रोक
सितम्बर 13, 2022 | 13 Sep 2022 | 7:28 PM

फाइलेरिया एक ऐसी चुनौती है, जो अर्थव्यवस्था को प्रभावित कर वैश्विक कल्याण में बाधा डालती है. इस चुनौती से निबटने के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा. सामूहिक प्रयासों का ही नतीजा है कि राज्य में फाइलेरिया और कालाजार के मरीजों की संख्या में निरंतर कमी दर्ज की जा रही है. इसमें मीडिया की भूमिका सबसे अहम है.