Tuesday, Feb 25 2020 | Time 20:27 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • ढुल्लू महतो को कोर्ट से राहत नहीं, अग्रिम जमानत देने से कोर्ट ने किया इनकार
  • ढुल्लू महतो को कोर्ट से राहत नहीं, अग्रिम जमानत देने से कोर्ट ने किया इनकार
  • पथरा गई आंखें, सूख गए आंसू, नहीं आया सुरेन्द्र का शव
  • पथरा गई आंखें, सूख गए आंसू, नहीं आया सुरेन्द्र का शव
  • एनोस एक्का सहित सभी सात दोषियों की जब्त होगी संपत्ति, कोर्ट ने दिया आदेश
  • एनोस एक्का सहित सभी सात दोषियों की जब्त होगी संपत्ति, कोर्ट ने दिया आदेश
  • BREAKING : आय से अधिक मामले में एनोस एक्का को सात साल की सजा, 50 लाख जुर्माना
  • BREAKING : आय से अधिक मामले में एनोस एक्का को सात साल की सजा, 50 लाख जुर्माना
  • पाकुड़: रेलवे स्टेशन में यात्रियों को हो रही है परेशानी, आठ ट्रेन रहेंगी रदद्
  • ढुल्लू महतो की मुश्किलें बरकरार, नहीं मिली अग्रिम जमानत, कोर्ट ने मांगी केस डायरी
  • I A P के सदस्यों ने मंत्री बन्ना गुप्ता से की मुलाकात, राज्य में फिजियोथेरेपी परिषद विधेयक-2020 के गठन हेतु हुई बात
  • I A P के सदस्यों ने मंत्री बन्ना गुप्ता से की मुलाकात, राज्य में फिजियोथेरेपी परिषद विधेयक-2020 के गठन हेतु हुई बात
  • जूते पॉलिश करने से इंडियन आइडल जीतने तक का सफ़र
  • राज्यसभा की 55 सीटों पर 26 मार्च को चुनाव, फिलहाल बहुमत से दूर ही रहेगी भाजपा
  • बीजेपी विधायक दल के नेता चुने जाने के बाद विधानसभा सचिवलाय को भेजा गया पत्र, स्पीकर लेंगे निर्णय
झारखंड » रांची


#Google सर्च कर ना करें मेडिसिन का सेवन, डॉक्टरों से जरूर लें परामर्श

#Google सर्च कर ना करें मेडिसिन का सेवन, डॉक्टरों से जरूर लें परामर्श
रांची : डॉक्टर गूगल की सलाह से कई लोग महत्वपूर्ण दवाइयां खा रहे हैं. जी हां इंटरनेट के बढ़ते प्रचलन की वजह से लोग डॉक्टरों की सलाह की जगह अब गूगल की सलाह से महत्वपूर्ण दवाईयां खासकर एंटीबायोटिक मेडिसिन का सेवन कर रहे हैं. जो मरीजों की सेहत के लिए बेहद खतरनाक है. आपको ये बता दें कि ये जरूरी नहीं कि इंटरनेट पर दी गयी सभी जानकारियां सही और सच हों.

 

दवाइयों में खासकर एंटीबायोटिक एक ऐसी दवा है, जो इंफेक्शन व कई गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है. लेकिन एंटीबायोटिक्स का अगर सही तरीके से इस्तेमाल नहीं किया गया, तो लाभ की जगह ये नुकसान पहुंचा सकती है. अगर आप जान लें कि एंटीबायोटिक्स कब इस्तेमाल करना चाहिए और कब नहीं, तो आप ख़ुद को व अपने परिवार को इसके खतरे से बचा सकते हैं. लोगों को यह पता ही नहीं होता कि एंटीबायोटिक का क्या इस्तेमाल है और कौन-कौन सी बीमारियों पर इसे लेना चाहिए. हल्की बीमारी होने पर भी लोग डॉक्टरी परामर्श छोड़कर गुगल व इंटरनेट की मदद से एंटीबायोटिक सर्च कर इसका सेवन करते हैं. यह काफी खतरनाक है.

 


 

कभी भी बीमार पडऩे की स्थिति में डॉक्टर से परामर्श लेना कि सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है. किसी भी बीमारी के जांच रिपोर्ट आने के बाद ही किसी तरह के दवाइयों का इस्तेमाल करना चाहिए. क्योंकि डॉक्टर भी मानते है किसी किसी भी दवाइयों का ज्यादा सेवन कुछ समय के बाद उस मानव शरीर मे काम करना बंद कर देता है और ऐसे में जरूरी नहीं की इंटरनेट पर ली गई जानकारी वास्तविक जीवन में सही तरीके के सफल हो जाए.

 

एंटीबायोटिक्स सबसे ज़्यादा प्रिस्क्राइब की जानेवाली दवा बन गई है. चूंकि इससे तुरंत आराम मिलता है, कई बार लोग खुद इसकी चाह रखते हैं. कई डॉक्टर भी जरूरी न होने पर भी एंटीबायोटिक्स लिख देते हैं. कुल मिलाकर दुनियाभर में एंटीबायोटिक्स का उपयोग की जगह दुरुपयोग हो रहा है. 

 
अधिक खबरें
BREAKING : आय से अधिक मामले में एनोस एक्का को सात साल की सजा, 50 लाख जुर्माना
फरवरी 25, 2020 | 25 Feb 2020 | 3:16 PM

रांची : आय से अधिक संपत्ति मामले में कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है.

लातेहार में नक्सलियों का तांडव, सड़क निर्माण में लगे आधा दर्जन वाहनों को फूंका
फरवरी 25, 2020 | 25 Feb 2020 | 1:12 PM

रांची : झारखंड के उग्रवाद प्रभावित जिला लातेहार में नक्सलियों ने तांडव मचाया है.

बीजेपी विधायक दल के नेता चुने जाने के बाद विधानसभा सचिवलाय को भेजा गया पत्र, स्पीकर लेंगे निर्णय
फरवरी 25, 2020 | 25 Feb 2020 | 10:02 AM

रांची : बीजेपी विधायक दल के नेता चुने जाने के बाद बीजेपी की और से प्रदेश अध्यक्ष के हस्ताक्षर से एक पत्र विधानसभा सचिवलाय को सूचना के लिए भेज दिया गया है.