Sunday, Jan 29 2023 | Time 02:19 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
झारखंड


राज्यभर के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में 118 सीटें रह गयी खाली

झारखंड राज्य संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद ने शुरू की काउंसेलिंग की प्रक्रिया
राज्यभर के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में 118 सीटें रह गयी खाली
न्यूज11 भारत




रांचीः पहले चरण की काउंसेलिंग के बाद झारखंड के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में 118 सीटें खाली रह गयी हैं. इसमें राजधानी रांची स्थित राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान समेत महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज जमशेदपुर, शहीद निर्मल महतो मेडिकल कॉलेज धनबाद, शेख भिखारी मेडिकल कॉलेज हजारीबाग, फूलो झानो मेडिकल कॉलेज दुमका मेदिनीराय मेडिकल कॉलेज पलामू और मनिपाल टाटा मेडिकल कॉलेज शामिल हैं. निजी कॉलेज लक्ष्मी चंद्रवंशी मेडिकल कालेज पलामू में सरकारी कोटे की 25 सीटे अब भी खाली रह गयी हैं. 

 

झारखंड राज्य संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद (जेसीईसीइबी) की तरफ से 13 सरकारी और निजी मेडिकल कॉलेजों की 429 सीटों के लिए अब दूसरे चरण की काउंसेलिंग की जायेंगी. एमबीबीएस की 118 सीटों के अलावा बेचलर इन डेंटल सर्जरी की 257 सीटें और होमियोपैथी, यूनानी तथा आर्युवेदिक कॉलेजों की 54 सीटों पर काउंसेलिंग की जायेगी. नीट यूजी 2022 के सफल विद्यार्थियों से काउंसेलिंग को लेकर मेडिकल कॉलेजों के विकल्प को लेकर आवेदन मंगाया गया है. मेधा सूची के तहत 13 नवंबर तक निबंधन और च्वाइस फिलिंग की प्रक्रिया पूरी की जायेगी. मेधा सूची में शामिल सभी विद्यार्थियों को अधिक से अधिक कॉलेजों में च्वाइस फिलिंग करने का विकल्प दिया गया है. कॉमन मेरिट रिस्ट के तर्ज पर विद्यार्थी समय रहते च्वाइस में बदलाव कर सकें, इसके लिए एक दिन का अतिरिक्त समय मिलेगा.

 


 

जेसईसीइबी की तरफ से काउंसेलिंग में शामिल विद्यार्थियों से शुल्क भी लिया जायेगा. काउंसेलिंग के लिए सामान्य, इडब्ल्यूएस, बीसी-1 व बीसी-2 कोटे के अभ्यर्थियों को 1000 रुपये का ऑनलाइन भुगतान करना होगा. वहीं एससी-एसटी, महिला व दिव्यांग अभ्यर्थियों को 500 रुपये देने होंगे. च्वाइस फिलिंग के आधार पर 17 नवंबर को प्रोविजनल सीट अलॉटमेंट लेटर जारी होगा. इसमें चिह्नित हुए संस्था में विद्यार्थियों को 21 नवंबर तक नामांकन की प्रक्रिया पूरी करनी होगी.




डेंटल और होमियोपैथिक कालेज के लिए भी आवेदन भरने का विकल्प

 

पर्षद की तरफ से बैचलर इन डेंटल साइंस (बीडीएस) कोर्स के इच्छुक विद्यार्थी च्वाइस फिलिंग के दौरान रिम्स रांची के 31, अवध डेंटल कॉलेज जमशेदपुर के 80, हजारीबाग कॉलेज ऑफ डेंटल साइंस व वनांचल डेंटल कॉलेज, गढ़वा के 73-73 सीट पर च्वाइस फिलिंग कर सकेंगे. वहीं, गवर्नमेंट होमियोपैथिक मेडिकल कॉलेज गोड्डा में संचालित बीएचएमएस कोर्स के 54 रिक्त सीट पर च्वाइस फिलिंग कर सकेंगे.

 

अधिक खबरें
टी-20 सीरीज में हार्दिक की सेना को मिली हार, जानिए मैच के इंपोर्टेंट फैक्ट्स
जनवरी 28, 2023 | 28 Jan 2023 | 12:33 PM

टीम इंडिया को न्यूजीलैंड के खिलाफ 21 रनों की करारी हार मिलने के बाद भारतीय टीम 3 मैचों की द्विपक्षीय सीरीज में 0-1 से पिछड़ गई है. इस हार के साथ ही टूट गया रांची के मैदान पर भारत का अजेय रिकॉर्ड . मालूम हो कि इससे पहले, यहां टीम ने कोई भी टी-20 मुकाबला नहीं गंवाया था.

और जिंदा जल गए 6 लोग, जानिए हाजरा अस्पताल के अग्नी हादसे की पूरी रिपोर्ट
जनवरी 28, 2023 | 28 Jan 2023 | 11:19 AM

इधर घटना के संबंध में फिलहाल मिल रही जानकारी के अनुसार अस्पताल के प्रबंधक ने बताया कि आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी है. साथ ही किचन से एक गैस से भरा हुआ सिलेंडर सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया, अगर आग सिलेंडर तक पहुंचती तो स्थिति और ज्यादा भयावह हो जाती.

अविलंब माफी मांगे इरफान अंसारी, जानिए क्यों 'झासा' ने की विधायक से ऐसी मांग
जनवरी 28, 2023 | 28 Jan 2023 | 8:58 AM

विधायक इरफान अंसारी उनसे मिलने व उनकी समस्याओं को सुनते आते हैं और बातों बातों में अपने लोगों को कहते हैं कि सिविल सर्जन को घसीट कर लाओ और कहो की विधायक जी बुला रहे हैं.

सड़क का शिलान्यास किए बगैर सांसदों और विधायकों को लौटना पड़ा वापस, जानें पूरा मामला
जनवरी 27, 2023 | 27 Jan 2023 | 6:45 PM

राजधानी रांची में सड़क का शिलान्यास करने पहुंचे सांसद और विधायकों को सड़क का शिलान्यास किए बगैर ही वापस लौटना पड़ा. ताजा मामला बरियातु स्थित बड़ागाई चौक के पास का है जहां सड़क शिलान्यास कार्यक्रम की जानकारी के बाद ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया.

रांची में कुल 1227 स्मार्ट मीटर हुए प्रीपेड, 6 महीने तक लाइव टेस्टिंग मोड पर करेगा काम
जनवरी 27, 2023 | 27 Jan 2023 | 5:19 PM

पायलट प्रोजेक्ट के तहत राजधानी रांची के उपभोक्ताओं के यहां नए बिजली कनेक्शन में स्मार्ट मीटर प्रीपेड लगाए गए है जो 26 जनवरी (गुरूवार) से प्रीपेड मोड फंक्शन पर अपना काम करना शुरू कर दिया है. जेबीवीएनएल ने बताया है कि नए कनेक्शन के लिए आवेदन जमा करते समय जिन उपभोक्ताओं ने जमानत राशि जमा की थी.