Thursday, Nov 26 2020 | Time 11:41 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • भारत बंद : बैंकिंग समेत कई सेवाओं पर पड़ेगा असर, घर से निकलने से पहले लें जानकारी
  • दिल्ली में आज किसानों का महाधरना, हरियाणा ने किया बॉर्डर सील, नोएडा-गुरुग्राम नहीं जाएगी मेट्रो
  • दिल्ली में आज किसानों का महाधरना, हरियाणा ने किया बॉर्डर सील, नोएडा-गुरुग्राम नहीं जाएगी मेट्रो
  • दिल्ली में आज किसानों का महाधरना, हरियाणा ने किया बॉर्डर सील, नोएडा-गुरुग्राम नहीं जाएगी मेट्रो
देश-विदेश


सुशांत को किया गया करोड़ों का पेमेंट? प्रोड्यूसर विजान बोले- हमने नहीं दिए पैसे

सुशांत को किया गया करोड़ों का पेमेंट? प्रोड्यूसर विजान बोले- हमने नहीं दिए पैसे

सुशांत सिंह राजपूत केस में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के हाथ एक सुराग लगा था, जिसे प्रोड्यूसर दिनेश विजान और उनके प्रोडक्शन हाउस Maddock Films से जोड़ा जा रहा है. बताया जा रहा है कि सुशांत को 17 करोड़ रुपये की रकम दी गयी थी और यह फिल्म 'राब्ता' के लिए थी. अब इस मामले पर दिनेश विजान ने अपना बयान जारी किया है.


दिनेश विजान और प्रोडक्शन हाउस की तरफ से आया बयान


दिनेश विजान ने अपने प्रोडक्शन हाउस Maddock Films की तरफ से बताया है कि उन्होंने कोई पैसे सुशांत को नहीं दिये थे. स्टेटमेंट में कहा गया है, ''Maddock Films ने सुशांत सिंह राजपूत को हंगरी में कोई पेमेंट नहीं की. और Maddock ने एक्टर से फीस या किसी अन्य तरह से हंगरी में 17 करोड़ रुपये की पेमेंट ली भी नहीं थी, जैसा कि आपके आर्टिकल में बताया गया है.


हमने सुशांत को फिल्म राब्ता के लिए पूरी पेमेंट उसी तरह की थी, जिस तरह उनके अग्रीमेंट में लिखा गया था और जिसे उन्होंने साइन किया था. और यह पेमेंट उन्हें भारत में दी गयी थी. हमने डिपार्टमेंट (ईडी) के पास इस पेमेंट के पुख्ता सबूत भी जमा करवाए थे. इस बात पर भी ध्यान दें कि हंगरी में होने वाली शूटिंग के लिए सारी फंडिंग और पैसों का लेनदेन टी-सीरीज ने हैंडल किया था. इस बात की पुष्टि आप टी-सीरीज से कर भी सकते हैं. 


Maddock Films एक ज़िम्मेदार फिल्ममेकर है और हम देश के नियम और कानूनों के अनुसार काम करते हैं. इंडिया टुडे हमेशा सच के साथ खड़ा रहा है और हमें उम्मीद है कि आपके साथ सही तथ्य शेयर करने से आप सही रिपोर्टिंग करेंगे. हमें नहीं पता कि हम इस मामले के बारे में अभी बात कर सकते हैं या नहीं, लेकिन किसी भी विवाद से बचने के लिए हम साफ कर दें कि हम एजेंसी का हर तरह से साथ दे रहे है और उन्हें सभी जरूरी जानकारी दे चुके हैं. हमारी यही प्रार्थना है कि किसी भी प्रकार की गलत जानकारी फैलाने से बचें. 


आपको यह भी बता दें कि दिनेश विजान को कुछ दिन पहले ही भारत वापस आना था. उन्होंने यात्रा से पहले अपना कोविड-19 का टेस्ट करवाया था, जो पॉजिटिव आया है. इस वजह से वह यात्रा नहीं कर सके. वह जल्द ही ठीक होकर भारत वापस आयेंगे. वह और Maddock Films अधिकारियों के साथ पूरी तरह सहयोग कर रहे हैं. हम आपसे फिर आग्रह करते हैं कि अगर आप दिनेश विजान या Maddock Films के नाम पर कोई स्टोरी करते हैं तो हमारे इस बयान को मेंशन जरूर करें.''

अधिक खबरें
अभी मास्क ही वैक्सीन और 6 फीट की दूरी जरूरी, इससे कोरोना का खतरा 90% तक घटेगा
नवम्बर 26, 2020 | 26 Nov 2020 | 7:47 AM

कोरोना वैक्सीन पर दुनियाभर में काम चल रहा है. भारत में अगले साल की शुरुआत में लोगों को वैक्सीन लगना शुरू हो जाएगी, लेकिन देश की आबादी 135 करोड़ है. हर एक आदमी तक वैक्सीन पहुंचने में कुछ साल लग सकते हैं.

दिल्ली में आज किसानों का महाधरना, हरियाणा ने किया बॉर्डर सील, नोएडा-गुरुग्राम नहीं जाएगी मेट्रो
नवम्बर 26, 2020 | 26 Nov 2020 | 7:01 AM

देश की राजधानी दिल्ली में आज और कल पंजाब और हरियाणा के किसानों का विशाल प्रदर्शन होने वाला है. ये किसान केंद्र द्वारा हाल में पास किए गए कृषि कानूनों का व्यापक विरोध कर रहे हैं.

अर्जेंटीना के फुटबॉल सुपरस्टार Diego Maradona का दिल का दौरा पड़ने से निधन
नवम्बर 25, 2020 | 25 Nov 2020 | 10:14 AM

दुनिया के दिग्गज फुटबॉलर डिएगो माराडोना (DiegoMaradona) का साल 60 की उम्र में निधन हो गया.

गृह मंत्रालय ने जारी की कोरोना की नई गाइडलाइन, 1 दिसंबर से लागू होंगे ये नियम
नवम्बर 25, 2020 | 25 Nov 2020 | 6:35 AM

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर गृह मंत्रालय ने नए गाइडलाइन जारी किए है. नए दिशा-निर्देश 1 दिसंबर से 31 दिसंबर तक प्रभावी रहेंगे. मुख्य फोकस #COVID19 के संक्रमण पर पाए गए काबू को मजबूत करना है.

इस हाथी ने 7 साल की उम्र में खो दिए थे अपने पैर, प्रोस्थेटिक लेग प्राप्त करने वाला बना पहला हाथी
नवम्बर 25, 2020 | 25 Nov 2020 | 6:06 AM

यह एक ऐसा हाथी है जिसने 7 साल की उम्र में अपने पैर खो दिए. जानकारी के अनुसार यह हाथी ने बर्मी सीमा पर एक बारुदी सुरंग के लिए अपना पैर खो दिया था. जिसे प्रोस्थेटिक लेग लगाया गया