झारखण्ड विधानसभा में जारी गतिरोध से राज्य के युवा दुखी

रांची: झारखण्ड विधानसभा में हाल में जारी गतिरोध से राज्य के युवा दुखी है और चाहते है कि सदन में गतिरोध दूर हो और जनता के सवाल उठे. साथ ही युवाओं ने इस बात की चिंता जताई है कि शिक्षण संस्थानों से छात्र हर जगह नौकरी चाहता है. मगर कोई विधायक नहीं बनना चाहता. ये बातें उभर कर आई विधानसभा के प्रशिक्षण शिविर में.

झारखण्ड विधानसभा के विधायी शोध विभाग ने विधायिका की स्थिति पर एकदिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया. जिसमें राज्य के जाने-माने शिक्षण संस्थानों के छात्रों ने शिरकत किया. जिसमे उन्हें विधानसभा के कार्य संचालन नियमावली और अन्य विधायी प्रक्रिया की जानकारी दी गई. इस मौके पर छात्रों ने कार्यक्रम में मौजूद मंत्री सरयू राय और सत्ताधारी दल के मुख्य सचेतक राधा कृष्ण किशोर से जानकारी ली. 



प्रशिक्षण शिविर में आए छात्र विधानसभा के नहीं चलने से आहात नज़र आए. छात्रों ने विधानसभा के प्रति आभार जताया ऐसे आयोजन के लिए. सत्ताधारी दल के मुख्य सचेतक राधाकृष्ण किशोर ने बताया की छात्रों की उत्सुकता विधायिका के प्रति होना अच्छा संकेत है.

पहली बार विधानसभा ने गैर विधायकों के लिए ऐसा प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जो कई मायनों में दिलचस्प रहा. नई पीढ़ी की विधायिका के प्रति रुझान राज्य के लिए अच्छा संकेत दे रहा है.