Wednesday, Apr 14 2021 | Time 04:48 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
NEWS11 स्पेशल


बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य और सुरक्षित भविष्य को लेकर सरकार की पहल

बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य और सुरक्षित भविष्य को लेकर सरकार की पहल

रांचीः झारखंड के स्कूल जाने वाले किशोर-किशोरी अपने स्वास्थ्य और कल्याण का खुद ख्याल रखेंगे. शिक्षक सहायक बनेंगे. लगभग 12,000 स्कूलों के कुछ शिक्षकों और विद्यार्थियों को चयनित कर आरोग्य दूत के रूप में प्रशिक्षित किया गया है. ये मास्टर ट्रेनर बनकर लगातार दूसरे विद्यार्थियों को जागरूक कर रहे हैं. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग और स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग संयुक्त रूप से स्कूल स्वास्थ्य कार्यक्रम के जरिये इसकी जवाबदेही उठा रहा है. 


इससे किशोर-किशोरियों को अपने स्वास्थ्य के बारे में समय पर सही जानकारी प्राप्त हो सकेगी, साथ ही उनका मानसिक एवं शारीरिक विकास पूर्ण रूप से हो सकेगा. इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री ने 22 मार्च से 25 मार्च 2021 तक चले राज्यस्तरीय अपनी सुरक्षा अपने हाथ जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था. अभियान के तहत राज्य के 14,500 स्कूलों में अध्ययनरत बच्चों को साफ-सफाई, मध्याह्न भोजन तथा शौचालय प्रबंधन एवं स्वच्छता से संबंधित सभी पहलुओं पर व्यापक जानकारी दी गई तथा इन्हें जागरूक किया गया. 

 

स्वास्थ्य कार्यक्रम से जागरूकता का संचार 

झारखंड के बच्चे शारीरिक एवं मानसिक रूप से सुदृढ़ हो सके, इस निमित्त 3 दिसंबर 2020 से राज्य में आयुष्मान भारत अंतर्गत स्कूल स्वास्थ्य कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया है, जिसके तहत स्कूलों में बच्चों को मानसिक स्वास्थ्य, पारस्परिक संबंध, पोषण स्वास्थ्य और स्वच्छता,  हिंसा, इंटरनेट और सोशल मीडिया के सुरक्षित उपयोग को बढ़ावा देना जैसे विषय समाहित हैं. 

 

आकांक्षी जिलों के बच्चों पर विशेष ध्यान 

स्कूल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत झारखंड के 19 आकांक्षी जिलों बोकारो, चतरा, दुमका, पूर्वी सिंहभूम, गढ़वा, गिरिडीह, गोड्डा, गुमला, हजारीबाग, लातेहार, लोहरदगा, पाकुड़ पलामू, रांची, साहेबगंज, सिमडेगा, पश्चिमी सिंहभूम, खूंटी और रामगढ़ में कक्षा 6 से कक्षा 12 तक के विद्यालय जाने वाले किशोर- किशोरियों को स्वास्थ्य और कल्याण से संबंधित जानकारी के साथ मनोवैज्ञानिक सहायता भी प्रदान किया जा रहा है.

 

विशेषज्ञों द्वारा मिला प्रशिक्षण

कार्यक्रम के तहत राज्य के लगभग 12000 सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त एवं आवासीय विद्यालयों के उच्च प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक स्तर के विद्यार्थी लाभान्वित हो रहें हैं. कार्यक्रम के क्रियान्वयन हेतु इन सभी विद्यालयों से शिक्षकों और विद्यार्थियों को विद्यालय स्वास्थ्य एवं आरोग्य दूत के रूप में चयनित किया गया है. इन सभी दूतों को विशेषज्ञों के द्वारा प्रशिक्षित किया गया है, जिसके फलस्वरूप वे विद्यालयों के सभी छात्र-छात्राओं को बेहतर स्वास्थ्य एवं सुरक्षित भविष्य गढ़ने हेतु प्रेरित करेंगे और आवश्यक सहयोग प्रदान करेंगे.
अधिक खबरें
भोजपुरी स्टार निरहुआ समेत इतने मेंबर हुए कोरोना पॉजिटिव
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 4:45 AM

भोजपुरी फिल्मों के स्टार निरहुआ और उनके दो स्टाफ मेंबर्स कोविड पॉजिटिव पाए गए है. फिल्म के निर्देशक पदम सिंह ने इस खबर की पुष्ट की है. जानकारी के मुताबिक निरहुआ और उनकी टीम बांदा के एक ग्रामीण इलाके में नियमों को नजरअंदाज करते हुए शूटिंग कर रहे थे और ये शूटिंग बीते कई दिनों से चल रही थी.

पकड़ा गया कोरोना… वायरल हो रहा ये VIDEO
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 1:14 AM

एक बार फिर कोरोना ने लोगों की जिंदगी पर पूर्णविराम लगाने आ गया है. ऐसे में पढ़ाई लिखाई के साथ अर्थव्यवस्था भी ठप होते जा रही है. ऐसे में गढ़वा का एक वीडियो वायरल हो रहा जहां लोगों ने यह दावा किया है कि उन्होंने कोरोना का पकड़ लिया है.

यही वजह है कि मैं घर जा रहा हूं… दिल्ली-महाराष्ट्र में लॉकडाउन?
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 12:40 PM

दिल्ली और महाराष्ट्र में कोरोना का संक्रमण बहुत ही तेज गति से फैल रहा है. यहां से प्रतिदिन रिकॉर्ड केस सामने आ रहे हैं जिसने चिंता बढा दी है. यही वजह है कि अब यहां के लोगों के मन में एक ही सवाल उठ रहा है…क्या लॉकडाउन लगा दिया जाएगा ?

8 दिन बाद अस्पताल से घर लौटे अक्षय कुमार, ट्विंकल ने सोशल मीडिया पर जताई खुशी
अप्रैल 12, 2021 | 12 Apr 2021 | 5:02 PM

कोविड-19 से जंग जीतने के बाद बॉलीवुड के खिलाड़ी यानी अक्षय कुमार घर लौट आए हैं. इस बात की जानकारी उनकी पत्नी ट्विंकल खन्ना ने सोशल मीडिया पर की है.

झारखंड सरकार का बड़ा फैसला, निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए होंगे 50 फीसदी बेड
अप्रैल 12, 2021 | 12 Apr 2021 | 3:14 AM

झारखंड सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. प्राइवेट अस्पताल में 50 फीसदी बेड कोविड मरीजों के लिए होंगे. जो कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए राहत की खबर है.