Sunday, Apr 5 2020 | Time 12:27 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • BIG BREAKING : बोकारो में मिला कोरोना का तीसरा पॉजिटिव मरीज
  • रिम्‍स में कोरोना संदिग्‍ध की मौत मामले में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री गंभीर, कहा- दोषियों पर होगी कार्रवाई
  • झामुमो नेता ने डॉक्‍टर के साथ की मारपीट, विरोध में धरना पर बैठे डॉक्‍टर और कर्मी
स्वास्थ्य


आंख में किसी भी तरह के संक्रमण के लिए 4 घरेलू उपचार

आंख में किसी भी तरह के संक्रमण के लिए 4 घरेलू उपचार

आंखों का इन्फेक्शन एक साधारण समस्या है जो किसी भी उम्र के लोगों में हो जाती है। माना जाता है कि यह इन्फेक्शन बैक्टीरिया, वायरस, एलर्जी या दूसरे माइक्रोबायोलॉजिकल के कारण हो सकता है। इन्फेक्शन कभी एक आंख या फिर दोनों आंखों में भी हो सकता है। कभी कभी आंखे लाल हो जाती है या आंखों के लाल होने पर जलन और खुजली आदि की समस्या हो जाती है। आंखों की इस समस्या को कंजेक्टिवाइटिक भी कहते है। ये एक छूत की बीमारी होती है जो छूने से एक-दूसरे तक पहुंच जाती है। आपको कुछ आसान उपाय बता रहे है जिससे इस समस्या का छुटकारा पाया जा सकता है।


 

कंजेक्टिवाइटिस होने पर अपनी आंखों को नमक के पानी से साफ करे। ऐसा करने से आंखों में जमी सारी गदंगी बाहर निकल जाती है, इसे इस्तेमाल करने के लिए 1 कप साफ पानी में 1 चम्मच नमक डालें और इस पानी को उबाल ले। जब ये पानी उबल जाये तो इसे ठंडा कर ले। अब इस पानी को आई ड्राप की तरह आंखों में डालें दिन में 4-5 बार इसके इस्तेमाल से इंफैक्शन ठीक हो जाएगी।

 

आंखों के इन्फेक्शन को दूर करने के लिए दूध को हल्का गर्म कर ले। अब इसमें थोड़ा शहद मिलाएं और ठंडा होने के लिए कुछ देर के लिए फ्रिज में रख दें, अब इस दूध को ड्रापर की मदद आंखों में डालें।
अधिक खबरें
बिना डॉक्टरी सलाह के एंटीबायोटिक खाने वाले हो जायें सावधान, खतरे में पड़ सकती है जान
फरवरी 08, 2020 | 08 Feb 2020 | 10:44 AM

रांची : बिना डॉक्टरी सलाह लिए एंटीबायोटिक खाने वाले लोग हो जाये सावधान.

ऑर्किड हॉस्पिटल ने रचा कीर्तिमान : झारखंड में पहली बार किडनियों की एंजियोप्लास्टी कर लगाया स्टेंट
जनवरी 10, 2020 | 10 Jan 2020 | 10:55 PM

रांची : राजधानी के ऑर्किड अस्पताल में संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया गया.

आंख में किसी भी तरह के संक्रमण के लिए 4 घरेलू उपचार
नवम्बर 03, 2019 | 03 Nov 2019 | 5:40 PM

आंखों का इन्फेक्शन एक साधारण समस्या है जो किसी भी उम्र के लोगों में हो जाती है। माना जाता है कि यह इन्फेक्शन बैक्टीरिया, वायरस, एलर्जी या दूसरे