झारखण्ड: कुख्यात नक्सली अरविंद की हार्टअटैक से मौत, 1 करोड़ का था इनाम

झारखण्ड में नक्सलियों का आतंक थमनें का नाम नहीं ले रहा. हालांकि, पिछले कुछ दिनों में झारखण्ड पुलिस ने कई नक्सलियों को अरेस्ट कर उनके सीक्रेट ठिकानों पर छापेमारी की. इससे नक्सलियों के हौंसले पस्त हो रहे हैं. इसी बीच खबर आई है कि कुख्यात नक्सली और प्रतिबंधित संगठन भाकपा के पोलित ब्यूरो सदस्य देवकुमार सिंह उर्फ़ अरविंद की मौत हो गई है. उसे हार्ट अटैक आया था. इस खबर की पुष्टि पुलिस ने की है लेकिन फिलहाल उन्होंने अरविंद का शव बरामद नहीं किया है, इसलिए अधिकारी खुले तौर पर अभी इस विषय में कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं.

एक करोड़ रुपये का था इनाम 
नक्सली अरविंद का बिहार से गहरा नाता रहा था. उसका जन्म जहानाबाद में हुआ और इसने पटना विश्वविद्यालय से स्नातोकोत्तर किया था. लंबे समय तक पुलिस को चकमा देने के बाद साल 2012 में अरविंद को अरेस्ट किया गया था. अरविंद नक्सलियों को लेवी पहुंचाने का काम करता था. झारखण्ड पुलिस ने अरविंद पर 1 करोड़ तो बिहार, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र सरकार ने इस नक्सली पर 50 लाख रुपये का इनाम रखा था. 

नक्सलियों के लिए बड़ा झटका 
अरविंद की बॉडी अभी तक बरामद नहीं हुई है. इस कारण पुलिस अधिकारी इस बारे में खुलकर कुछ नहीं बोल रहे हैं. लेकिन कहा जा रहा है कि पिछले तीन महीने से अरविंद बीमार चल रहा था. और कल हार्टअटैक से उसकी मौत हो गई. बता दें कि अरविंद की पत्नी आंगनबाड़ी सेविका है. अरविंद लंबे समय से बूढ़ा पहाड़ पर छिपा था. अगर अरविंद की मौत की खबर सही है, तो ये नक्सलियों के लिए बड़ा झटका है.