Wednesday, Apr 14 2021 | Time 05:08 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
देश-विदेश


ट्रम्प पर फिर बरसे बाइडेन, बरसों से चली आ रही परंपरा तोड़ दी

कहा, ट्रम्प के साथ किसी भी तरह की खुफिया जानकारी साझा नहीं की जाएगी
ट्रम्प पर फिर बरसे बाइडेन, बरसों से चली आ रही परंपरा तोड़ दी

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक बार फिर पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ तीखा रुख अपनाया है. उन्होंने ट्रम्प से किसी भी तरह की खुफिया जानकारी साझा करने से इंकार किया है. राष्ट्रपति बाइडेन ने सख्त रवैया अपनाते हुए कहा कि ट्रम्प का बर्ताव परेशान करने वाला है, उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता. बाइडेन के इस बयान से हलचल मची हुई है. बता दें कि अमेरिका के परंपरा के अनुसार पूर्व राष्ट्रपति को उतनी ही खुफिया सूचनाएं यानी इंटेलिजेंस ब्रीफिंग दी जाती है, जितनी वर्तमान राष्ट्रपति को. ऐसे में बाइडेन का फैसला ट्रम्प की एक और फजीहत माना जा सकता है.


बाइडेन ने एक इंटरव्यू के दौरान ट्रम्प पर तल्ख टिप्पणियां कीं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यह सही है. हमारे यहां पूर्व राष्ट्रपति को खुफिया जानकारी देने की परंपरा है, लेकिन इस बार यह होने की संभावना नहीं है. अगर वे मांग भी करेंगे तो हम उन्हें ये सूचनाएं नहीं दे पाएंगे.


जुबान फिसलने का खतरा 


बाइडेन ने आगे कहा- मुझे नहीं लगता कि अब ट्रम्प को खुफिया सूचनाएं हासिल करने की कोई जरूरत भी है. इससे क्या फायदा होगा? वह क्या कर लेंगे ? उनकी जुबान फिसलने का खतरा तो हमेशा बना रहता है. अमेरिकी इतिहास में लंबे समय से यह परंपरा रही है कि पूर्व राष्ट्रपति के मांग करने पर उसे भी वही इंटेलिजेंस ब्रीफिंग मुहैया कराई जाती है, जो मौजूदा राष्ट्रपति को दी जाती है. वैसे, बाइडेन का यह बयान महज औपचारिकता है. इसकी वजह यह है कि ट्रम्प ने खुद अब तक किसी तरह की इंटेलिजेंस ब्रीफिंग के लिए निवेदन नहीं की है.


एक रिपोर्ट के अनुसार, जब ट्रम्प व्हाइट हाउस में थे, तब भी रोज इंटेलिजेंस ब्रीफिंग नहीं देखते थे. परंपरा के तौर पर उन्हें रोज ऐसा करना था, लेकिन वे हफ्ते में सिर्फ दो या तीन बार इन रिपोर्ट्स को देखते थे. 6 जनवरी को अमेरिकी संसद के बाहर और अंदर जो हिंसा हुई, उसके बाद से तो ट्रम्प खलनायक के तौर पर सामने आए हैं. इस हिंसा में एक महिला और एक पुलिस अफसर समेत पांच लोगों की मौत हो गई थी. ट्रम्प पर महाभियोग की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. 8 फरवरी के बाद उन्हें कभी भी बयान देने के लिए सीनेट बुलाया जा सकता है.


 

 

अधिक खबरें
4 अस्पताल संचालकों को DDC ने जारी किया नोटिस, अधिकारियों को दिए गए निर्देश
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 6:22 PM

रांची में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा जारी 50 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित करने के संदर्भ में अतिरिक्त बेड की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए जिला प्रशासन लगातार कवायद कर रहा है.

संकट में झारखंड! आज रात कई अस्पतलों में खत्म हो जाएगा ऑक्सीजन
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 8:18 PM

झारखंड की स्थिति दिन-पर-दिन और भयावह होते जा रही है. कोरोना के बढ़ते मामले लगातार खुद अपना रिकॉर्ड तोड़ रही है. ऐसे में जिला और अस्पताल प्रशासनों के सामने कड़ी चुनौती खड़ी हो गई है.

महाराष्ट्र में लग सकता है लॉकडाउन, शुरू हुईं पाबंदियों की तैयारियां
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 4:47 AM

महाराष्ट्र में कोरोना से हालात बद से बदतर स्थिति में पहुंच रहे हैं. ऊपर से बेड, ऑक्सिजन, दवाइयां और इंजेक्शन की किल्लत से मुंबई समेत कई शहर प्रभावित हो रहे हैं. सरकार ने पूरे लॉकडाउन के संकेत दे दिए हैं जिस पर आज शाम तक फैसला हो जाएगा.

भोजपुरी स्टार निरहुआ समेत इतने मेंबर हुए कोरोना पॉजिटिव
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 4:45 AM

भोजपुरी फिल्मों के स्टार निरहुआ और उनके दो स्टाफ मेंबर्स कोविड पॉजिटिव पाए गए है. फिल्म के निर्देशक पदम सिंह ने इस खबर की पुष्ट की है. जानकारी के मुताबिक निरहुआ और उनकी टीम बांदा के एक ग्रामीण इलाके में नियमों को नजरअंदाज करते हुए शूटिंग कर रहे थे और ये शूटिंग बीते कई दिनों से चल रही थी.

‘जो डर गया सो बच गया’, Immunity कमजोर करने वाली इन चीजों से रहें दूर, नहीं तो
अप्रैल 13, 2021 | 13 Apr 2021 | 4:07 PM

कोरोना से डर जाइए, तभी आप बच पाओगे. अब ऐसा मत सोचिए कि हम आपको कोरोना से ज्यादा डरा रहे हैं बल्कि आपको सुरक्षित रहने के लिए कोरोना से ‘डरना जरूरी है’. अब कोरोना के मामले फिर से तेजी से बढ़ने लगे हैं. लेकिन जितने भी कोरोना के केस समने आए हैं उनमें ज्यादातर वही लोग शामिल है ,जिनका इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर है.