Wednesday, Jul 15 2020 | Time 09:44 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • घर का नक्शा नहीं दिखाने पर दर्ज होगा केस, नगर निगम को मिले अपर बाज़ार के सभी भवनों के जांच के आदेश
  • अभी और भयावह होगा कोरोना, वैक्सीन और इम्युनिटी से भी निराशा - WHO
स्वास्थ्य


80 फीसदी कामकाजी लोग कार्यस्थल पर होते हैं बीमार

80 फीसदी कामकाजी लोग कार्यस्थल पर होते हैं बीमार
ऑस्ट्रेलिया में पांच में चार कामकाजी लोग असुरक्षित कामकाजी प्रथा के माहौल में हैं और वे इसके कारण घायल हो रहे हैं, बीमार हो रहे हैं या फिर काम पर दर्दनाक स्थितियों के कारण दोनों से पीडि़त हो जा रहे हैं। एक सर्वेक्षण से यह खुलासा हुआ है।

 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट में कहा गया कि ‘वर्क शुडन्ड हर्ट’ नाम के इस सर्वेक्षण को ऑस्ट्रेलियन काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (एसीटीयू) ने सोमवार को जारी किया, जिसमें 26,000 कामगारों का सर्वेक्षण किया गया।

 

इस सर्वेक्षण से खुलासा होता है कि करीब 80 फीसदी कामकाजी लोग अपने काम के कारण घायल, बीमार या दोनों हैं, जबकि 16 फीसदी किसी ऐसे आदमी को जानते थे, जिसकी काम के दौरान मौत हो गई, या फिर काम से जुड़ी बीमारियों के कारण मौत हो गई।

 

इसमें यह भी पाया गया कि 47 फीसदी प्रतिभागियों ने बताया कि पिछले 12 महीनों में उन्हें काम के दौरान संकटपूर्ण या दर्दनाक स्थितियों का सामना करना पड़ा और 31 फीसदी ने कहा कि उन्हें सहकर्मियों, क्लाइंट्स या ग्राहकों द्वारा गाली दी गई, धमकी दी गई या मारपीट की गई।

 

पांच में से तीन कामगारों ने कहा कि पिछले 12 महीनों से वे खराब मानसिक स्वास्थ्य का सामना कर रहे हैं, क्योंकि उनका नियोक्ता असुरक्षित कामकाजी स्थितियों को सुधारने में असफल है।

 

एसीटीयू के सहायक सचिव लियाम ओब्रायन ने फेयरफैक्स मीडिया को सोमवार को बताया कि चोट लगने या मानसिक स्वास्थ्य खराब होने की घटनाओं से ‘पूरी तरह से बचा जा सकता’ था।
अधिक खबरें
यूएस पॉलीक्लिनिक में मनाया गया वर्ल्ड हैंड हाइजीन डे, लोगों को किया गया जागरुक
मई 05, 2020 | 05 May 2020 | 8:12 PM

रांची : 5 मई को हर वर्ष वर्ल्ड हैंड हाइजीन डे पूरे विश्व में मनाया जाता है.

Corona Big Breaking : रांची के हिंदपीढ़ी से 3 और बेड़ो से 1 कोरोना +ve मरीज की पुष्टी, झारखंड में कुल संख्‍या हुई 53
अप्रैल 23, 2020 | 23 Apr 2020 | 5:36 PM

रांची : झारखंड में कोरोना का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है.