Wednesday, Apr 14 2021 | Time 03:32 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
स्वास्थ्य


वैज्ञानिकों की चेतावनी, इंसान को जल्दी बूढ़ा कर सकती है खाने की ये चीजें

डाइट को हमेशा बैलेंस रखें
वैज्ञानिकों की चेतावनी, इंसान को जल्दी बूढ़ा कर सकती है खाने की ये चीजें

बढ़ती उम्र यानी एजिंग की समस्या पर काबू पाने के लिए लोगों ने अपने लाइफस्टाइल में बदलाव को स्वीकार कर लिया है. रेगुलर एक्सरसाइज, त्वचा का ख्याल, पर्याप्त नींद और आराम आपको लंबे समय तक जवान रखने की अच्छी तरकीब हैं.


लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारी डाइट में शामिल खाने की एक चीज हमें तेजी से बुढ़ापे की ओर धकेलने पर अमादा है. हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि अत्यधिक शुगर का सेवन करने वालों में एज रिलेटिड डिसीज का खतरा ज्यादा होता है.


टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है कि हाई शुगर फूड इंसान की उम्र से जुड़ी बीमारियों के लिए जिम्मेदार टॉक्सिन का निर्माण करते हैं. साथ ही इन जहरीले पदार्थों को नष्ट करने वाली शारीरिक क्षमता को भी डैमेज करते हैं. इस तरह हाई शुगर फूड का हमारी सेहत पर दोहरा प्रहार होता है.

शोध की प्रमुख लेखक का कहना है कि इस स्टडी में हमने ये समझने का प्रयास किया है कि हाई शुगर फूड आखिर कैसे हम इंसानों की सेहत पर असर डालते हैं. हमने पाया कि बॉडी में शुगर की अतिरिक्त मात्रा उम्र से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ाती हैं.

 

हाई शुगर फूड से कार्डियोवस्क्युलर डिसीज, डायबिटीज और एज रिलेटिड मैक्यूलर डीजेनरेशन की समस्या पैदा होती है. मैक्यूलर डीजेनरेशन एक ऐसी डिसीज है जो इंसान को अंधा तक बना सकती है.

 

दरअसल, शरीर में p62 नाम का एक प्रोटीन हमारे सेल्स को हेल्दी बनाए रखने का काम करता है. ये हमारे शरीर की सेनिटाइजेशन टीम का एक हिस्सा होता है जो हाई शुगर डाइट के हानिकारक बायोप्रोडक्ट advanced glycation end products (AGEs) को दूर करता है.

हमारे शरीर में p62 प्रोटीन जितना कम होगा, हानिकारक AGEs उतने ज्यादा जमा होंगे. हाई शुगर डाइट न सिर्फ शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले AGEs को बढ़ाती है, बल्कि p62 के फंक्शन पर भी बुरा असर डालती है. हाई शुगर से टॉक्सिन का अमाउंट तो बढ़ता ही है, साथ ही साथ शरीर का बचाव करने वाला मैकेनिज्म भी प्रभावित होता है.

 

लेखक का कहना है कि, 'ऐसा नहीं है कि शरीर को शुगर की बिल्कुल जरूरत नहीं है. किसी भी तरह के शुगर का सेवन बंद कर देना भी जरूरी नहीं है. शुगर डाइट की जगह फैटी फूड को रिप्लेस करना भी बड़ी गलती होगी. डाइट को हमेशा बैलेंस रखें. इसमें कई अलग-अलग तरह के फल और सब्जियों का होना जरूरी है.'

 

हाई शुगर फूड से बचने के लिए कुछ चीजों को खाना बंद कर देना चाहिए. सॉस, कैचअप, पैकेबंद जूस, कोल्ड ड्रिंक्स या एनेर्जी ड्रिंक्स, चॉकलेट मिल्क, ग्रेनोला, फ्लेवर्ड कॉफी, आइस टी, कैन सूप या प्रीमेड सूप, प्रोटीन बार, विटामिन वॉटर और कैन फ्रूट में शुगर की अत्यधिक मात्रा होती है.

डॉक्टर्स कहते हैं कि शुगर कंट्रोल करने वालों को ज्यादा स्टार्क वाली चीजों से भी परहेज करना चाहिए. ऐसे लोगों को आलू, फूलगोभी, मक्का, सेम की फली, मटर, छोले, मसूर की दाल, कद्दू, शलगम और शकरकंद जैसी चीजें खाने से बचना चाहिए.

 
अधिक खबरें
भोजपुरी स्टार निरहुआ समेत इतने मेंबर हुए कोरोना पॉजिटिव
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 4:45 AM

भोजपुरी फिल्मों के स्टार निरहुआ और उनके दो स्टाफ मेंबर्स कोविड पॉजिटिव पाए गए है. फिल्म के निर्देशक पदम सिंह ने इस खबर की पुष्ट की है. जानकारी के मुताबिक निरहुआ और उनकी टीम बांदा के एक ग्रामीण इलाके में नियमों को नजरअंदाज करते हुए शूटिंग कर रहे थे और ये शूटिंग बीते कई दिनों से चल रही थी.

यही वजह है कि मैं घर जा रहा हूं… दिल्ली-महाराष्ट्र में लॉकडाउन?
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 12:40 PM

दिल्ली और महाराष्ट्र में कोरोना का संक्रमण बहुत ही तेज गति से फैल रहा है. यहां से प्रतिदिन रिकॉर्ड केस सामने आ रहे हैं जिसने चिंता बढा दी है. यही वजह है कि अब यहां के लोगों के मन में एक ही सवाल उठ रहा है…क्या लॉकडाउन लगा दिया जाएगा ?

8 दिन बाद अस्पताल से घर लौटे अक्षय कुमार, ट्विंकल ने सोशल मीडिया पर जताई खुशी
अप्रैल 12, 2021 | 12 Apr 2021 | 5:02 PM

कोविड-19 से जंग जीतने के बाद बॉलीवुड के खिलाड़ी यानी अक्षय कुमार घर लौट आए हैं. इस बात की जानकारी उनकी पत्नी ट्विंकल खन्ना ने सोशल मीडिया पर की है.

क्या करें, मरने का wait या मुक्ति का इंतजार? झारखंड की स्थिति देख सहम जाएंगे आप
अप्रैल 12, 2021 | 12 Apr 2021 | 2:19 AM

कोरोना की दूसरी लहर इतनी ताकतवर हो गई है कि मरने वालों की संख्या लगातर बढ़ती ही जा रही है. ऐसे में लोगों के सामने सबसे बड़ी चुनौती है कि उऩ्हें मुक्ति कैसे दिलाए, सम्मान कैसे दिलाए. हालात ऐसे है श्मशान से लेकर कब्रिस्तान तक अंतिम संस्कार के लिए लोगों को लाइन लगानी पड़ रही है.

SC का दरवाजा खटखटाया कोरोना, पैरामिलिट्री फोर्स में भी 407 नए केस
अप्रैल 12, 2021 | 12 Apr 2021 | 11:10 AM

सभी कोर्ट रूम सहित पूरे सुप्रीम कोर्ट परिसर को सेनेटाइज किया जा रहा है, इसलिए आज सभी बेंच निर्धारित समय से एक घंटा देरी से बैठेंगी.