Tuesday, Feb 25 2020 | Time 20:20 Hrs(IST)
 logo img
" "; ";
  • ढुल्लू महतो को कोर्ट से राहत नहीं, अग्रिम जमानत देने से कोर्ट ने किया इनकार
  • ढुल्लू महतो को कोर्ट से राहत नहीं, अग्रिम जमानत देने से कोर्ट ने किया इनकार
  • पथरा गई आंखें, सूख गए आंसू, नहीं आया सुरेन्द्र का शव
  • पथरा गई आंखें, सूख गए आंसू, नहीं आया सुरेन्द्र का शव
  • एनोस एक्का सहित सभी सात दोषियों की जब्त होगी संपत्ति, कोर्ट ने दिया आदेश
  • एनोस एक्का सहित सभी सात दोषियों की जब्त होगी संपत्ति, कोर्ट ने दिया आदेश
  • BREAKING : आय से अधिक मामले में एनोस एक्का को सात साल की सजा, 50 लाख जुर्माना
  • BREAKING : आय से अधिक मामले में एनोस एक्का को सात साल की सजा, 50 लाख जुर्माना
  • पाकुड़: रेलवे स्टेशन में यात्रियों को हो रही है परेशानी, आठ ट्रेन रहेंगी रदद्
  • ढुल्लू महतो की मुश्किलें बरकरार, नहीं मिली अग्रिम जमानत, कोर्ट ने मांगी केस डायरी
  • I A P के सदस्यों ने मंत्री बन्ना गुप्ता से की मुलाकात, राज्य में फिजियोथेरेपी परिषद विधेयक-2020 के गठन हेतु हुई बात
  • I A P के सदस्यों ने मंत्री बन्ना गुप्ता से की मुलाकात, राज्य में फिजियोथेरेपी परिषद विधेयक-2020 के गठन हेतु हुई बात
  • जूते पॉलिश करने से इंडियन आइडल जीतने तक का सफ़र
  • राज्यसभा की 55 सीटों पर 26 मार्च को चुनाव, फिलहाल बहुमत से दूर ही रहेगी भाजपा
  • बीजेपी विधायक दल के नेता चुने जाने के बाद विधानसभा सचिवलाय को भेजा गया पत्र, स्पीकर लेंगे निर्णय
झारखंड


एक गलत फैसला, डूब गए सरकार के 4 करोड़ रुपये

एक गलत फैसला, डूब गए सरकार के 4 करोड़ रुपये

रांची: एक गलत फैसला किस प्रकार सरकार को नुकसान पहुंचाता है, यह छठी जेपीएससी परीक्षा के हश्र को देखकर समझा जा सकता है. पहले प्रारंभिक परीक्षा में लगभग 6300 अभ्यर्थियों का परिणाम आया और फिर कैबिनेट के निर्णय पर इसे बढ़ाकर 34 हजार कर दिया गया. इस क्रम में अभ्यर्थियों की कॉपियों की जांच के लिए पूरे देश से विषय विशेषज्ञ प्रोफेसरों को बुलाया गया.


इनके आवागमन, रहने, खाने-पीने से लेकर कॉपियों की जांच तक में लगभग चार करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च हुआ. यह अभ्यर्थियों की राशि से हुआ या सरकार के खजाने से, इस पर विवाद हो सकता है लेकिन पैसे की बर्बादी से कोई इनकार नहीं कर सकता. दरअसल, छठी जेपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा में पहले 5 हजार छात्रों का परिणाम निकाला गया था. बाद में एक संकल्प पत्र के माध्यम से सफल छात्रों की संख्या बढ़ाकर 6300 कर दी गई. इसके बाद विभिन्न क्षेत्रों से रिपोर्ट आई कि ओबीसी कैटेगरी का कटऑफ माक्र्स जेनरल से अधिक हो गया है. इसका विरोध शुरू हुआ और विधायकों की बातों को ध्यान में रखते हुए कैबिनेट में एक निर्णय लिया गया कि सफल अभ्यर्थियों की संख्या बढ़ाई जाए ताकि सभी के साथ न्याय हो सके. इसके बाद प्रारंभिक परीक्षा में 34 हजार अभ्यर्थियों का रिजल्ट निकाला गया.

 

इस फैसले को अब हाई कोर्ट ने गलत ठहरा दिया है और पूरा परिणाम उन 6300 अभ्यर्थियों की परीक्षा पर ही निकालने को कहा गया है, जिनके परिणाम सरकार के संशोधन के तहत जारी किए गए थे. इससे पहले दूसरे संशोधन के आधार पर 34 हजार अभ्यर्थियों की मुख्य परीक्षा से लेकर कॉपियों की जांच तक का उपक्रम किया जा चुका था. हालांकि परीक्षा में 17 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए थे.  सूत्रों के अनुसार कुछ दिनों में परिणाम सभी के सामने होगा.

 
अधिक खबरें
खूंटी एनएच की चौड़ाई महज 7 मीटर, एक साल में हो चुकी है 100 से अधिक मौत
फरवरी 25, 2020 | 25 Feb 2020 | 4:03 PM

खूंटी : जिले में पिछले एक वर्ष में एक सौ से अधिक लोग सड़क दुर्घटना में मौत के शिकार हुए हैं.

एनोस एक्का सहित सभी सात दोषियों की जब्त होगी संपत्ति, कोर्ट ने दिया आदेश
फरवरी 25, 2020 | 25 Feb 2020 | 3:46 PM

रांची : आय से अधिक संपत्ति मामले में कोर्ट ने मंगलवार को अपना फैसला सुनाया.

पथरा गई आंखें, सूख गए आंसू, नहीं आया सुरेन्द्र का शव
फरवरी 25, 2020 | 25 Feb 2020 | 3:46 PM

बोकारो : जिले के चतरोचट्टी थाना क्षेत्र के बडकी सीधाबरा पंचायत निवासी सुरेन्द्र महतो कल्पतरू ट्रांसमिशन कंपनी में मरूतानियां गया था, लेकिन काम करने के दौरान पिछले 12 फरवरी डीजी जेनरेटर के करंट लगने से उसकी मौत हो गई.

BREAKING : आय से अधिक मामले में एनोस एक्का को सात साल की सजा, 50 लाख जुर्माना
फरवरी 25, 2020 | 25 Feb 2020 | 3:16 PM

रांची : आय से अधिक संपत्ति मामले में कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है.