अलीमुद्दीन को इंसाफ: सभी 11 आरोपियों को मिली उम्रकैद की सजा

रामगढ़: रामगढ़ के चर्चित अलीमुद्दीन हत्याकांड में सभी 11 दोषियों को कोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई गई है. इस मामले में 16 मार्च को फैसला आया था. रामगढ़ थाना क्षेत्र के बाजारटांड के पास कथित गौरक्षों ने अलीमुद्दीन की पिटाई कर दी थी. जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गयी थी. आरोपियों में बीजेपी के रामगढ़ जिला प्रभारी नित्यानंद महतो और गौ रक्षा समिति के छोटू वर्मा भी शामिल हैं. अलीमुद्दीन की हत्या 29 जून 2017 को हुआ था.   देश भर में मॉब लिंचिंग ये पहला मामला है जिस पर कोर्ट ने सजा सुनाई है. 

दोषियों पर लगाया गया आर्थिक जुर्माना 
सभी 11 दोषियों को उम्रकैद के अलावा 7 हजार रुपये का आर्थिक जुर्माना भी लगाया गया है. इस फैसले के बाद अब जाकर अलीमुद्दीन के परिवार को न्याय मिल पाया है. बता दें कि इस मामले में बीजेपी नेता सहित गौरक्षा समिति के सदस्य भी आरोपी थे.



19 गवाहों में 4 मुकरे

फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में हुई गवाही में कुल 19 लोगों की गवाही करवाई गई, जिसमें 4 अपने बयान से मुकर गये. जबकि बाकी के 15 ने आरोपियों के खिलाफ बयान दर्ज करवाया. सजा पाने वालों में बीजेपी नेता नित्यानंद महतो के अलावा गौ रक्षा समिति के छोटू वर्मा, दीपक मिश्रा और संतोष सिंह को मुख्य आरोपी बनाया गया था. अब जाकर सभी आरोपी को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है.

 

क्या था मामला?

29 जून 2017 को अलीमुद्दीन को एक ओमनी वैन से 60 किलो प्रतिबंधित मांस के साथ पकड़ा गया था. इसके बाद गौरक्षकों ने अलीमुद्दीन को मारना शुरू किया और मांस सड़क पर फेंक वैन में आग लगा दी थी. पुलिस ने आने के बाद घायल अलीमुद्दीन को बचाया और डॉक्टर के पास ले गये, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.


ये भी पढ़ें... 

बोकारो में हॉरर किलिंग का मामला, छेका से पहले आंगन में मिली लाश

DPS के संचालक ने पहले बच्चे को जमकर पीटा, पत्नी ने रोका तो सिगरेट से दागे नाजुक अंग  

पटना में क्रिकेट अकादमी खोलेंगे धोनी, जानें कितनी होगी फीस?