Sunday, Mar 29 2020 | Time 20:19 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • कोरोना बना काल, जर्मनी के वृत्‍त राज्‍यमंत्री ने की आत्‍महत्‍या, जानिये वजह
  • शॉर्ट सर्किट से गेहूं के खेत में लगी आग, 15 बीघा में लगी फसल जलकर खाक
  • महामारी से घबराएं नहीं सतर्क रहें, हम झारखंडवासी मजबूत इरादों वाले हैं : सीएम हेमन्त सोरेन
  • महामारी से घबराएं नहीं सतर्क रहें, हम झारखंडवासी मजबूत इरादों वाले हैं : सीएम हेमन्त सोरेन
  • केंद्र सरकार का सख्‍त निर्देश, #LockDown का सख्‍ती से हो पालन, सभी बॉर्डरों को करें पूरी तरह सील
  • झरिया में युवक की संदिग्‍ध मौत, पोस्‍टमार्टम से पहले होगी कोरोना की जांच
  • Lockdown Update : शिक्षामंत्री ने निजी स्कूल प्रबंधन से की अपील, बच्चों से नहीं लें फीस, जल्द जारी होगा आदेश
  • Lockdown Update : शिक्षामंत्री ने निजी स्कूल प्रबंधन से की अपील, बच्चों से नहीं लें फीस, जल्द जारी होगा आदेश
झारखंड » रांची


#Google सर्च कर ना करें मेडिसिन का सेवन, डॉक्टरों से जरूर लें परामर्श

#Google सर्च कर ना करें मेडिसिन का सेवन, डॉक्टरों से जरूर लें परामर्श
रांची : डॉक्टर गूगल की सलाह से कई लोग महत्वपूर्ण दवाइयां खा रहे हैं. जी हां इंटरनेट के बढ़ते प्रचलन की वजह से लोग डॉक्टरों की सलाह की जगह अब गूगल की सलाह से महत्वपूर्ण दवाईयां खासकर एंटीबायोटिक मेडिसिन का सेवन कर रहे हैं. जो मरीजों की सेहत के लिए बेहद खतरनाक है. आपको ये बता दें कि ये जरूरी नहीं कि इंटरनेट पर दी गयी सभी जानकारियां सही और सच हों.

 

दवाइयों में खासकर एंटीबायोटिक एक ऐसी दवा है, जो इंफेक्शन व कई गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है. लेकिन एंटीबायोटिक्स का अगर सही तरीके से इस्तेमाल नहीं किया गया, तो लाभ की जगह ये नुकसान पहुंचा सकती है. अगर आप जान लें कि एंटीबायोटिक्स कब इस्तेमाल करना चाहिए और कब नहीं, तो आप ख़ुद को व अपने परिवार को इसके खतरे से बचा सकते हैं. लोगों को यह पता ही नहीं होता कि एंटीबायोटिक का क्या इस्तेमाल है और कौन-कौन सी बीमारियों पर इसे लेना चाहिए. हल्की बीमारी होने पर भी लोग डॉक्टरी परामर्श छोड़कर गुगल व इंटरनेट की मदद से एंटीबायोटिक सर्च कर इसका सेवन करते हैं. यह काफी खतरनाक है.

 


 

कभी भी बीमार पडऩे की स्थिति में डॉक्टर से परामर्श लेना कि सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है. किसी भी बीमारी के जांच रिपोर्ट आने के बाद ही किसी तरह के दवाइयों का इस्तेमाल करना चाहिए. क्योंकि डॉक्टर भी मानते है किसी किसी भी दवाइयों का ज्यादा सेवन कुछ समय के बाद उस मानव शरीर मे काम करना बंद कर देता है और ऐसे में जरूरी नहीं की इंटरनेट पर ली गई जानकारी वास्तविक जीवन में सही तरीके के सफल हो जाए.

 

एंटीबायोटिक्स सबसे ज़्यादा प्रिस्क्राइब की जानेवाली दवा बन गई है. चूंकि इससे तुरंत आराम मिलता है, कई बार लोग खुद इसकी चाह रखते हैं. कई डॉक्टर भी जरूरी न होने पर भी एंटीबायोटिक्स लिख देते हैं. कुल मिलाकर दुनियाभर में एंटीबायोटिक्स का उपयोग की जगह दुरुपयोग हो रहा है. 

 
अधिक खबरें
झारखंड के लिए राहत की खबर, 200 संदिग्‍धों की हुई जांच, सभी रिपोर्ट निगेटिव
मार्च 28, 2020 | 28 Mar 2020 | 7:44 PM

शनिवार को भी झारखंड के लिए राहत की खबर आई. पतरातू से आये दो संदिग्‍धों की रिपोर्ट भी निगेटिव आई है. रिम्‍स में दोनों की जांच की गई थी.

रांची की सड़कों पर निकले डीआईजी होमकर, चौराहों पर तैनात पुलिस अधिकारियों को दिये दिशा निर्देश
मार्च 26, 2020 | 26 Mar 2020 | 7:01 PM

रांची : राजधानी रांची की सड़कों पर निकलकर डीआईजी एवी होमकर ने तालाबंदी का जायजा लिया.

हर जरूरतमंद को उचित मदद मिले यह प्रयास करुंगा  हेमन्त सोरेन
मार्च 26, 2020 | 26 Mar 2020 | 2:29 PM

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन के प्रयास के बाद दिल्ली में फंसे झारखण्ड के लोगों के लिए भोजन का प्रबंध हो गया.

कोरोना को लेकर हेमंत सोरेन ने लोगों से की अपील, कहा- अगले 21 दिन आप जहां हैं वहीं रहें
मार्च 25, 2020 | 25 Mar 2020 | 12:24 PM

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि हरिद्वार में फंसे झारखण्ड के लोगों की मदद करें। मुख्यमंत्री ने राज्य के बाहर फंसे लोगों से अनुरोध किया है कि जो जहां है, उनका वहीं अगले 21 दिन तक रहना सुरक्षित है.