Friday, Feb 28 2020 | Time 10:37 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • कृप्‍या ध्‍यान दें, आज से 50 प्रतिशत होगी बिजली कटौती, ये जिले होंगे प्रभावित
  • झारखंड विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरु, बाबूलाल सदन में नहीं होंगे नेता प्रतिपक्ष
  • झारखंड विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरु, बाबूलाल सदन में नहीं होंगे नेता प्रतिपक्ष
झारखंड


तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार ‘आदि दर्शन’ का आगाज, राज्यपाल व सीएम ने की शिरकत

तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार ‘आदि दर्शन’ का आगाज, राज्यपाल व सीएम ने की शिरकत
रांची : झारखंड की राजधानी रांची में तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आगाज हुआ. आड्रे हॉउस में आयोजित इस अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार में 7 दूसरे देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया. अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार को संबोधित करते हुए जहां राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने आदि दर्शन पर विस्तार से प्रकाश डाला, वहीं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ग्लोबल के भूख में आदिवासी समूह के लूटे जाने की ओर आगाह किया. 

 

रांची के आड्रे हॉउस में तीन दिवसीय अंतराष्ट्रीय सेमिनार का आगाज आदिवासी संस्कृति, परम्परा, इतिहास और भविष्य की संभावनाओं से साथ हुआ. आदि दर्शन पर केंद्रित इस सेमिनार में देश के अलग-अलग राज्यों के अलावे 7 दूसरे देश के प्रतिनिधि भाग ले रहे है. स्विट्जरलैंड, केनिया, इंडोनेशिया, स्वीडन, रशिया, बंगलादेश और कोपेहेगन से आये प्रतिनिधि आदिवासी समाज और उसके इतिहास पर देश के प्रतिनिधियों के साथ अपने विचार साझा करेंगे. उद्घाटन सत्र को संबोधित करते मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ना सिर्फ झारखंड और भारत, बल्कि दुनिया भर में आदिवासी समाज के वर्तमान स्थिति को मजबूती के साथ रखा. हेमंत सोरेन ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि इस तरह के आयोजन तीन दिवसीय ही नहीं हमेशा होते रहना चाहिये.

 

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आदि दर्शन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि दुनिया भर के 90 देशों में 37 करोड़ आबादी आदिवासी समाज की है. 5 हजार संस्कृति और 40 हजार भाषाएं इसकी अपनी स्वतंत्र पहचान है. आदिवासी समाज दुनिया की आबादी का लगभग 5 प्रतिशत है, बावजूद इसके आज के इस ग्लोबल भूख में ये समूह लुट रहा है. उन्होंने कहा कि मोहनजोदड़ो के ज़माने की मिट्टी के बर्तन से लेकर हथियार तक का इस्तमाल आज के ज़माने में भी इसी समाज में देखने को मिलती है. ऐसा इस लिये क्यूंकि आदिवासी समाज अपनी संस्कृति और इतिहास को सीने से लगाये फिरती है. 

 

राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने सेमिनार में अपने संबोधन की शुरुआत आदि दर्शन के विश्लेषण से शुरू किया. उन्होंने कहा कि इसे कभी खुले, तो कभी कभी बंद आंखों से महसूस किया जा सकता है. दर्शन शास्त्र पर बोलते हुए राज्यपाल ने नास्तिक और आस्तिक दर्शन के बीच फर्क को समझाया. द्रौपदी मुर्मू ने आदिवासी समाज का प्रकृति के साथ प्रेम और उसके लगाव को भी अदभुत बताया. उन्होंने कहा कि आदिवासी को झूठ बोलना नहीं आता और अगर वो बोलते है तो पकड़े जाते हैं. 

 

रांची के आड्रे हॉउस में अगले दो दिनों तक आदि दर्शन पर ये अंतराष्ट्रीय सेमिनार जारी रहेगा. उम्मीद है कि इस सेमिनार में दूसरे देशों से आये प्रतिनिधियों से आदिवासी समाज के अस्तित्व पर हो रहे ग्लोबल हमलों से बचने के कुछ उपाय सामने आएंगे. ये सेमिनार ऐसे वक्त में हो रहा है जब अंतराष्ट्रीय स्तर पर आदिवासी समाज को बचाने और बढ़ाने की आवाज बुलंद हो रही है. 

 


 


 


 

अधिक खबरें
तीन मिनट देर पहुंची छात्रा, नहीं मिली परीक्षा देने की अनुमति, सीएम ने लिया संज्ञान
फरवरी 28, 2020 | 28 Feb 2020 | 8:46 AM

रांची : गुरुवार को 12वीं की परीक्षा के दौरान केंद्र पर तीन मिनट देर से पहुंचना एक छात्रा को काफी महंगा पड़ गया.

CUJ का दीक्षा समारोह आज, नए भवन का उद्घाटन करेंगे राष्ट्रपति
फरवरी 28, 2020 | 28 Feb 2020 | 7:41 AM

रांची : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दो दिवसीय दौरे पर आज रांची आ रहे हैं.

झारखंड विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरु, बाबूलाल सदन में नहीं होंगे नेता प्रतिपक्ष
फरवरी 28, 2020 | 28 Feb 2020 | 7:18 AM

रांची : झारखंड विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरू होगा, सत्र 28 मार्च तक चलेगा.

नेफ्रोलॉजिस्‍ट डॉक्‍टर तय करेंगे लालू एम्‍स जायेंगे या रिम्‍स में ही रहेंगे
फरवरी 27, 2020 | 27 Feb 2020 | 2:18 PM

रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती चारा घोटाला के सजायाफ्ता लालू प्रसाद के स्वास्थ्य की समीक्षा गुरुवार को की गई. लालू का इलाज कर रहे डॉ उमेश प्रसाद की टीम मेडिकल बोर्ड की बैठक में लालू प्रसाद के इलाज से संबंधित पूरी फाइलों के साथ चर्चा की.

लालू को रिम्‍स पसंद है, एम्‍स नहीं जाना चाहते हैं लालू !
फरवरी 27, 2020 | 27 Feb 2020 | 1:49 PM

लालू यादव सियासत का वो हस्ताक्षर हैं, जिसके एक इशारे पर पूरे भारत की सत्ता हिलती थी और बिहार की सियासत की धूरी. तब ही नहीं आज भी जब बाहर थे तब भी और आज जब सजायाफ्ता होकर रिम्स में इलाजरत हैं तब भी.